दिमाग तेज करने और याददाश्त बढ़ाने के 7 उपाय और आयुर्वेदिक दवा

Home Remedies - घरेलू नुस्खे दिमाग तेज करने और याददाश्त बढ़ाने के 7 उपाय और आयुर्वेदिक दवा

दिमाग़ तेज़ करने के उपाय: आज के दौर में हमारा रहन सहन और खान पान के साथ साथ हमारी विचारधारा भी बदलती जा रही है। एक कक्षा में एक ही टीचर सब बच्चों को पढ़ाता है फिर भी उनमें से कुछ ही बच्चे आक्टिव और शार्प होते है जो उम्मीद से बेहतर परिणाम लाते है। इसी तरह ऑफिस में सभी कर्मचारियों को काम करने का माहौल एक जैसा ही मिलता है फिर भी उनमें से कुछ ही कर्मचारी ऐसे होते है जो बहुत अच्छा परफोर्म करते है। अब सोचने की बात ये है की जब सब कुछ एक जैसा मिलता है तो कोई और आप से अच्छा परिणाम कैसे लाता है। दोस्तों फरक माहौल का नहीं फरक है  काम के प्रति आप के नजरिये का, आप की याददाश्त का, सोच का और दिमाग़ पर आपके कंट्रोल का।

जो लोग उम्मीद से बेहतर रिज़ल्ट लाते है उनका नज़रिया दूसरों से अलग होता है, याददाश्त कमजोर नहीं होती और दिमाग़ तेज होता है। जिसमें ये सभी गुण होते है उसका आत्मविश्वास भी अधिक होता है और वो मुश्किल कामों को भी बड़ी आसानी से कर लेता है। इस लेख में आज हम याददाश्त बढ़ाने और दिमाग़ तेज़ करने के घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक दवा जानेंगे, ayurvedic home remedies tips to increase memory power in hindi.

दिमाग़ तेज़ करने के उपाय, याददाश्त बढ़ाने के टिप्स इन हिंदी

 

दिमाग़ तेज़ करने के उपाय : याददाश्त बढ़ाने के आयुर्वेदिक नुस्खे

 

बहुत से लोग दिमाग की शक्ति बढ़ाने के लिए मेडिसिन और मल्टीविटामिन खाते है पर कुछ घरेलू उपायों के प्रयोग से हम अपना और छोटे बच्चों का mind sharp और active बना सकते है और ये उपाय करने से मानसिक तनाव भी कम होता है।

1. दिमाग़ तेज करने में ब्राहमी एक उत्तम आयुर्वेदिक औषधी है। इसके सेवन से याददाश्त तेज होती है। 1/2 चम्मच ब्राहमी ले और 1 चम्मच हल्के गरम पानी में मिलाकर लेने से दिमाग़ की क्षमता बढ़ती है। छोटे बच्चों का दिमाग़ तेज करने के लिए ब्राहमी का प्रयोग एक अच्छा उपाय है।

2. हल्दी पाउडर का इस्तेमाल हर घर में होता ही है, हल्दी में कुरकुमीन रसायन होता है जो कैंसर जेसी बीमारी के उपचार में तो असरदार है ही और साथ में दिमाग को भी एक्टिव और स्वस्थ रखता है। हल्दी का सेवन दिमाग़ की मरी हुई और इनएक्टिव कोशिकाओं को एक्टिव करने में मददगार है।

3. नींद ना आना, डिप्रेशन, गुस्सा आना जैसी समस्याओं के इलाज मरीन केसर का प्रयोग करना उत्तम है। इन सबसे दिमाग़ कमजोर होता है और जब ये सब परेशानियां दूर होंगी तब माइंड भी शांत होता है और स्मरण शक्ति बढ़ती है।

4. Memory power बढ़ाने के लिए शंखपुष्पी भी एक अच्छी औषधी है। रोजाना ½ चम्मच शंख पुष्पी 1 कप गुनगुने पानी में मिलाकर सेवन करने से दिमाग़ में ब्लड का सर्कुलेशन अच्छा रहता है और ब्रेन की पॉवर बढ़ती है।

5. दालचीनी हमारे घर की रसोई में इस्तेमाल होने वाला एक मसाला है पर साथ में ये एक अच्छी आयुर्वेदिक दवा भी है। रात को सोने से पहले दालचीनी पाउडर 1 चुटकी ले और शहद में मिलाकर ले। इस नुस्खे से दिमाग़ तेज़ होता है और मानसिक तनाव भी कम होता है।

