नॉर्मल डिलीवरी के लिए 5 आसान उपाय प्रेगनेंसी टिप्स

Pregnancy - गर्भावस्था नॉर्मल डिलीवरी के लिए 5 आसान उपाय प्रेगनेंसी टिप्स

नॉर्मल डिलीवरी के उपाय इन हिंदी – Pregnancy tips for normal delivery in ninth month in hindi

आजकल के हुए बदलते लाइफस्टाइल के कारण प्रेग्नेंट लेडी के लिए बच्चे को नॉर्मल डिलीवरी से जन्म देना और भी मुश्किल भरा हो गया है। प्रेगनेंसी के दौरान हर गर्भवती चाहती है कि उस की डिलीवरी नॉर्मल तरीके से ही हो पर कई बार परिस्थ‍ितियां कुछ ऐसी बन जाती हैं कि नॉर्मल डिलीवरी नहीं हो पाती और ऑपरेशन करवाना पड़ता है। आज इस लेख में हम जानेंगे नॉर्मल डिलीवरी के लिए क्या करें,  pregnancy ke 9 month mein normal delivery tips for pregnant lady in hindi.

नॉर्मल डिलीवरी का सबसे पहला फायदा तो ये है की महिला को रिकवर होने में अधिक समय नहीं लगता पर सिजेरियन डिलीवरी के बाद मां को काफी वक़्त तक अपना ख्याल रखना पड़ता है। अगर आप प्रेग्नेंट हैं तो यहाँ बताये हुए उपायों को अपनाकर नॉर्मल डिलीवरी की संभावना बढ़ा सकती हैं।

नॉर्मल डिलीवरी के उपाय, Pregnancy Tips For Normal Delivery in Hindi

 

नॉर्मल डिलीवरी कैसे होती है

प्रेग्नेंट लेडी की डेलिवरी दो तरीके से हो सकती है सिजेरियन और नॉर्मल डिलीवरी। नॉर्मल तरीके से डिलीवरी होने पर माँ जल्दी स्वस्थ हो जाती है और ऑपरेशन से डेलिवरी होने के बाद माँ को रिकवर करने में अधिक समय लगता है। गर्भ ठहरने के बाद अगर महिला सिर्फ़ आराम करती है तो उसकी डिलीवरी नॉर्मल होने की संभावना कम हो जाती है।

नॉर्मल डिलीवरी के लक्षण : Symptoms of Normal Delivery

गर्भावस्था के समय महिला के दिमाग में हर समय यही चलता रहता की क्या उसका बच्चा स्वस्थ है और क्या उसकी डिलीवरी नॉर्मल हो सकेगी। ऐसे कोई लक्षण नहीं है जिससे आप ये जान सके की डिलीवरी नॉर्मल होगी या नहीं, पर अगर आप नियमित डॉक्टर से संपर्क में है तो वो महिला और बच्चे के स्वास्थ्य को देख कर कुछ संकेत दे सकते है की डिलीवरी किस तरीके से होगी।

नॉर्मल डिलीवरी के उपाय इन हिंदी

Pregnancy Tips for Normal Delivery in Hindi

1. किसी महिला को जैसे ही ये पता चले की वो प्रेग्नेंट है, उसे तुरंत ही किसी लेडी डॉक्टर से मिलकर जाँच करवानी चाहिए और गर्भावस्था के दौरान नियमित रूप से डॉक्टर के संपर्क में रहना चाहिए। डिलीवरी के दौरान महिला को काफी पीड़ा सहन करनी पड़ती है। इसलिए प्रेग्नेंट लेडी को चाहिए की वो अपने स्वास्थ का पूरा ख्याल रखे ताकि डिलीवरी अगर नॉर्मल तरीके से हो तो तकलीफ़ कम हो।

2. प्रेगनेंसी टिप्स फॉर नार्मल डिलीवरी, जन्म लेने वाला बच्चा तभी स्वस्थ होगा जब माँ स्वस्थ हो। प्रेगनेंसी के समय अगर आपको कोई भी रोग के लक्षण दिखते है तो डॉक्टर की सलाह से जल्दी इलाज कराए।

