पीलिया का इलाज के 10 आसान घरेलू उपाय दवा और देसी नुस्खे

Home Remedies - घरेलू नुस्खे पीलिया का इलाज के 10 आसान घरेलू उपाय दवा और देसी नुस्खे

पीलिया का इलाज इन हिंदी: पाचन तंत्र कमजोर होना पीलिया का प्रमुख कारण है। पीलिया के रोग का प्रभाव शरीर में खून बनने पर पड़ता है जिससे शरीर में ब्लड की कमी होने लगती है। इस रोग में अगर लापरवाही की जाये तो ये काला पीलिया बन जाता है जो जानलेवा रोग हो सकता है। पीलिया पुराना हो या नया घरेलू देसी नुस्खे और आयुर्वेदिक दवा से आप इसका उपचार कर सकते है। इस बीमारी से छुटकारा पाने में इलाज के साथ परहेज करना भी जरुरी है और जैसे ही पीलिये के लक्षण आपको दिखने लगे इसका उपचार शुरू करे। पीलिया तीन तरह का होता है, हेपेटाइटिस सी (काला पीलिया), हेपेटाइटिस बी और हेपेटाइटिस ए। इस लेख में हम जानेंगे home remedies for jaundice treatment in hindi.

पीलिया का इलाज के घरेलू उपाय और देसी नुस्खे

 

पीलिया के लक्षण

इसके लक्षण शुरुआत में दिखाई नहीं देते पर ये रोग जब बढ़ जाता है तब मरीज की आँखे और नाख़ून पीले पड़ जाते है, इसके इलावा पेशाब पीले रंग का आने लगता है और खाना ठीक से नहीं पचता। इसके इलावा कुछ और लक्षण भी है जिनसे पीलिया की पहचान कर सकते है।

  • बुखार आना
  • सिर दर्द होना
  • आँखे दर्द होना
  • भूख कम लगना
  • उल्टी आना और जी मचलना
  • कमज़ोरी आना और जल्दी थकान आना

 

पीलिया के कारण

  • इंफेक्शन होने से
  • लिवर कमज़ोर होने से
  • शरीर में ब्लड की कमी होने से
  • सड़क किनारे कटी, खुली और दूषित चीज़े खाने से

 

पीलिया का इलाज के घरेलू उपाय और नुस्खे

Jaundice Treatment Tips in Hindi

 

घर में प्रयोग होने वाली कुछ चीज़ो को इस्तेमाल कर के पीलिया का घरेलू इलाज कर सकते है। आज इस लेख में कुछ देसी नुस्खे जानेंगे जिनके निरंतर प्रयोग से पीलिया से जल्दी राहत मिलेगी।

1. प्याज का प्रयोग पीलिया के उपचार में बेहद उपयोगी है। प्याज छील कर इसे बारीक़ काटे फिर पीसी हुई काली मिर्च, थोड़ा काला नमक और नींबू का रस इसमें मिलाकर हर रोज दिन में सुबह शाम सेवन करे।

2. ताजा मुल्ली के हरे पत्ते पीस कर रस निकाले और इसे छान कर पिए। इस उपाय से मरीज के जिगर की कमजोरी दूर होती है, पेट की आंते साफ़ होती है और भूख लगने लगती है।

3. जॉन्डिस के मरीज को प्रतिदिन ताज़ा गन्ने का जूस पीना चाहिए इससे पीलिया से जल्दी राहत मिलती है।

4. लहसुन की तीन से चार कलियाँ पीस कर इसे दूध के साथ ले, इससे पीलिया का जड़ से इलाज होता है और लिवर को ताकत मिलती है।

5. चने की दाल रात को पानी में भिगो कर रखे। सुबह इसमें से पानी निकाल ले और गुड़ मिलाकर खाए। लगातार कुछ दिन इस नुस्खे को करने पर जॉन्डिस में राहत मिलती है।

6. पीलिया के मरीज को गाजर और गोभी का रस बराबर बराबर मिलाकर एक गिलास पिए।  इस जूस को कुछ दिन लगातार पीने पर पीलिया से जल्दी आराम मिलता है।

7. निम्बू का रस पीलिया में काफी फायदेमंद है। पीलिये से ग्रस्त मरीज को प्रतिदिन नींबू का रस पंद्रह से बीस एम एल दो से तीन बार पीना चाहिए। नींबू की शिकंजी बना कर पीना भी अच्छा है।

8. जॉन्डिस ठीक करने में टमाटर का प्रयोग भी अच्छा उपाय है। एक गिलास टमाटर जूस में नमक और थोड़ी सी काली मिर्च मिलाकर सुबह खाली पेट पीने से चमत्कारी तरीके से फायदा मिलता है।

