आई फ्लू का उपचार क्या है

Eye Health - आँखों की सेहत Eye Flu - आई फ्लू आई फ्लू का उपचार क्या है

आँखों में होने वाली बीमारियों में से आई फ्लू भी एक है, लेकिन आई फ्लू इतनी गंभीर परेशानी नहीं है| आमतौर पर आई फ्लू 3 से 4 दिन में अपने आप खत्म हो जाती है, आई फ्लू की बीमारी किसी भी उम्र में और किसी को भी हो सकती है, लेकिन ये परेशानी ज्यादातर बच्चो में ज्यादा पाई जाती है| आँखों में संक्रमण और इन्फेक्शन की वजह से आई फ्लू की परेशानी हो जाती है, जिसकी वजह से आँखों में सूजन, लाली, दर्द इत्यादि परेशानी का सामना करना पढ़ सकता है| अक्सर बहुत से लोग आँखों में कुछ भी परेशानी होने पर अपनी या किसी दुकानवाले की मर्जी से कोई आई ड्राप या मरहम ले लेते है और अपनी आँखों में डाल लेते है, जिसकी वजह से बीमारी दूर होने की बजाय बहुत अधिक बढ़ जाती है| चलिए आज हम आपको कुछ ऐसे उपचार कराते है, जिनकी मदद से आई फ्लू की परेशानी से राहत मिल जाएगी –

1 – आई फ्लू की परेशानी होने पर डॉक्टर आँखों की जाँच करने के बाद आपको मरहम या आई ड्राप दे देते है, जिससे जल्द ही आपको राहत मिल जाती है|

2 – 2 चम्मच हल्दी पाउडर लेकर उसे 2 से 3 मिनट तक तवे पर भून लें, फिर उसे एक ग्लास गर्म पानी में मिला दे। अच्छी तरह से मिलाने के बाद थोड़ी सी रुई लेकर उसमे भिगो कर निचोड़ लें, फिर उस रुई से आँखों को पोछ लें, ऐसा करने से आपको जल्द ही आराम मिलेगा|

3 – पालक के 5 या 6 पत्ते और 2 गाजर लेकर उन्हें अच्छी तरह से धो लें, फिर दोनों चीजों को अच्छी तरह से पीस लें और रस निकाल लें|आधा गिलास पानी और आधा गिलास पालक,गाजर का जूस लेकर दोनों को मिला लें, फिर उसे पी लें| रोजाना इस जूस को पीने से आपकी आंख का संक्रमण कम होने लगता है और आपको आई फ्लू की परेशानी से राहत मिल जाती है|

4 – बहुत सारे ऐसे लोग होते है, जो पानी बहुत कम मात्रा में पीते है जिसकी वजह से उनके शरीर और आँखों में परेशानी हो जाती है| आँखों में होने वाली परेशानी से मुक्ति पाने के लिए रोजाना कम से कम 8 से 10 गिलास पानी जरूर पिए|

5 – गुलाबजल का इस्तेमाल भी आई फ्लू की परेशानी से बहुत जल्द निजात दिला देती है| रोजाना दिन में 2 से 3 बार अपनी आँखों में गुलाबजल की 2 बूँद डालनी चाहिए, ऐसा करने से आँखों में ठंडक और संक्रमण को खत्म करने में मदद मिलती है|

Recent Articles

सौंफ के फायदे,उपयोग और रेसिपी (Fennel seeds in hindi)

सौंफ (Fennel seeds in hindi) शायद ही कोई इंसान हो जिसने सौंफ का इस्तेमाल ना किया हो| सौंफ में सोडियम, डाइटरी फाइबर, प्रोटीन, विटामिन-ए, विटामिन-सी,...

बाजरे के रामबाण फायदे,उपयोग और रेसिपी (millet in hindi)

बाजरा (millet in hindi ) बाजरे में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, डाइटरी फाइबर, फास्फोरस, मैग्नीशियम, फोलेट, आयरन इत्यादि पोषक तत्व और विटामिन्स प्रचुर मात्रा में पाए जाते...

ओरेगेनो के अचूक फायदे,उपयोग और रेसिपी (Oregano in Hindi)

ओरेगेनो (Oregano in Hindi) ओरेगेनो का उपयोग हम व्यंजनों के साथ साथ घरेलू उपायों में भी करते है| ओरेगेनो को हम हिंदी में आजवाइन की...

तिल के अचूक फायदे,उपयोग और रेसिपी (sesame seeds in hindi)

तिल (sesame seeds in hindi) भारत वर्ष में तिल का बहुत अधिक महत्व होते है, कुछ प्रमुख त्योहारो पर तिल से बानी सामग्री का पूजन...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × four =