जुकिनी के रामबाण फायदे,उपयोग और रेसिपी (zucchini in hindi)

Health Tips in Hindi - हेल्थ टिप्सजुकिनी के रामबाण फायदे,उपयोग और रेसिपी (zucchini in hindi)

जुकिनी (zucchini in hindi) : जुकिनी में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, कैल्शियम, आयरन, जिंक, पोटेशियम, विटामिन -सी इत्यादि पोषक तत्व के साथ साथ बहुत सारे औषधीय गुण भरपूर मात्रा में पाए जाते है| 

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सब्जियों की अहम भूमिका होती है। पोषण से भरपूर सब्जियां शारीरिक और मानसिक विकास में मदद करती हैं। इसी क्रम में हम एक खास प्रकार की सब्जी के बारे में बता रहे हैं, जिसका नाम है जुकिनी। जुकिनी एक ऐसी सब्जी है जो खाने में जितनी स्वादिष्ट है गुणों में भी उतनी ही पौष्टिक है। खासतौर से गर्मी के मौसम में आने वाली इस सब्जी को अपनी डेली डाइट का हिस्सा बनाना चाहिए। क्योंकि यह गर्मी के कारण होने वाले रोगों से तो हमें बचाती ही है साथ ही जवां बनाए रखने में भी मदद करती है।

इस सब्जी का सेवन करने से कई बीमारियों से बचाव किया जा सकता है। डाइट मंत्रा क्लीनिक की डायटीशियन कामिनी कुमारी का कहना है कि जुकिनी का वैज्ञानिक नाम क्यूकरबिटा पेपो (Cucurbita Pepo) है। इसे कई लोग कोर्ट गेट (Courgette) के नाम से भी जानते हैं। यह आपको सभी सीजन में आसानी से मिल जाएगा। पौष्टिकता से भरी इस सब्जी में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन के, पोटेशियम, फाइबर इत्यादि पोषक तत्व भरपूर रूप से मिल जाएंगे। आइए इस लेख के माध्यम से जानते हैं जुकिनी खाने के फायदे और नुकसान |

जुकिनी की सब्जी का सेवन अधिकतर लोगों ने किया होगा, लेकिन इसके फायदों के बारे में कम ही लोग जानते है, चलिए अब हम आपको जुकीनी के फायदों के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है-

जुकिनी के फायदे (benefits of zucchini in hindi)

1 इम्युनिटी को बढ़ाने में सहायक – किसी भी इंसान की अगर इम्युनिटी क्षमता कमजोर होती है तो उस इंसान को बीमारी जल्दी होने की सम्भावना होती है और अगर आपकी इम्युनिटी क्षमता मजबूत होती है तो आपके शरीर में रोग होने की सम्भावना काफी कम हो जाती है| जुकिनी में मौजूद पोषक तत्व शरीर की इम्युनिटी क्षमता को बढ़ाने में काफी सहायक होते है|

2उच्च रक्तचाप को कम करने में सहायक – जुकिनी में मौजूद पोटैशियम और अन्य पोषक तत्व उच्च रक्तचाप की परेशानी को कम करने में सहायक साबित होते है| उच्च रक्तचाप को अगर नियंत्रित ना किया जाए तो इंसान को कई सारी गंभीर परेशानियो का सामना करना पड़ सकता है| अगर आप भी उच्च रक्तचाप की परेशानी से ग्रसित है तो नियमित रूप से जुकिनी का सेवन करने से आपको राहत मिल सकती है|

3 – पाचन को बढ़ाने में सहायक – जुकिनी में मौजूद फाइबर और अन्य पोषक तत्व पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में काफी सहायक होते है| अगर आप भी पाचन सम्बंधित परेशानी का सामना कर रहे है तो जुकीनी आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकती है|

4 कोलेस्ट्रॉल को कम करने में फायदेमंद – किसी भी इंसान के शरीर में अगर कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है तो ह्रदय से सम्बंधित परेशानी होने की सम्भावना काफी बढ़ जाती है| जुकिनी में मौजूद फाइबर और अन्य तत्व शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को संतुलित करने में काफी मददगार साबित होते है| इसीलिए अगर आप भी कोलेस्ट्रॉल को संतुलित रखना चाहते है जुकिनी को अपने आहार में शामिल कर लीजिए|

