ऐश गॉर्ड के फायदे,उपयोग और रेसिपी (ash gourd in hindi)

Health Tips in Hindi - हेल्थ टिप्सऐश गॉर्ड के फायदे,उपयोग और रेसिपी (ash gourd in hindi)

पेठा या ऐश गॉर्ड (ash gourd in hindi)

  • शायद ही कोई इंसान हो जिसने पेठे का नाम ना सुना हो, हम सभी पेठे को मिठाई के रूप में जानते ही है, कुछ लोग इसकी सब्जी भी बनाते है| पेठे को सफेद कद्दू, शीतकालीन तरबूज, वैक्स गार्ड और ऐश गार्ड के नाम से भी जाना जाता है। पेठा बेल पर उगता है, यह बाहर की तरफ से हरा और अंदर से सफेद रंग का होता है। प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, कैल्शियम, आयरन, फोलेट, थायमिन, पोटेशियम, विटामिन सी इत्यादि गुण प्रचुर मात्रा में पाए जाते है| 
  • पेठा या ऐश गॉर्ड के फायदे,ऐश गॉर्ड में 96% पानी होता है और यह कैलोरी, वसा, प्रोटीन और कार्ब्स में बहुत कम है। फिर भी, यह फाइबर में समृद्ध है और विभिन्न पोषक तत्वों की छोटी मात्रा प्रदान करता है।यह हरी सब्जी प्राचीन काल से अपने महत्वपूर्ण औषधीय मूल्यों के लिए अच्छी तरह से जानी जाती है और व्यापक रूप से आयुर्वेदिक ग्रंथों में प्रलेखित है। आज, यह अपने अपार स्वास्थ्य लाभों के लिए जारी है और व्यापक रूप से शामिल है|   
  • ऐश गॉर्ड में लौह, मैग्नीशियम, फास्फोरस, तांबा और मैंगनीज के साथ-साथ विभिन्न अन्य बी विटामिन भी कम मात्रा में होते हैं।विटामिन सी के अलावा, ऐश लौकी फ्लेवोनोइड और कैरोटीन का एक अच्छा स्रोत है, दो एंटीऑक्सीडेंट आपके शरीर को कोशिका क्षति और टाइप 2 मधुमेह और हृदय रोग जैसी कुछ स्थितियों से बचने में मदद करते हैं।यह आमतौर पर विभिन्न बीमारियों को रोकने का इलाज करने के लिए पारंपरिक चिकित्सा में उपयोग किया जाता है और कई व्यंजनों के लिए एक बहुमुखी अतिरिक्त बनाता है।
  • आमतौर पर ऐश गॉर्ड को एक सब्जी माना जाता है, जिसका इस्तेमाल कई प्रकार के मुख्य भारतीय व्यंजन जैसे कूटू, कढ़ी, सब्जी और दाल के अलावा मिठाई और कैंडी के अलावा पेठा बनाने में किया जाता है। सब्जी द्वारा प्रस्तुत चिकित्सा और उपचारात्मक लक्षण, साथ ही साथ लौकी के बीज और पत्ते व्यापक हैं। इसके अलावा, ऐश लौकी की जड़ों और रस में त्वचा और बालों की देखभाल के अनुप्रयोग भी हैं|
  • बेहतर स्वास्थ्य के लिए संतुलित और अच्छा खानपान जरूरी है। कई आहार ऐसे होते है, जो स्वाद में लजीज होने के साथ ही कई लाभ पहुंचाने का काम कर सकते हैं। इन खाद्य पदार्थ की सूची में वाइट पंपकिन यानी सफेद पेठा का नाम भी शामिल है। अगर आपको यह पता नहीं है कि सफेद पेठा क्या होता है, तो हमारा यह लेख खास आपके लिए ही है। पेठे के उपयोग से कई शारीरिक और मानसिक समस्या दूर रह सकती हैं। साथ ही यह कई बीमारियों के इलाज में भी सहायक हो सकता है