9. गुड़ और पीसी हुई सौंठ मिला ले और ठंडे पानी के साथ लेने से इस रोग में आराम मिलता है।

10. ताजे आँवले का रस दस ग्राम एक चम्मच शहद में  मिला कर हर रोज पिए इससे दो से तीन हफ्ते में पीलिया ठीक हो जायेगा।

 

काला पीलिया का देसी इलाज

1. दो छुहारे, बादाम की 10 गिरी और छोटी इलायची के कुछ दाने ले और रात को इन सबको मिलाकर मिट्टी के किसी बर्तन में भिगो कर रख दे और सुबह पानी में से इस मिश्रण को निकाल कर मिश्री और थोड़ा ताजा मक्खन मिलाकर एक मिश्रण तैयार कर ले। कुछ दिन लगातार इस मिश्रण का सेवन करने पर पीलिया ठीक होने लगता है और इस उपाय से पेट की गर्मी का इलाज भी होता है। इस देशी नुस्खे को करते वक़्त कोई गरम चीज़ खाने से बचे।

2. थोड़ी कच्ची ईमली रात को पानी में रखे और सुबह भीगी हुई ईमली को उसी पानी में पीस ले और पानी छान ले। इस पानी में काला नमक और थोड़ी काली मिर्च मिला कर पिए। इस उपाय से एक से दो हफ्ते में पीलिया ठीक होने लगेगा।

3. नीम के पत्तों का एक चम्मच रस दिन में दो बार मरीज को पिलाने से लिवर की कमजोरी खत्म होती है। इस देशी नुस्खे से काले पीलिया में भी सुधार आता है।

4. फूली हुई फिटकरी 10 ग्राम और दही 250 ग्राम मिलाकर प्रतिदिन दो बार खाए। छाछ और दही का सेवन अधिक करे।

 

पीलिया की आयुर्वेदिक दवा और उपचार

पंसारी से पीपल की जड़ मिल जाएगी। इस जड़ के तीन नग पूरे दिन के लिए पानी में भीगने के लिए रखे और जब ये फूल जाए तब पानी से इसे निकाल कर इसमें पीसी हुई काली मिर्च, काला नमक सुर नींबू का रस मिलाकर हर रोज सेवन करे। इस जड़ का एक नग हर रोज बढ़ाये और दस होने पर इसे बंद कर दे।  इस उपाय को निरंतर करने पर एक हफ्ते में ही ही पीलिया से आपको राहत मिलने लगेगी। पीलिया का उपचार करने के साथ साथ इस आयुर्वेदिक नुस्खे से पुराना बुखार और पुरानी क़ब्ज़ से भी छुटकारा मिलता है।

 

पीलिया में क्या खाएं और क्या नहीं खाना चाहिए

  • ताजे फलों का जूस पिए।
  • गरम चीजों के सेवन से परहेज करे।
  • जादा घूमना फिरना ना करे और आराम करे।
  • इस रोग में मिर्च मसालेदार, मेदा, मिठाइयां, उड़द की दाल और तले हुए खाने से पीलिया में परहेज करना चाहिए।
  • भोजन ऐसा खाये जो आसानी से पचे और लिवर को भी ताक़त मिले, जैसे उबले हुए आलू, दलिया, ग्लूकोस, खिचड़ी, पपीता, गुड, चिकू, लस्सी और मूली।

 

पीलिये के लक्षण दिखाई देते है मरीज को डॉक्टर या आयुर्वेदिक चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए। किसी भी रोग के ट्रीटमेंट से बेहतर है उससे बचने के उपाय करे। इसलिए एक हेल्थी जीवनशैली अपनाये और रोगों से दूर रहे।

 

दोस्तों पीलिया का इलाज के घरेलू उपाय, Home Remedies for Jaundice Treatment in Hindi का ये लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट करके बताये और अगर आपके पास काला पीलिया के देसी नुस्खे आयुर्वेदिक दवा है तो हमारे साथ शेयर करे।

हम आशा करते है की sehatdoctor के द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और जिस भी परेशानी के नुस्खे आपने पढ़ें है उस परेशानी में भी आपको आराम प्राप्त हुआ होगा| किसी भी अन्य बीमारी या परेशानी के लिए हेल्थ टिप्स इन हिंदी (health tips in hindi) और घरेलु नुस्खे इन हिंदी (gharelu nuskhe in hindi) जरूर पढ़ें और लाभ प्राप्त करें| आपका अनुभव कैसा रहा इसकी जानकारी कमेंट करके जरूर बताए |

Recent Articles

22 टिप्पणी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

8 − 8 =

Recent Articles