प्रेगनेंसी के इलावा पीरियड देरी से आने के 10 कारण और उपाय

Periods - पीरियड्स प्रेगनेंसी के इलावा पीरियड देरी से आने के 10 कारण और उपाय

प्रेगनेंसी के इलावा पीरियड देरी से आने के कारण: हम पीरियड्स को माहवारी, mc और मासिक धर्म के नाम से जानते है। आज के दौर में ज्यादातर महिलाओं में पीरियड अनियमित होना एक सामान्य समस्या बन गई है। पीरियड्स मिस होना, जल्दी आना, लेट होना, बंद हो जाना या फिर पीरियड्स खुल कर ना आने के कई कारण होते है। पीरियड्स मिस हो जाने या नहीं आने पर मन में सबसे पहला ख्याल प्रेगनेंसी का ही आता है पर प्रेगनेंसी के इलावा भी पीरियड्स लेट होने के कई कारण हो सकते है। आज हम इस लेख में पीरियड्स में देरी के कारण जानेंगे और आठ ही ये भी पढ़ेंगे शादी के बाद पीरियड सम्बंधित समस्याओं की वजह और उपाय क्या है, reasons for late periods problem in hindi.

पीरियड्स समय पर ना आये तो महिलाओं में टेंशन बढ़ने लगती है और ऐसे में कुछ महिलाएं पीरियड्स की मेडिसिन का सहारा लेती है तो कुछ पीरियड्स सही करने के लिए घरेलू उपाय अपनाती है। पीरियड्स लेट होने पर घबराना नहीं चाहिए क्योंकि प्रेगनेंसी के अतिरिक्त पीरियड लेट होने के कुछ अन्य कारण भी हो सकते है।

पीरियड देरी से आने के कारण, Reasons for late periods problem in hindi

 

पीरियड देरी से आने के कारण और उपाय

Reasons for late periods problem in hindi

एक महिला का मासिक चक्र 28 दिन का होता है पर ये सबके लिए एक समान हो ऐसा जरुरी नहीं। कुछ girls और women का मासिक चक्र 18-35 दिन का भी होता है। पीरियड्स मिस होने के कुछ सामान्य कारण आपको यहां बता रहे है।

1. अगर किसी लड़की के पीरियड अभी हाल ही में आने शुरू हुए है तो उसे पीरियड लेट होने की स्थिति में घबराना नहीं चाहिए। शुरू में कुछ लड़कियों को अनियमित माहवारी की समस्या होती है जो बाद में ठीक हो जाती है।

2. वजन ज्यादा होने की वजह से भी periods delay हो जाते है। वजन बढ़ने की वजह से बॉडी हार्मोन्स सही से काम नहीं करते जिस कारण पीरियड नहीं आना या देरी से आने लगते है। इस समस्या से बचना है तो एक स्वस्थ जीवनशेली अपनाये और अपने वजन को कंट्रोल में रखे।

3. अक्सर कुछ महिलाएं अपना मोटापा जल्दी घटाने के लिए डाइटिंग करने लगती है और खाना पीना तक छोड़ देती है।  इससे शरीर को जरुरी पोषक तत्व नहीं मिलते जिसका सीधा असर हार्मोन्स पर पड़ता है और पीरियड लेट होने जैसी समस्या आने लगती है।

4. वजन कम होना भी अनियमित मासिक धर्म का एक कारण है। कुछ लड़कियां दुबली पतली होती है जिस कारण उनकी बॉडी में एस्ट्रोजन हार्मोन पर्याप्त मात्रा में नहीं बन पाता और पीरियड्स से जुडी परेशानियां दिखने लगते है। वजन को बढ़ा कर इस समस्या को दूर कर सकते है।

5. कुछ लड़कियां अक्सर फिट रहने के लिए जरुरत से अधिक एक्सरसाइज करने लगती है। जिस कारण पीरियड मिस होने की दिक्कत ज्यादा होती है। बहुत सी लड़कियों के मासिक धर्म लम्बे समय तक बंद रहते है जो ज्यादा एक्सरसाइज करने के कारण होता है।

