आई फ्लू को कैसे रोका जा सकता है

Eye Health - आँखों की सेहत Eye Flu - आई फ्लू आई फ्लू को कैसे रोका जा सकता है

आँखों में संक्रमण हो जाने पर सावधानी बरतने की बहुत आवशयकता होती है| आई फ्लू एक ऐसा संक्रमण जिसका वायरस और इन्फेक्शन हवा में नहीं घुल सकता है लेकिन छूने से फ़ैल जाता है, इसलिए जिस इंसान को आई फ्लू की परेशानी हो उसे अपना खासतौर पर ध्यान रखना चाहिए वरना उसकी वजह से उसके परिवार वालो को आई फ्लू की समस्या का सामना करना पढ़ सकता है| आई फ्लू से पीड़ित इंसान की तौलिया, रुमाल इत्यादि चीजों को अलग और साफ़ रखना चाहिए, अगर कोई और उन चीजों का इस्तेमाल करता है तो उसकी आँख में भी आई फ्लू होने की सम्भावना बढ़ जाती है| आमतौर पर आई फ्लू 3 से 4 दिन में अपने आप सही हो जाता है लेकिन अगर सही न हो तो देरी नहीं करनी चाहिए तुरंत डॉक्टर को दिखाए| चलिए आज हम आपको आई फ्लू की रोकथाम करने के लिए कुछ जरुरी बाते बताते है, जिनसे आपको काफी मदद मिलेगी –

1 – हमेशा अपनी आँखों को दिन में कम से कम 2 से 3 बार साफ़ पानी से धोना चाहिए| ऐसा करने से आँखों में से गंदगी दूर हो जाती है और इन्फेक्शन की सम्भावना कम हो जाती है|

2 – हमेशा आँखों के हिसाब से पर्याप्त रौशनी में पढाई या काम करना चाहिए| अगर आप बहुत तेज या धीमी रौशनी में काम करते है तो आपकी आपकी आँखों पर काफी दबाव पढ़ता है|

3 – किसी भी इंसान को अपना तौलिया, कपड़े, चादर, मेकअप का सामान, चश्मा, रुमाल इत्यादि चीजों को कभी भी किसी के साथ शेयर नहीं करना चाहिए। अगर आप ऐसा नहीं करते है तो आपको इन्फेक्शन की परेशानी का सामना करना पढ़ सकता है, जिससे आँखों में आई फ्लू भी हो सकता है|

4 – बहुत अधिक समय तक मोबाइल और कंप्यूटर पर काम करने से आँखों में सूखापन आ जाता है, जिसकी वजह से कई बार आई फ्लू की परेशानी हो सकती है| इसलिए हमेशा काम करते समय बीच बीच में अपनी आँखों को कुछ देर का आराम जरूर देना चाहिए|

5 – आजकल की व्यस्त जिंदगी में कोई भी इंसान अपने खाने पीने का ध्यान नहीं रख पाता है, जिसकी वजह से आँखों में परेशानी हो सकती है, इसीलिए अपने भोजन को विटामिन्स सी भरपूर रखे और संतुलित भोजन का सेवन करे|

6 – कभी भी तेज धूप, अधिक ठंड या तेज हवा चलने पर आंखों पर चश्मा लगाकर ही घर से निकले, वरना आँखों में परेशानी हो सकती है|

Recent Articles

सौंफ के फायदे,उपयोग और रेसिपी (Fennel seeds in hindi)

सौंफ (Fennel seeds in hindi) शायद ही कोई इंसान हो जिसने सौंफ का इस्तेमाल ना किया हो| सौंफ में सोडियम, डाइटरी फाइबर, प्रोटीन, विटामिन-ए, विटामिन-सी,...

बाजरे के रामबाण फायदे,उपयोग और रेसिपी (millet in hindi)

बाजरा (millet in hindi ) बाजरे में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, डाइटरी फाइबर, फास्फोरस, मैग्नीशियम, फोलेट, आयरन इत्यादि पोषक तत्व और विटामिन्स प्रचुर मात्रा में पाए जाते...

ओरेगेनो के अचूक फायदे,उपयोग और रेसिपी (Oregano in Hindi)

ओरेगेनो (Oregano in Hindi) ओरेगेनो का उपयोग हम व्यंजनों के साथ साथ घरेलू उपायों में भी करते है| ओरेगेनो को हम हिंदी में आजवाइन की...

तिल के अचूक फायदे,उपयोग और रेसिपी (sesame seeds in hindi)

तिल (sesame seeds in hindi) भारत वर्ष में तिल का बहुत अधिक महत्व होते है, कुछ प्रमुख त्योहारो पर तिल से बानी सामग्री का पूजन...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × three =