Home Periods - पीरियड्स पीरियड खुल कर और सही समय पर लाने के 5 आसान घरेलू...

पीरियड खुल कर और सही समय पर लाने के 5 आसान घरेलू नुस्खे

1
पीरियड खुल कर और सही समय

पीरियड्स लाने के उपाय और घरेलू नुस्खे इन हिंदी

पीरियड्स लाने के उपाय इन हिंदी: माहवारी का समय वैसे ही महिलाओं के लिए मुश्किल भरा होता है पर परेशानी तब और भी बढ़ जाती है जब माहवारी अनियमित हो, जैसे की सही टाइम पर पीरियड ना आना या फिर समय से पहले पीरियड शुरू हो जाना। कुछ महिलाएं पीरियड को आगे बढ़ाने और जल्दी आने की टेबलेट लेती है। आजकल महिलाओं और लड़कियों में पीरियड्स अनियमित होना और सही टाइम पर पीरियड ना आने की समस्या आम हो गयी है जिस कारण वे तनाव में रहने लगती है और इसके इलाज के लिए दवा (मेडिसिन) लेने लगती है। मासिक धर्म जल्दी लाने हो, शुरू करना हो, बंद करना  हो या फिर रोकने के उपाय करने हो दवा की बजाय आप घरेलु उपाय और आयुर्वेदिक देसी नुस्खे अपना कर अनियमित पीरियड्स को नॉर्मल कर सकते है।

कभी-कभी महिलाओं को मासिक धर्म में देरी की समस्या से भी गुजरना पड़ता है। पीरियड्स में देरी होने से यह कई बार पीड़ादायक हो जाता है और पार्टी, पूजा व त्योहार का सारा मजा किरकिरा कर देता है। यूं तो आजकल महिलाएं दवाइयों से पीरियड्स को जल्दी या देरी से लाने की कोशिश करती हैं, लेकिन इनका असर स्वास्थ्य पर भी पड़ सकता है। पीरियड समय पर ना आने के कई कारण हो सकते है | इन कारणों में तनाव बढ़ना, वजन कम होना, मोटापा, पीसीओडी बीमारी और जन्म नियंत्रण के लिए ली जाने वाली दवाओं के कारण भी मासिक धर्म में देरी हो सकती है |

कई बार ऐसा भी होता है कि पीरियड्स लेट हो जाते हैं और परेशानी बढ़ जाती है। तो वे पुराने नुस्खे ढूंढने लगती है जिससे पीरियड्स जल्दी आ जाएं। हम आपको कुछ ऐसे ही टिप्स दे रहे हैं | डॉक्टर पीरियड्स को नियमित करने के लिए जन्म नियंत्रण या अन्य दवाइयां निर्धारित कर देते है | इस तरह की दवाओं के कई साइड इफेक्ट्स भी होते हैं | इसलिए पीरियड को जल्दी लाने के लिए विभिन्न प्रकार के घरेलू नुस्खे है जिसके इस्तेमाल से पीरियड को जल्दी लाया जा सकता है| 

बिना दवा (मेडिसिन) के पीरियड्स जल्दी आने और रोकने के लिए उपाय, देसी इलाज और घरेलू आयुर्वेदिक नुस्खे से कर सकते है। आइये जाने पीरियड्स लाने के उपाय क्या करे

 पीरियड्स कितने दिन चलता है

पीरियड्स कितने दिन के होते है ये आपके शरीर पर निर्भर करता है। कुछ महिलाओं को दो से तीन दिन में ही पीरियड खत्म हो जाते है तो कुछ के एक हफ्ते तक भी चलता है। इसके अतिरिक्त कुछ महिलाओं को मासिक धर्म में ब्लीडिंग कम होती है तो कुछ को ज्यादा होती है।

सही टाइम पर पीरियड्स ना आने के कारण: Periods delay causes

  • माहवारी देरी से आने के कई कारण हो सकते है। मानसिक तनाव से लेकर शारीरिक कमजोरी तक का असर मासिक धर्म पर पड़ता है।
  • लड़कियों और महिलाओं में पीरियड्स की डेट पीछे होने का कारण ज़्यादा दवाएं खाना, वजन कम होना और शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो सकते है।
  • हार्मोन संतुलन न होने से भी mc में देरी हो सकती है। थायराइड जैसे रोग भी पीरियड्स पर असर करते है।