3. लेबर पैन (प्रसव पीड़ा) के समय शरीर में खून की कमी नहीं होनी चाहिए इसलिए नियमित रूप से ब्लड टेस्ट करवाये और ख़ान पान का भी ध्यान रखे।

4. प्रेग्नेंट वीमेन को नॉर्मल डिलीवरी के लिए शारीरिक रूप से चुस्त रहना चाहिए। खुद को एक्टिव रखने के लिए चलना फिरना अच्छा उपाय है, इससे बच्चा पेट में हलचल करता है और उसे आराम मिलता है।

5. प्रेग्नेंट लेडी की डाइट में विटामिन, कैल्शियम और प्रोटीन की मात्रा अधिक रखे। इसके लिए ताजा फल और हरी सब्जियां खाना चाहिए और साथ ही सही समय पर खाना भी बहुत ज़रूरी है। गर्भावस्था के दौरान शरीर में पानी की कमी ना हो इसलिए प्रतिदिन तीन से चार लीटर पानी ज़रूर पिए।

आयुर्वेदिक टिप्स फॉर नार्मल डिलीवरी : Ayurvedic tips for normal delivery in hindi

1. नॉर्मल डिलीवरी के लिए आयुर्वेदिक दवा अगर आप लेना चाहते है तो अर्जुन रसायन, तुलसी, दशमूल और अश्वगंधा लेने से शरीर में ताकत आएगी, बच्चे की रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ेगी और नॉर्मल प्रेगनेंसी डिलीवरी में भी मदद मिलेगी। कोई भी आयुर्वेदिक मेडिसिन लेने से पहले आयुर्वेद चिकित्सक से सलाह ले कर दवा की मात्रा और सही तरीका जरूर जाने।

2. प्रेगनेंसी के दौरान मेथी का सेवन करने से भी नॉर्मल प्रेगनेंसी में भी फायदा मिलता है।

3. 9th महीने की शुरुआत में सवा के बीज सेंक ले और पानी में उबाल ले और पानी में गुड़ मिलाए। इस पानी के सेवन से डिलीवरी नॉर्मल तरीके से होने में मदद मिलती है।

प्रेगनेंसी एक्सरसाइज फॉर नॉर्मल डिलीवरी इन हिंदी

नॉर्मल डिलीवरी के लिए एक्सरसाइज और योग करने से भी फायदा मिलता है, इससे पेट और कमर की मांसपेशियां मजबूत होती है। प्रेग्नेन्सी के दौरान व्यायाम करने से प्रसव के समय काफी लाभ मिलता है।

  • घर पर टहलना, घर के काम करना और सुबह शाम की सैर करना भी एक्सरसाइज का एक हिस्सा है।
  • Pregnancy exercise for normal delivery in hindi, गर्भावस्था के 9th (नौवें) महीने जादा शारीरिक श्रम ना करते हुए कुछ देर टहलना ही काफी है।
  • कोई भी एक्सरसाइज और शारीरिक व्यायाम करने से पूर्व अपने डॉक्टर से सलाह विमर्श ज़रूर करे और हो सके तो एक्सपर्ट की देख रेख में एक्सरसाइज करे।

नॉर्मल डिलीवरी के लिए बाबा रामदेव योग आसन

सेहतमंद तरीके से बिना सर्जरी के बच्चे को जन्म देने के लिए आप घर पर कुछ योगासन भी कर सकते है। ये आसन आप किसी योग गुरु की देख रेख में करे ताकि आप योग करने का सही तरीका जान सके। आइये जाने प्रेग्नैंसी योग टिप्स फॉर नॉर्मल डिलीवरी इन हिंदी।

  • वक्रासन
  • उत्कतसना
  • कोण आसन
  • सुख भद्रासन
  • सहज पश्चिमोत्तानासन

योग और एक्सरसाइज के इलावा आप घर का काम काज और मॉर्निंग वॉक करे। नियमित रूप से शारीरिक व्यायाम करने से बॉडी एक्टिव रहती है और मांसपेशियां मजबूत होती है जिससे नॉर्मल डिलीवरी के समय जादा परेशानी नहीं होती।

