Home Health Tips in Hindi - हेल्थ टिप्स बाजरे के रामबाण फायदे,उपयोग और रेसिपी (millet in hindi)

बाजरे के रामबाण फायदे,उपयोग और रेसिपी (millet in hindi)

0
157
millet in hindi

बाजरा (millet in hindi )

बाजरे में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, डाइटरी फाइबर, फास्फोरस, मैग्नीशियम, फोलेट, आयरन इत्यादि पोषक तत्व और विटामिन्स प्रचुर मात्रा में पाए जाते है| भारत में बाजरा की खेती राजस्थान, गुजरात, हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश व महाराष्ट्र में अधिक होती है। बाजरे में मौजूद पोषक तत्व और विटामिन्स की वजह से अब धीरे धीरे बाजरे का उपयोग बढ़ता जा रहा है| चलिए अब हम बाजरे के फाईदो के बारे में आपको बताते है –

millet in hindi

बाजरा के फायदे (benefits of millet in hindi )

1 – मधुमेह के रोग में लाभदायक – मधुमेह के रोग से पीड़ित इंसान को अपने खाने पीने का ध्यान रखना बहुत जरुरी होता है| मधुमेह से ग्रसित इंसान में कब्ज की परेशानी और कमजोरी देखने को मिलती है,ऐसे में अगर मरीज अपने आहार में बाजरे की रोटी को शामिल कर लें तो उसे कब्ज और कमजोरी जैसी परेशानी को दूर करने में काफी मदद मिलती है|

2 – कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में लाभदायक – हमारे शरीर में अगर कोलेस्ट्रॉल की मात्रा का बढ़ जाती है तो आपको हृदय से सम्बंधित परेशानियो का सामना करना पढ़ सकता है| बाजरे में मौजूद फाइबर और अन्य पोषक तत्व शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को नियंत्रित करने में मदद करते है। इसलिए अगर आप भी शरीर में मौजूद कोलेस्टॉल की मात्रा को नियंत्रित करना चाहते है तो नियमित रूप से बाजरे की रोटी का सेवन जरूर कीजिए|

3 – मोटापा कम करने में लाभदायक – ऐसे लोग जो मोटापे और बड़े हुए वजन से परेशान होते है वो अपने वजन को कम करने के लिए डाइट प्लान बनाते है| अगर आप भी वजन कम करना चाहते है तो बाजरे की रोटी का सेवन शुरू कर दीजिए, बाजरे में फाइबर की प्रचुर मात्रा में होता है| फाइबर शरीर में अतिरिक्त चर्बी को कम करने में सहायक होता है|

4 – त्वचा के लिए फायदेमंद – सेहतमंद और सुंदर त्वचा हम सभी की चाहत होती है,लेकिन कई बार फ्री रेडिकल की वजह से त्वचा खराब हो सकती है| बाजरा में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, सेलेनियम, विटामिन सी, विटामिन ई इत्यादि पोषक तत्व त्वचा को सेहतमंद बनाने के साथ साथ साफ़ भी करने में मदद करते हैं। इसलिए अगर आप भी सेहतमंद त्वचा पाना चाहते है तो बाजरे की रोटी का सेवन करना शुरू कर दीजिए|

5 – अस्थमा में भी फायदेमंद – बाजरे में मौजूद पोषक तत्व अस्थमा की परेशानी को कम करने में सहायक होते है| इसीलिए अगर आप इस समस्या से बचना चाहते है तो नियमित रूप से बाजरे की रोटी का सेवन कीजिए, बाजरे की रोटी अस्थमा का इलाज नहीं है लेकिन बचाव करने में सहायक हो सकती है|

बाजरे का उपयोग और रेसिपी

1 – अधिकतर लोग बाजरे का उपयोग उसकी रोटी बनाकर करते है| बाजरे का आटा आपको आसानी से बाजार में उपलब्ध हो जाता है, आप चाहे तो बाजरा लेकर भी पिसवा सकते है|

2 – बाजरे(millet in hindi) के आटे का हलवा भी कुछ लोग बेहद पसंद करते है| सबसे पहले बाजरे का आटा लेकर उसमे थोड़ा सी घी डालकर भून लें, फिर उसमे पानी, चीनी और ड्राई फ्रूट दाल कर पकने दें| जब पानी सुख जाए, उसे गैस से उतार लीजिए, हलवा तैयार है हल्का गर्म होने पर सेवन कीजिए|

हम आशा करते है की sehatdoctor के द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और जिस भी परेशानी के नुस्खे आपने पढ़ें है उस परेशानी में भी आपको आराम प्राप्त हुआ होगा| किसी भी अन्य बीमारी या परेशानी के लिए हेल्थ टिप्स इन हिंदी ( health tips in hindi ) और घरेलु नुस्खे इन हिंदी ( gharelu nuskhe in hindi ) जरूर पढ़ें और लाभ प्राप्त करें| आपका अनुभव कैसा रहा इसकी जानकारी कमेंट करके जरूर बताए |

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − eight =