पीरियड्स ना आने के कारण और उपाय

Periods Khul Kar Na Aane Ke Karan in Hindi

  1. पेट में फैट बढ़ना और वजन बढ़ने का सीधा असर पीरियड पर होता है। अगर वजन ज्यादा हो तो हार्मोन्स सही तरीके से काम नहीं करते जिस कारण irregular periods और ब्लड कम आने की समस्या होने लगती है।
  2. पीरियड्स में कम ब्लड आना महिला की उम्र के अनुसार भी होता है। वे लड़कियां जिनके पीरियड अभी शुरू हुए है उनके पीरियड्स का समय सामान्य से कम हो सकता है। कम उम्र में हार्मोन्स में असंतुलन होता है जिसका प्रभाव पीरियड आने पर पड़ता है।
  3. जिन महिलाओं की उम्र ज्यादा होती है उनको पीरियड के दौरान light bleeding होती है। अधिक उम्र की महिला के शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन की मात्रा कम होने लगती है।
  4. थायराइड की वजह से भी पीरियड्स खुल कर ना आने की समस्या होने लगती है।
  5. प्रेगनेंसी के दौरान मासिक धर्म बंद हो जाते है पर कुछ महिलाएं प्रेगनेंसी में भी ब्लड का थक्का महसूस करती है और इसे रक्तस्त्राव समझ लेती है पर ये मासिक धर्म नहीं होते।
  6. तनाव होने के कारण भी periods ka khul kar na aana जैसी समस्या होती है क्योंकि तनाव में रहने का असर हार्मोन पर पड़ता है जिस कारण पीरियड कम आते है या देरी से आते है।
  7. जिस महिला ने हाल ही में बच्चे को जन्म दिया है और वो बच्चे को स्तनपान कराती है उसे भी पीरियड कम होते है या देरी से होते है।
  8. ज्यादा मेहनत और एक्सरसाइज करने वाली महिला की माहवारी में भी बदलाव आता है। मेहनत ज्यादा करने से वजन कम होने लगता है जिससे पीरियड खुलकर नहीं आते।
  9. प्रेगनेंसी रोकने वाली दवाओं के अधिक सेवन से मासिक धर्म में बदलाव आता है और ब्लीडिंग मे भी कमी आती है।
  10. पीरियड्स खुल कर ना आने के कारण और उपाय अगर समझ नहीं आ रहे तो तुरंत डॉक्टर से मिले। डॉक्टर आपके बताये हुए लक्षण के आधार पर ब्लड कम आने का reason और ट्रीटमेंट बता सकेंगे।

पीरियड्स खुलकर आने के उपाय – Periods Khul Kar Aane Ke Upay

  • पीरियड्स खुल कर नहीं होने की कई वजह हो सकती है पर ये अगर दो तीन महीने से भी अधिक समय से है तो जरुरी है की इसके उपाय किये जाये और  इसके लिए पहले चिकित्सक के पास जाये।
  • पीरियड्स का निरंतर कम आना सही करने के लिए अंग्रेजी दवा का सहारा ले सकते है और इसके अलावा अपनी जीवनशैली में कुछ अच्छे परिवर्तन करके इस परेशानी को दूर कर सकते है।
  • खून की कमी होने की वजह से भी पीरियड खुल नहीं होते। इस समस्या को दूर करने के लिए अपने भोजन में ऐसी चीजें शामिल करें जिससे शरीर में खून बढे जैसे चुकंदर, गाजर और हरी सब्जियां।
  • पीरियड्स ठीक करने हो तो रात के समय छुहारे और बादाम पानी में भिगो कर रखे और खाली पेट इसे सुबह खाएं।
  • काली मिर्च को शहद में पीस ले फिर इसका उपयोग करें। इस उपाय से भी पीरियड खुलकर होने लगते है।
  • मोटापा ज्यादा या फिर कम होने की वजह से अगर पीरियड खुलकर नहीं आ रहे हो तो प्रतिदिन व्यायाम करे और अपना वजन सही करे।

पीरियड्स लाने के उपाय और घरेलू नुस्खे इन हिंदी

पीरियड्स लाने के उपाय में अगर आप कोई टेबलेट या किसी प्रकार की दवा का सेवन कर रही है तो आप इस लेख को ध्यान से पढ़े और जाने घरेलू नुस्खे और उपाय करके पीरियड्स जल्दी कैसे लाए, natural home remedies for girls irregular periods problem in hindi.

