गर्मियों के दौरान फुंसी से कैसे बचें

Beauty Tips - ब्यूटी टिप्स गर्मियों के दौरान फुंसी से कैसे बचें

गर्मी शुरू होते ही बहुत सारी परेशानियाँ शुरू होने की सम्भावना प्रबल हो जाती है,जैसे एलर्जी, फोड़े , फुंसी, पिंपल्स इत्यादि | वैसे तो पिंपल्स कभी भी हो सकते है लेकिन गर्मी में ये ज्यादा परेशान करते है| गर्मी में पिंपल्स होने के बहुत सारे कारण होते है| आमतौर पर पिंपल्स की समस्या 18 से 40 वर्ष तक की महिला और पुरुष को ज्यादा होती है| पिंपल्स हार्मोन्स के बदलाव के कारण भी होते है, चलिए आज हम आपको गर्मी में पिंपल की समस्या से कैसे बचे इसके बारे में बताते है –

1 – गर्मियों में सूरज बहुत जल्दी उग जाता है और देर में ढलता है, जिस कारण से धूप ज्यादा देर तक रहती है, इसी कारण से इंसान गर्मी में धूप के संपर्क में ज्यादा रहता है| जिस वजह से पिंपल्स होने की सम्भावना बड़ जाती है| इसीलिए जितना हो सके धूप से बचने की कोशिश करे|

2 – पानी खूब पिए – अक्सर देखा जाता है की इंसान को गर्मी में काफी मात्रा में पानी पीना चाहिए लेकिन वो उतना नहीं पीता है, जिसकी वजह से उसके पेट में गर्मी होने लगती है, जिसकी वजह से भी पिंपल्स होने लगते है, इसीलिए अधिक से अधिक मात्रा में पानी पिए और पिंपल की परेशानी से बचे |

3 – चेहरे को दिन में कम से कम 4 से 5 बार ठन्डे पानी से जरूर धोए| ऐसा करने से भी आप गर्मी में पिंपल्स की परेशानी से निजात पा सकते है|

4 – बहुत सारी महिलाये गर्मियों में अत्यधिक मेकअप करके पार्टी और घर से बाहर निकलती है, जिसकी वजह से उनके चेहरे पर पिंपल होने के सम्भावना ज्यादा रहती है| गर्मी में हमेशा कॉस्मेटिक चीजों का परहेज करना चाहिए अगर आवशयकता हो तो बहुत हल्का मेकअप और अच्छी कंपनी के प्रोडक्ट का ही इस्तेमाल करना चाहिए|

5 – गर्मी में हर एक इंसान खाने पीने में लापरवाही या सही खाना नहीं खा पाता है, गर्मी में तरल पदार्थो जैसे जूस, निम्बू पानी, छाछ इत्यादि का इस्तेमाल अधिक से अधिक करना चाहिए| ऐसा करने से भी आप गर्मी में पिंपल्स से अपने आप को बचा सकते है|

6 – पिंपल्स पसीने की वजह से भी हो सकते है,इसीलिए जब भी आप गर्मी में बाहर जाते है या बाहर से घर आते है तो कोशिश करे की पसीना आपके शरीर पर ना रहे, साफ़ कपडे और रुमाल से पोंछ ले |

7 – गर्मी में त्वचा तैलीय रहती है और बहुत सारे लोग गर्मी में खूब जंक फ़ूड और तला भुना भोजन खाते है| जिससे उनके शरीर में पी एच स्तर बड़ जाता है, इसलिए गर्मी में ऐसे खादय पदार्थो से बचना चाहिए, ऐसा करने से भी आप पिंपल्स से बच सकते है|

8 – गर्मी में हमे जितना हो सके एलोपेथिक दवाई लेने से बचना चाहिए| दवाई से पेट में गर्मी भी हो सकती है, और कोई सी भी दवा का साइड इफ़ेक्ट भी हो सकता है| अगर आवशयकता हो तो बिना किसी डॉक्टर की सलाह के दवाई ना ले| ऐसा करने से आप गर्मी में होने वाले पिंपल्स से अपने आप को बचा सकते है|

Recent Articles

कैसे दृष्टिवैषम्य होने से रोका जा सकता है

दृष्टिवैषम्य को हम एस्टिग्मेटिज़्म के नाम से भी जानते है, दृष्टिवैषम्य की परेशानी आम है, लेकिन अगर आप लापरवाही करते है तो कई बार...

दृष्टिवैषम्य का निदान कैसे करें

दृष्टिवैषम्य की परेशानी का निवारण उसकी जाँच के बाद ही अच्छी तरह से हो सकता है, इसके लिए जब आप नेत्र चिकित्सक के पास...

दृष्टिवैषम्य के लिए उपचार क्या है

आँखों की जाँच करने के बाद ही पता चलता है की बीमारी कितनी गंभीर है। नेत्र चिकित्सक बीमारी की गंभीरता को देखते हुए आपकी...

दृष्टिवैषम्य के साथ जुड़े जोखिम और जटिलताएं क्या हैं

आँखे बहुत नाजुक होने के साथ साथ हम सभी के लिए महत्वपूर्ण होती है, दृष्टिवैषम्य आँखों में होने वाली एक आम परेशानी है। अगर...

दृष्टिवैषम्य के कारण क्या हैं

दृष्टिवैषम्य की परेशानी बच्चो में ज्यादा पाई जाती है, कई बार अनुवांशिकता की वजह से भी आँखों में दृष्टिवैषम्य की परेशानी हो सकती है।...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × 3 =