6. जटामांसी एक आयुर्वेद मेडिसिन है जिसमें कई प्रकार के औषधीय गुण होते है और अनेक रोगों के इलाज में इस्तेमाल होती है। दिमाग़ की कार्य क्षमता को बढ़ाने और तेज दिमाग़ के लिए ये रामबाण इलाज है। एक कप हलके गरम दूध में एक चम्मच जटामांसी मिलाकर पिए। दिन में दो बार इस नुस्खे को करने से दिमाग़ तेज़ होता है और memory boost होती है।

7. तुलसी में एंटीबायोटिक और एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते है जिससे दिमाग़ और दिल में खून का प्रवाह बेहतर होता है।

 

इस लेख में बताई गई हुई होम रेमेडीस तो हमारे घर की रसोई में होती है, और बाकी आप को पंसारी की दुकान या baba ramdev पतंजलि स्टोर से मिल सकती है।

 

छोटे बच्चों की याददाश्त बढ़ाने के तरीके

  • छोटे बच्चों के दिमाग़ का विकास में माता पिता का अहम् योगदान होता है क्यूकी घर ही बच्चों का पहला स्कूल होता है इसलिए बच्चों के साथ अधिक समय बिताये।
  • बाज़ार में आजकल ऐसे बहुत से खिलोने मिलते है जिनके साथ खेलने पर brain active होता है। बच्चों को उन की उम्र के हिसाब से कुछ ऐसी माइंड गेम्स खेलने को दे और उनके साथ भी खेले।
  • दूध में शहद मिलाकर पीने से स्मरण शक्ति तेज होती  है। बच्चों का माइंड एक्टिव और शार्प करने के लिए रोजाना दूध ज़रूर पिलाए।
  • बच्चों को किसी भी तरह के तनाव से दूर रखने के लिए भोजन में दही शामिल करे।

हम सभी यही प्रयास करते है की हमारे बच्चे स्पोर्ट्स, पढ़ाई और दूसरी एक्टिविटी में अच्छा परफॉर्म करे और अगर आप स्कूल या कॉलेज में स्टडी करते है या फिर नौकरी के लिए इम्तेहान की त्यारी कर रहे है और किसी भी चीज को याद करने में परेशानी होती है तो ऊपर बताए हुए घरेलु टिप्स आपको सब याद रखने में सहायक हो सकते है।

 

इन टिप्स के साथ साथ एक्सरसाइज, योगा और हेल्थी फुड भी आप को एक्टिव रहने में मदद करते है। मेडिटेशन और प्राणायाम करने से माइंड पर कंट्रोल बढ़ता है और माइंड शांत भी रहता है।

 

दोस्तों दिमाग़ तेज़ करने के उपाय, memory power increase tips in hindi का ये लेख कैसा लगा हमें कमेंट करके बताये और अगर आप के पास याददाश्त बढ़ाने के आयुर्वेदिक नुस्खे और दवा के टिप्स है तो हमारे साथ भी शेयर करे।

हम आशा करते है की sehatdoctor के द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और जिस भी परेशानी के नुस्खे आपने पढ़ें है उस परेशानी में भी आपको आराम प्राप्त हुआ होगा| किसी भी अन्य बीमारी या परेशानी के लिए हेल्थ टिप्स इन हिंदी (health tips in hindi) और घरेलु नुस्खे इन हिंदी (gharelu nuskhe in hindi) जरूर पढ़ें और लाभ प्राप्त करें| आपका अनुभव कैसा रहा इसकी जानकारी कमेंट करके जरूर बताए |

Recent Articles

51 टिप्पणी

    • पढ़ाई करने के तरीके में कुछ बदलाव कर के देखे, आप पढ़ने के लिए कुछ ऐसा माहौल बनाये जिसमें बच्चे को पढ़ना रोचक लगे और जब वो कुछ भी याद करके सुनाये तो उसे शाबाशी दे और कभी कभी कुछ उपहार भी दे। अगर आप को लगता है की बच्चे की याददाश्त कमजोर है तो ऊपर लिखे हुए घरेलू उपाय पढ़े।

    • याददाश्त कैसे बढ़ाये आप ऊपर पढ़े और पेट साफ़ करने के उपाय, शरीर में एनर्जी और स्टैमिना बढ़ाने के घरेलू तरीके से सम्बंधित जानकारी आप को हमारी वेबसाइट पर मिल जाएगी आप उन्हें पढ़े.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 + fifteen =

Recent Articles