  1. प्याज का सूप एक कप बना कर इसमें थोड़ा सा गुड़ मिलाए और पिए।
  2. पीरियड्स लाने के उपाय के लिए करेले का रस भी फायदा करता है। थोड़ी चीनी करेले के रस में मिलाकर पीने से पीरियड्स रेग्युलर आने लगते है।
  3. गाजर और चुकंदर का जूस बनाकर पिए।
  4. अनियमित मासिक धर्म की समस्या में अंगूर का जूस पीने से भी फायदा होता है।
  5. तुलसी की जड़ को पीस कर इसे 3 ग्राम चूर्ण शहद के साथ सेवन करें।
  6. कच्चे पपीते और एलोवेरा का जूस पीने से भी फायदा मिलता है।
  7. पीरियड्स लाने के उपाय में दिन में 1 बार छाछ पीना भी अच्छा होता है।
  8. केले के पेड़ की छाल का एक ग्राम रस हफ्ते तक सुबह खाली पेट पीने से रुके हुए पीरियड भी शुरू हो जाते है।
  9. मूली के बीज, मेथी के बीज और गाजर के बीज को मिलाकर अच्छे से पीस ले। इसमें से 10 ग्राम चूर्ण माहवारी के टाइम पानी के साथ लेने पर काफी टाइम से रुके हुए पीरियड भी शुरू हो जाते है।
  10. बादाम में फाइबर अधिक मात्रा में होते है और इसके सेवन से हार्मोन संतुलन करने में फायदा मिलता है।

पीरियड शुरू करने के लिए आयुर्वेदिक उपचार

  1. दालचीनी की तासीर गर्म होती है और इसमें ऐसे गुण होते है जो मासिक धर्म रुक जाने या देरी से होने की समस्या को कम करता है। दालचीनी प्रयोग करने का सबसे अच्छा तरीका है इसे खाने में इस्तेमाल करना। इसके अलावा रात को सोने से पहले एक गिलास दूध में आधा चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर पीने से भी फायदा मिलता है।
  2. तिल और गुड़ के सेवन से बॉडी में हार्मोन का संतुलन नार्मल करने में मदद मिलती है। एक मुट्ठी तिल भून कर इसका पाउडर बना ले और इसे एक चम्मच गुड के पाउडर में मिला दे। इस मिश्रण का एक चम्मच पीरियड शुरू होने के 2 हफ्ते पहले खाना शुरू करें। सही टाइम पर पीरियड्स की डेट आने के लिए इस होम रेमेडीज को सही तरीके से और नियमित करे और ध्यान रहे कि पीरियड्स के दौरान इस पीरियड्स लाने के घरेलू नुस्खे को न करे।
  3. एलोवेरा में बॉडी के हार्मोन्स का लेवल नार्मल करने के गुण होते है। एलोवेरा के ताजे रस में थोड़ा शहद मिला कर हर रोज सुबह नाश्ते के समय खाये। इस उपाय से जल्दी ही  रेगुलर होने लगेंगे बस ध्यान रहे इस उपाय को भी पीरियड के दौरान ना करे।
  4. पीरियड्स लाने के घरेलू नुस्खे करने के लिए 1 चम्मच पुदीना पाउडर और 1 चम्मच शहद मिला कर दिन में दो से तीन बार इसका सेवन करें। अनियमित मासिक धर्म को ठीक करने के लिए आयुर्वेदिक चिकित्सक अक्सर इस उपाय की सलाह देते है। कुछ हफ्ते ये नुस्खा करने के बाद सही टाइम पर पीरियड्स आने लगेंगे। 
  5. गाजर का जूस हर रोज पीने से भी पीरियड्स मिस होने और देरी से आने की प्रॉब्लम ख़तम होने लगेगी। Mc regular करने और हार्मोन्स को बैलेंस करने में गाजर का जूस उपयोगी है। इसके इलावा इससे शरीर में खून की कमी भी नहीं होती।