चलिए अब हम आपको पेठा या ऐश गॉर्ड के फायदे, के बारे में अहम् जानकारी बताने जा रहे है

पेठा या ऐश गॉर्ड के फायदे (benefits of ash gourd in hindi)

ऐश गॉर्ड के सेवन करने से आपको काफी सारे फायदे होते है,चलिए अब हम आपको पेट के फायदों के बारे में बताने जा रहे है –

1 – कब्ज में फायदेमंद – ऐश गॉर्ड में मौजूद गैस्ट्रोप्रोटेक्टिव और एंटीऑक्सीडेंट गुण पेट से सम्बंधित परेशानियो से छुटकारा दिलाने में सहायक होते है| कब्ज और गैस जैसी परेशानियो से निजात पाने के लिए आपको ऐश गॉर्ड अर्थात पेठा का सेवन करना चाहिए, नियमित रूप से ऐश गॉर्ड का सेवन करने से आपका पेट और हाजमा दुरस्त रहने की सम्भावना काफी बढ़ जाती है|

2 – किडनी को स्वस्थ रखने में मददगार – किडनी को स्वस्थ रखने के लिए ऐश गॉर्ड अर्थात पेठा आपके लिए एक बेहतर विकल्प हो सकता हैं। पेठे में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण किडनी को स्वस्थ रखने में काफी मददगार होते है, नियमित रूप से सेवन करने से आपकी किडनी को मजबूती मिलती है|

3 – यूरिन इन्फेक्शन में मददगार – आज के समय में यूरिन इन्फेक्शन की परेशानी काफी देखने को मिलती है| पहले के ज़माने में ऐश गॉर्ड को को यूरिन इन्फेक्शन की औषधि के रूप में जाना जाता था, अगर आपको पेशाब में जलन की परेशानी का सामना करना पढ़ रहा है तो ऐश गॉर्ड आपकी इस परेशानी से छुटकारा दिलाने में सहायक हो सकता है|

4 – अल्सर में राहत – ऐश गॉर्ड(पेठा) में मौजूद एंटी-अल्सर गुण अल्सर की परेशानी से छुटकारा दिलाने में सहायक हो सकते हैं। अगर आप भी अल्सर की समस्या का सामना कर रहे है तो ऐश गॉर्ड के सेवन से आप अपनी इस परेशानी से राहत प्राप्त कर सकते है|

ऐश गॉर्ड का उपयोग और रेसिपी

1 – पेठे का उपयोग अधिकतर लोग मिठाई के रूप में करते है, पेठा आपको बाजार में लगभग सभी मिठाई वालो की दुकान से आसानी से प्राप्त हो जाता है|

2 – बहुत से लोग पेठे का जूस भी पीना पसंद करते है, ऐश गॉर्ड या पेठे का जूस भी फायदेमंद काफी होता है| पेठे का जूस बनाने के लिए आपको सबसे पहले ऐश गॉर्ड को अच्छी तरह से धो लें फिर उसे छील कर छोटे छोटे टुकड़ो में काट लें| काटने के बाद टुकड़ो और थोड़ा सा पानी डालकर जूस में अच्छी तरह पीस लें फिर मिश्रण को छान लें| पेठे का जूस तैयार है आप चाहे तो स्वादनुसार चीनी भी मिला कर सेवन कर सकते है|

हम आशा करते है की sehatdoctor के द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और जिस भी परेशानी के नुस्खे आपने पढ़ें है उस परेशानी में भी आपको आराम प्राप्त हुआ होगा| किसी भी अन्य बीमारी या परेशानी के लिए हेल्थ टिप्स इन हिंदी (health tips in hindi) और घरेलु नुस्खे इन हिंदी (gharelu nuskhe in hindi) जरूर पढ़ें और लाभ प्राप्त करें| आपका अनुभव कैसा रहा इसकी जानकारी कमेंट करके जरूर बताए |

Recent Articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recent Articles