6. पीरियड्स से जुडी समस्याओं का एक कारण पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम भी है। इससे अधिक वजन वाली महिलाएं ज्यादा प्रभावित होती है।

7. थायराइड भी पीरियड्स को प्रभावित करते है जिस कारण पीरियड से जुडी समस्या होने लगती है। आपको अगर थायराइड है तो इसकी जाँच समय समय पर करवाए और इसके लिए इलाज भी ले।

8. कुछ महिला खिलाडी अक्सर अपना स्टैमिना बढ़ाने के लिए बहुत ज्यादा प्रैक्टिस करती है जिसका प्रभाव एस्ट्रोजन हार्मोन्स पर होता है जिस कारण पीरियड्स की समस्या आने लगती है। ऐसे में अच्छा आहार ले कर और जरुरी आराम करके पीरियड्स फिर से नार्मल कर सकते है।

9. कुछ रोग ऐसे होते है जिनका ट्रीटमेंट ज्यादा समय तक चलता है और ऐसे में उन्हें कई तरह की दवाएं खानी पड़ती है जिस कारण पीरियड्स लेट होने की समस्या होना आम है। इलाज होने के बाद पीरियड फिर से सामान्य होने लगते है।

10. दिनचर्या में अचानक से बदलाव की वजह से भी पीरियड प्रभावित होते है। कुछ महिलाएं को रात में ड्यूटी जाती है जिस वजह से उनके जागने, सोने और अन्य काम करने का समय और तरीका बदल जाता है जिसका सीधा असर मासिक चक्र पर पड़ता है।

 

पीरियड्स लेट होने के अन्य कारण

  • ज्यादा तनाव लेने का बुरा प्रभाव शरीर में हार्मोन्स के विकास पर होता है जिस कारण हार्मोन का संतुलन बिगड़ जाता है और पीरियड देरी से आने की समस्या आने लगती है। इससे बचने के लिए जितना हो सके खुद को तनाव से दूर रखे।
  • यात्रा करने का प्रभाव हमारी नींद, खान पान और दैनिक कार्य पर पड़ता है जिस वजह से पीरियड लेट हो जाते है। अच्छा आहार और अच्छी नींद ले कर इसे फिर से सामान्य कर सकते है।
  • शराब और धूम्रपान के सेवन से भी पीरियड्स अनियमित हो जाते है इसलिए किसी भी तरह के नशे के उपयोग से दूर रहे।
  • पीरियड्स लेट होने का कारण पता लगने पर उसका इलाज घरेलू उपाय से कर सकते है और इलाज होने के बाद भी अगर पीरियड्स नहीं आये तो तुरंत डॉक्टर से मिल कर बात करे।

 

पीरियड देरी से आने के कारण और उपाय, reasons for late periods problem in hindi का ये लेख कैसा लगा हमे बताये और अगर आपके पास पीरियड्स लेट होने के कारण और अनियमित माहवारी के उपाय है तो हमारे साथ साँझा करे।

Recent Articles

शतावरी के फायदे,उपयोग और रेसिपी (asparagus in hindi)

शतावरी  (asparagus in Hindi) प्राचीन समय से शतावरी का इस्तेमाल औषधि के रूप में होता हुआ आया है| शतावरी को अंग्रेजी में एस्पेरेगस के नाम...

मेथी के अचूक फायदे,उपयोग और रेसिपी (fenugreek in hindi)

मेथी (fenugreek in hindi) मेथी का नाम लगभग सभी ने सुना ही होगा, मेथी का इस्तेमाल सब्जी के साथ साथ परांठे बनाने में भी इस्तेमाल...

ऐश गॉर्ड के फायदे,उपयोग और रेसिपी (ash gourd in hindi)

पेठा या ऐश गॉर्ड (ash gourd in hindi) शायद ही कोई इंसान हो जिसने पेठे का नाम ना सुना हो, हम सभी पेठे को मिठाई...

पालक के अचूक फायदे,उपयोग और रेसिपी (spinach in hindi)

पालक (spinach in hindi) शायद ही कोई इंसान हो जिसने पालक का नाम सुना ना हो| पालक का अंग्रेजी में स्पिनच कहते है| पालक में...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × 1 =