पीलिया के इलाज में क्या खाएं और क्या नहीं खाना चाहिए

Home Remedies - घरेलू नुस्खे पीलिया के इलाज में क्या खाएं और क्या नहीं खाना चाहिए

पीलिया में क्या खाएं क्या नहीं खाएं: पीलिया जिसे अंग्रेजी में jaundice कहते है, ये लिवर से संबंधित रोग है जो देखने पर एक साधारण सी बीमारी ही लगती है पर अगर सही समय पर इसका उपचार ना किया जाये तो ये गंभीर रूप ले सकता है। कुछ लोग जल्दी पीलिया ठीक करने के लिए मेडिसिन लेते है तो कुछ लोग घरेलू उपाय, देसी नुस्खे व आयुर्वेदिक दवा का सहारा लेते है। इलाज का तरीका कोई भी हो इस बात का ध्यान रखना भी जरुरी है की पीलिया में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए। आइये जाने पीलिया का रामबाण इलाज कैसे करे, piliya me kya khaye aur kya nhi khana chahiye in hindi.

मुख़्यतौर पर पीलिया 3 तरह के वायरस की वजह से होता है – ‎Hepatitis A, ‎Hepatitis B और ‎Hepatitis C. जिस जगह साफ़ सफाई का ध्यान नहीं रखा जाता और जहां गंदगी अधिक होती है ऐसी जगह जॉन्डिस होने का खतरा ज्यादा होता है।

पीलिया में क्या खाएं और क्या ना खाएं, piliya me kya khaye aur kya nhi

 

पीलिया होने का कारण – Causes of Jaundice

पीलिया कैसे होता है अगर इस बात की जानकारी हो तो इससे बचने के उपाय किये जा सकते है। जॉन्डिस का रोग एक सूक्ष्म वायरस से होता है जिसमें खून में बिलीरुबिन (Bilirubin) की मात्रा बढ़ने लगती है। इसके इलावा कुछ ऐसे कारण भी है जो पीलिया का कारण बनते है।

  • गंदा पानी प्रयोग करना
  • शरीर में खून की कमी होना
  • शराब का अधिक सेवन करना
  • ज्यादा मिर्च मसालेदार आहार लेना
  • बाजार से फ़ास्ट फ़ूड अधिक खाना
  • सड़क किनारे ठेले से खुली और कटी हुई चीजें खाना

 

पीलिया के लक्षण – Jaundice Symptoms

  • बुखार रहना
  • आँखों में पीलापन आना
  • नाख़ून और त्वचा पर हल्का पीला रंग दिखना
  • जी मचलना व उल्टी आना
  • मल का रंग सफ़ेद या हल्का फीका होना
  • लगातार वजन में कमी आना
  • भूख ना लगना, पेट में दर्द होना
  • शरीर में कमजोरी आना और जल्दी थक जाना
  • सर भारी रहना व आँखों में हल्का pain महसूस करना

 

पीलिया में क्या खाएं क्या ना खाएं

Piliya me Kya Khaye aur Kya Nhi in Hindi

1. पीलिया के इलाज में मूली के पत्तों का रस काफी उपयोगी है। इसमें इतनी ताकत होती है की लिवर और खून में बढ़े हुए बिलीरुबिन को निकाल सके। 50 ग्राम मूली के रस में 10 ग्राम मिश्री मिलाये और प्रतिदिन सुबह पिए, इससे लिया ठीक करने में लाभ मिलता है। इस घरेलू नुस्खे को हर रोज करने पर 7 दिनों में हो पीलिया दूर हो जाता है।

2. लीवर को स्वस्थ रखने में टमाटर रस काफी फायदेमंद है। टमाटर के 1 गिलास रस में थोड़ी से काली मिर्च व 1 चुटकी नमक मिला कर  सुबह खाली पेट पिने से जल्दी आराम मिलता है।

3. पीलिया में क्या खाएं, दही के सेवन से पेट में अच्छे बैक्टीरिया आते है जो पीलिया के रोग से लड़ने में मदद करते है।

4. गन्ने का रस पीलिये में जरूर पीना चाहिए। पीलिया तुरंत ठीक करने में गन्ने के रस को पिने से काफी मदद मिलती है। पाचन क्रिया दरुस्त करने व लिवर को सही तरीके से कार्य करने में ये gharelu upay बेहद असरदार है।

5. निम्बू लिवर को नुकसान होने से बचाता है। जॉन्डिस से प्रभावित रोगी को प्रतिदिन 15 से 20 ml निम्बू का रस 2 से 3 बार पीना चाहिए।

6. गाजर का रस पिने से भी पीलिया में आराम मिलता है।

7. पीलिया में फिटकरी देसी दवा की तरह है, अच्छी किस्म की फूली हुई सफ़ेद अथवा गुलाबी फिटकरी 2 से 4 रत्ती की मात्रा में दही या छाछ के साथ दिन 3 बार रोगी को पिलाने से कुछ ही दिनों में पीलिया ठीक हो जाता है।