सही टाइम पर पीरियड्स आने के तरीके: Girls Period Problem in Hindi

  • पीरियड्स रेगुलर रखने के लिए जरुरी है की अपने खाने पिने का ख्याल रखे, डाइट में पोषक तत्वों से भरपूर आहार खाना चाहिए और पेट में कब्ज़ न होने दे।
  • शरीर के सभी अंग सही तरीके से काम करते रहे इसके लिए जरुरी है की आप पर्याप्त मात्रा में पानी पिए।
  • गर्भनिरोधक टेबलेट और अन्य दवाओं के सेवन से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले।
  • धूम्रपान, तंबाकू, शराब के सेवन से परहेज करे और चाय कॉफ़ी का सेवन भी कम करे।
  • डार्क चॉकलेट खाने से भी माहवारी देरी से आने की समस्या कम होती है। 
  • पीरियड्स लाने के घरेलू नुस्खे एक ये है की आप डाइट में विटामिन सी युक्त आहार अधिक ले। जादा मसाले वाला और तला हुआ खाने से बचे और फ़ास्ट फ़ूड से भी दूर रहे।
  • मोटापा और वजन बढ़ने की वाह से अगर आपके पीरियड्स अनियमित हैं तो योग और एक्सरसाइज को दिनचर्या में शामिल करे। योग और मेडिटेशन करने से तनाव भी कम होता है।

माहवारी जल्दी लाने के आयुर्वेदिक तरीके

  • गुनगुने पानी में थोड़ा दालचीनी पाउडर, शहद और नींबू मिलाकर पीने से regular periods का इलाज होगा।
  • अनियमित माहवारी दूर करने का एक तरीका ये भी है की थोड़ी केसर गरम दूध में मिला कर पिए।
  • सूखे अंजीर चार से पांच ले और उन्हें दूध में डाल कर अच्छे से उबाल ले। इसका सेवन करने पर पीरियड की प्रॉब्लम दूर होने लगेगी। Period miss होने की समस्या में ये बहुत ही कारगर आयुर्वेदिक दवा है।

पीरियड्स न हो तो क्या करे: (What To Do If You Don’t Have Periods)

  • माहवारी समय पर लाने के लिए सौंफ खाये। पीरियड्स शुरू होने के एक हफ्ते पहले सौंफ का काढ़ा बनाए और पिए।
  • तिल के बीज जीरा पाउडर और गुड के साथ खाएं तो पीरियड टाइम पर होते है।
  • MC सही टाइम पर लाने और प्रेगनेंसी से छुटकारा पाने के लिए कच्चा पपीता खाए।
  • आलू, बैंगन, मीट और कद्दू को पीरियड्स शुरू होने के 1 हफ्ते पहले ना खाए।
  • क़ब्ज़ बनाने वाले फ़ूड से परहेज करे।

मासिक धर्म में सावधानी

  • खाना पीना ना छोड़े और पौष्टिक भोजन खाये।
  • माहवारी आने की दवा डॉक्टर की सलाह के बिना ना ले।
  • धूम्रपान और शराब के सेवन से दूर रहे।
  • ज्यादा थका देने वाला योग व एक्सरसाइज ना करें।
  • पीरियड्स के दौरान महिला को अपने शरीर की सफाई का ध्यान रखना चाहिए।
  • पीरियड्स जल्दी लाने की दवा
  • सही समय पर पीरियड आने के उपाय

पीरियड्स में ब्लीडिंग कम होने के लक्षण

  1. 1-2 दिन तक हल्का रक्तस्राव होना
  2. खून के थक्के आना
  3. कम खून आना
  4. हर महीने जितना रक्तस्त्राव होता है उससे कम होना
  5. एक के बाद अगले महीने भी ब्लीडिंग कम होना

माहवारी में सावधानी

  • पोषक तत्वों से भरपूर चीजें खाये और खाना पीना बिल्कुल नहीं छोड़े।
  • पीरियड्स लाने की दवा बिना डॉक्टर की राय के नहीं ले।
  • शराब और धूम्रपान जैसी चीजों से भी दूर रहे।
  • ज्यादा थकान वाली एक्सरसाइज और योग नहीं करें।
  • मासिक धर्म में महिला को साफ सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

दोस्तों पीरियड्स ना आने के कारण और उपाय, periods me blood kam aane ke karan in hindi का ये लेख कैसा लगा हमें बताएं और आपके पास अगर मासिक धर्म में ब्लीडिंग कम होने की दवा या घरेलू नुस्खे है तो हमें लिखे|

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version