ड्राई आई सिंड्रोम के दौरान क्या घरेलू उपचार लागू करें

Eye Health - आँखों की सेहत Dry Eye Syndrome - आंखों में सूखापन ड्राई आई सिंड्रोम के दौरान क्या घरेलू उपचार लागू करें

ड्राई आई सिंड्रोम या शुष्क आँखों की परेशानी किसी भी मौसम में हो सकती है, इसीलिए अगर आपको अपनी आँखों में थोड़ी सी भी परेशानी या ड्राई आई सिंड्रोम के शुरूआती लक्षण दिखाई दे तो तुरंत किसी आँखों के अच्छे डॉक्टर से मिले और जाँच कराए| कुछ लोग घरेलु उपचार से भी सही हो जाते है, लेकिन अगर परेशानी लम्बे समय तक दूर न हो रही हो तो घरेलु उपचार के भरोसे ना बैठे, तुरंत डॉक्टर से इलाज कराए| चलिए आज हम आपको कुछ घरेलु उपचार बताते है, जिनकी मदद से आप ड्राई आई सिंड्रोम या शुष्क आँखों की परेशानी से मुक्ति पा सकते है –

1 – सबसे पहले आपको थोड़ी सी हरी चाय की पत्तियाँ लेनी है, उन पत्तियों को पानी में उबाल ले, जब तक पानी उबल कर आधा ना रह जाए| पानी जब ठंडा हो जाए तब थोड़ी सी रुई लेकर उसे पानी में भिगो कर अपनी आँख के ऊपर रखे, रुई को अपनी आँख पर 15 से 20 मिनट तक रखे फिर हटा दे| ऐसा करने से आपको काफी आराम मिलेगा |

2 – एक कच्चा आलू लेकर छील ले, छिलने के बाद अच्छी तरह से धो ले| अच्छी तरह से धोने के बाद आलू को महीन पीस ले, पीसने के बाद आलू के गुद्दे को अच्छी तरह से निचोड़ ले| गुद्दे को अपनी आँखों की पलकों पर लगाए और 10 से 15 मिनट के लिए लेट जाए, रोजाना ऐसा करने से आपको जल्द ही ड्राई आई सिंड्रोम की परेशानी से मुक्ति मिल जाएगी|

3 – ड्राई आई सिंड्रोम की परेशानी से छुटकारा पाने के लिए कैमोमाइल फूल, आईब्राइट डंठल और एलथिया की जड़ लेकर सूखा ले और बारीक पीस ले, फिर आधे गिलास पानी में एक चम्मच मिश्रण को डाल कर अच्छी तरह से उबाल ले और ठंडा होने दे| एक कपास पेड लेकर उसे उस पानी में भिगोए और अपनी आँखों पर रखे कुछ देर बाद हटाए और भिगो कर फिर लगाए| ऐसा करने से आपको जल्द आराम मिलेगा|

4 – अक्सर देखा जाता है बहुत से लोग पानी काफी कम पीते है, जिसकी वजह से परेशानी हो सकती है, इसीलिए दिन में कम से कम 8 से 10 गिलास पानी जरूर पिए|

5 – टीवी, मोबाइल और कंप्यूटर पर कभी भी लगातार काम ना करे, बहुत अधिक जरुरत हो तो हमेशा थोड़े थोड़े समय बाद 10 से 15 मिनट का ब्रेक जरूर ले | ऐसा करने से आप ड्राई आई सिंड्रोम की परेशानी से निजात पा सकते है|

6 – अपने खाने को विटामिन से भरपूर रखे और संतुलित भोजन करे|

Recent Articles

शतावरी के फायदे,उपयोग और रेसिपी (asparagus in hindi)

शतावरी  (asparagus in Hindi) प्राचीन समय से शतावरी का इस्तेमाल औषधि के रूप में होता हुआ आया है| शतावरी को अंग्रेजी में एस्पेरेगस के नाम...

मेथी के अचूक फायदे,उपयोग और रेसिपी (fenugreek in hindi)

मेथी (fenugreek in hindi) मेथी का नाम लगभग सभी ने सुना ही होगा, मेथी का इस्तेमाल सब्जी के साथ साथ परांठे बनाने में भी इस्तेमाल...

ऐश गॉर्ड के फायदे,उपयोग और रेसिपी (ash gourd in hindi)

पेठा या ऐश गॉर्ड (ash gourd in hindi) शायद ही कोई इंसान हो जिसने पेठे का नाम ना सुना हो, हम सभी पेठे को मिठाई...

पालक के अचूक फायदे,उपयोग और रेसिपी (spinach in hindi)

पालक (spinach in hindi) शायद ही कोई इंसान हो जिसने पालक का नाम सुना ना हो| पालक का अंग्रेजी में स्पिनच कहते है| पालक में...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × two =