नार्मल डिलीवरी टिप्स इन हिंदी : Normal delivery tips in hindi

  • फ़ास्ट फ़ूड खाने से बचे।
  • चाय कॉफ़ी और कोल्ड ड्रिंक्स से परहेज करे।
  • धूम्रपान और शराब से दूर रहे, ये प्रेग्नेंट लेडी और बच्चे के लिए हानिकारक है।
  • गर्भावस्था में महिला को छह से आठ घंटे की नींद अवश्य लेनी चाहिए और बॉडी की मालिश करनी चाहिए।
  • पेट में पल रहे बेबी और गर्भवती महिला के लिए किसी भी तरीके की टेंशन ठीक नहीं है, इसलिए प्रेगनेंसी में खुद को तनाव से दूर रखे।
  • गर्भवती महिला को ये याद रखना चाहिए की वो प्रेगनेंसी के 9 महीने पुरे होने पर एक बेबी को जन्म देने वाली है। इसलिए प्रेग्नेंट विमन को चाहिए की वो खुद को मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रखे।

ऊपर बताये गए प्रेगनेंसी टिप्स फॉर नार्मल डिलीवरी आप की जानकारी के लिए है कोई भी उपाय शुरू करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले।

दोस्तों नॉर्मल डिलीवरी के उपाय इन हिंदी, Pregnancy Tips For Normal Delivery in Hindi का ये लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट के जरिये बताये और अगर आपके पास नार्मल डिलीवरी टिप्स फॉर प्रेग्नेंट लेडी से जुड़े कोई अनुभव या सुझाव है तो हमारे साथ साँझा करे।

Recent Articles

नॉर्मल डिलीवरी के लिए 5 आसान उपाय प्रेगनेंसी टिप्स

नॉर्मल डिलीवरी के उपाय इन हिंदी - Pregnancy tips for normal delivery in ninth month in hindi आजकल के हुए बदलते लाइफस्टाइल के कारण प्रेग्नेंट...

दमकता हुआ चेहरा पाने के लिए 10 घरेलू नुस्खे

सुंदर और दमकदार त्वचा हम सभी की पहली चाहत होती है| कुछ लोग त्वचा को दमकदार बनाने के लिए बाजार से कॉस्मेटिक उत्पाद खरीद...

ठंड के मौसम में त्वचा को रूखे होने से बचाने के लिए 11 घरेलु नुस्खे

ठंड का मौसम अधिकतर सभी लोगो को पसंद होता है,सर्दियों में रहने और खाने की बात ही अलग होती है| सर्दी का मौसम मजेदार...

त्वचा की असमान रंगत को दूर करने के लिए 10 घरेलू नुस्खे

अक्सर जब आपकी त्वचा का कुछ भाग धूप के सम्पर्क में ज्यादा रहता है तो उसका रंग आपकी त्वचा के सामान्य रंग से अलग...

14 COMMENTS

    • 8 month chal raha hai normal delivery ke liye kya kya karna chahiye.
      kya khana chahiye, kitna meter tak paidal chalna chahiye.

    • प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला के शरीर में कई बदलाव होते है जिसमें पाचन क्रिया में बदलाव आना भी एक है जिस कारण पेट में गैस की समस्या हो जाती है.

  1. Mujhe arthritis hai to kya delivery me normal delivery expect kar sakti hu aur arthritis hone ki vajah se main normal pregnant womens ki tarah exercise nahi kar sakti. To alag kaun si exercise hai jo mai aasani se kar saku. Is bones disease me mera left leg kaam nahi karta. Uthte baithte bahut dard hota hai.

  2. 1 month se hi bleeding ho rahi hai dawai chal rahi hai main ye janna chata hu kya maa or bacha dono thik rahenge abhi 11 weeks hue hai.

  3. डॉक्टर ने डिलीवरी के लिए 31 अगस्त की तारीख दी है लेकिन बच्चे की स्थिति अभी पेट में ऊपर ही है क्या ये नार्मल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × five =