5हड्डियों को मजबूत करती है – जुकिनी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स, मैग्नीशियम और विटामिन-के जैसी खूबियां। मैग्नीशियम और विटामिन-के हमारी हड्डियों को मजबूत बनाए रखने के लिए जरूरी होते हैं। इसके अलावा मैग्नीशियम और एंटीऑक्सीडेंट हमारी मांसपेशियों को कमजोर होने से रोकते हैं।

6कैंसर के इलाज में सहायक- जुकीनी के सेवन से कैंसर जैसी घातक बीमारी से बच सकते हैं। इसमें ल्यूटिन नामक पोषक तत्व पाया जाता है जो हमारे शरीर में एक एंटीऑक्सीडेंट की तरह कार्य करता है। ये हमारे शरीर में फ्री रेडिकल्स को बेअसर करके कैंसर की कोशिकाओं को विकसित होने से रोकता है। यह महिलाओं में स्तन कैंसर को रोकने के लिए ज्यादा प्रभावशाली माना जाता है। इसके अलावा नियमित रूप से जुकीनी का सेवन करने से पेट के कैंसर से भी बचा जा सकता है|

7-आंखों को रखे स्वस्थ- बढ़ती उम्र के साथ-साथ आंखों की रोशनी भी कमजोर होने लगती है। ऐसे में जुकिनी का सेवन करना आपके लिए फायदेमंद हो सकती है। दरअसल, जुकिनी में ल्यूटिन और जेक्सैथीन भरपूर रूप से होता है। ये एक ऐसे तत्व हैं, जो आंखों की रोशनी को बढ़ाती है। साथ ही यह बढ़ती उम्र में होने वाली आंखों की समस्याओं को भी कम करने में आपकी मदद कर सकती है। जुकिनी में ल्यूटिन और जेक्सैथीन समृद्ध रूप से होता है। ऐसे में आंखों की रोशनी को सही रखने के लिए जुकिनी का सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

8-पेट की परेशानी करे दूर – जुकिनी के सेवन से पेट की परेशानी दूर की जा सकती है। दरअसल, फाइबरयुक्त आहार पेट के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। जुकीनी में फाइबर भरपूर रूप से होता है, जो आपके शरीर के आंत को सुरक्षित रखता है। पाचन को दुरुस्त करने में यह आपकी मदद करता है।

9-अस्थमा में सहायक – जुकीनी के नियमित इस्तेमाल से अस्थमा जैसी बीमारियों के लक्षणों को कम किया जा सकता है। इसमें विटामिन C भरपूर रूप से जाता है जो एक शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट होता है इसके अलावा इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी मौजूद होते हैं जिनके सकारात्मक प्रभाव से अस्थमा की बीमारी से राहत मिलती है।

10-गाउट की समस्या के लिए – गाउट एक तरह का गठिया है। यह तब होता है, जब रक्त में यूरिक एसिड बनने लगता है, जिससे जोड़ों में सूजन और दर्द होता है। इस परेशानी में जुकिनी का एंटी-इंफ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक यानी दर्दनिवारक प्रभाव लाभदायक साबित हो सकता है। सीधे तौर पर यह गाउट के लिए कितने प्रभावकारी हैं, इस विषय पर शोध की कमी है। हां, कुछ रिसर्च में कहा गया है कि जुकिनी को गाउट के मरीज की डाइट में शामिल किया जा सकता है।

जुकिनी का उपयोग और रेसिपी

  • सलाद का इस्तेमाल लगभग सभी लोग करते है, इसलिए आप जुकिनी का उपयोग वेजिटेबल सलाद में भी कर सकते है|
  • जुकिनी का सबसे ज्यादा इस्तेमाल सब्जी के रूप में किया जाता है| जुकिनी की सब्जी का सेवन आप सुबह, दोपहर और रात में भी कर सकते है|

हम आशा करते है की sehatdoctor के द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और जिस भी परेशानी के नुस्खे आपने पढ़ें है उस परेशानी में भी आपको आराम प्राप्त हुआ होगा| किसी भी अन्य बीमारी या परेशानी के लिए हेल्थ टिप्स इन हिंदी (health tips in hindi) और घरेलु नुस्खे इन हिंदी (gharelu nuskhe in hindi) जरूर पढ़ें और लाभ प्राप्त करें| आपका अनुभव कैसा रहा इसकी जानकारी कमेंट करके जरूर बताए |

Recent Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recent Articles