8. तुलसी के पत्ते भी इस रोग के उपचार में उपयोगी है। पीलिया ठीक करने के लिए तुलसी के 4 से 5 पत्ते सुबह सुबह खाली पेट खाएं।

9. थोड़ी हल्दी 1 गिलास गुनगुने पानी में मिला कर दिन में 2 से 3 बार पिए। इस रोग में ये उपाय रामबाण का काम करता है।

10. पीलिया होने पर छाछ के सेवन से भी फायदा मिलता है। छाछ में थोड़ी काली मिर्च व भुना हुआ जीरा मिला कर पिए। आप दही से भी छाछ बना कर पी सकते है।

 

पीलिया का रामबाण इलाज – Piliya ka ramban ilaj in hindi

  • नारियल पानी पीलिया के उपचार में बेहद असरदार है। इस रोग से प्रभावित व्यक्ति महिला और बच्चे को हरे नारियल का पानी दिन में कम से कम 2 बार जरूर पिलाये।
  • नारियल को खोल कर जादा देर रखना नहीं है, इसे खोलने के तुरंत बाद पानी पिए।
  • इस उपाय को करने के 1 से 2 दिन के अंदर ही पेशाब का रंग बदलने लगेगा और 4 से 5 दिन इसे पीने से कैसा भी पीलिया हो आप स्वस्थ महसूस करने लगेंगे।
  • लीवर के किसी भी रोग में आप ये उपाय अपना सकते है।

 

पीलिया में क्या नहीं खाना चाहिए

परहेज करना ही पीलिया के ट्रीटमेंट और इस रोग से बचने का सबसे अच्छा तरीका है। अब तक हम ने जाना पीलिया में क्या खाना चाहिए, अब हम जानेंगे क्या नहीं खाएं और ऐसे क्या उपाय करे जिनसे ये रोग तुरंत ठीक हो जाये,  foods to eat and avoid in diet in jaundice treatment in hindi.

  • पीने के लिए साफ़ व स्वच्छ पानी ही प्रयोग करे।
  • पीलिया होने पर जादा गरम चीज खाने और पिने से परहेज करना चाहिए।
  • आहार ऐसा ले जो जल्दी पच जाये व लिवर को ताकत मिले, जैसे की दलिया, खिचड़ी, उबले हुए आलू, पपीता, चीकू, गुड़, ग्लूकोस, व लस्सी।
  • इस रोग में शरीर में कमजोरी आ जाती है और वजन कम होने लगता है, इसलिए शारीरिक मेहनत ना करते हुए आराम करना चाहिए।
  • पीलिया में परहेज, ज्यादा मिर्च मसालेदार, तले हुए खाने, मैदा और उड़द की दाल ना खाएं।
  • पानी और दूध को हमेशा उबाल कर ही पिए, इससे उनमें मौजूद अशुद्धियां ख़तम हो जाती है।
  • छोटे बच्चे को पीलिया हुआ हो तो उसके ठीक होने तक उसे स्कूल ना जाने दे।

 

दोस्तों पीलिया में क्या खाएं क्या ना खाएं, Piliya me kya khaye aur kya nhi in hindi का ये लेख आपको कैसा लगा हमें बताये और अगर आपके पास पीलिया का इलाज में क्या खाना चाहिए क्या परहेज करना चाहिए के उपाय व घरेलू नुस्खे है तो हमारे साथ साँझा करे।

Recent Articles

सौंफ के फायदे,उपयोग और रेसिपी (Fennel seeds in hindi)

सौंफ (Fennel seeds in hindi) शायद ही कोई इंसान हो जिसने सौंफ का इस्तेमाल ना किया हो| सौंफ में सोडियम, डाइटरी फाइबर, प्रोटीन, विटामिन-ए, विटामिन-सी,...

बाजरे के रामबाण फायदे,उपयोग और रेसिपी (millet in hindi)

बाजरा (millet in hindi ) बाजरे में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, डाइटरी फाइबर, फास्फोरस, मैग्नीशियम, फोलेट, आयरन इत्यादि पोषक तत्व और विटामिन्स प्रचुर मात्रा में पाए जाते...

ओरेगेनो के अचूक फायदे,उपयोग और रेसिपी (Oregano in Hindi)

ओरेगेनो (Oregano in Hindi) ओरेगेनो का उपयोग हम व्यंजनों के साथ साथ घरेलू उपायों में भी करते है| ओरेगेनो को हम हिंदी में आजवाइन की...

तिल के अचूक फायदे,उपयोग और रेसिपी (sesame seeds in hindi)

तिल (sesame seeds in hindi) भारत वर्ष में तिल का बहुत अधिक महत्व होते है, कुछ प्रमुख त्योहारो पर तिल से बानी सामग्री का पूजन...

5 COMMENTS

  1. Mere husband ke sharir me garmi bahut hai vo pasina pasina ho jate hai 1 minute bhi unko garmi sahan nahi hoti kuch upay bataye gharelu.

  2. Kya bacho ke jaundice hone par 5,10 minute me dard hota rahta hai ya nahi, agar hota hai to dard ka dawa kitne kitne der me khana chahiye.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one + fifteen =