Home Eye Health - आँखों की सेहत Astigmatism - दृष्टिवैषम्य दृष्टिवैषम्य के लिए उपचार क्या है

दृष्टिवैषम्य के लिए उपचार क्या है

0
313
drishtivaishmay ka upchar

drishtivaishmay ka upchar : आँखों की जाँच करने के बाद ही पता चलता है की बीमारी कितनी गंभीर है। नेत्र चिकित्सक बीमारी की गंभीरता को देखते हुए आपकी आँखों का इलाज आसानी से कर पाते है। बहुत से लोग जाँच कराने के बाद डॉक्टर से इलाज कराने के बजाय अपनी मर्जी से इलाज करने लगते है, जिसकी वजह से परेशानी कम होने की बजाय बढ़ जाती है, परेशानी इतनी बढ़ जाती है की उसका इलाज करना मुमकिन नहीं होता है और अंत में आप अपनी आँखों की रौशनी तक खो देते है, इसीलिए कभी भी बिना नेत्र चिकित्सक के किसी भी दवाई का सेवन नहीं करना चाहिए। दृष्टिवैषम्य की परेशानी का इलाज कई बार चश्मा लगाकर भी करा जा सकता है, लेकिन अगर परेशानी बढ़ गई है तो नेत्र चिकित्सक आपकी आँखों की सर्जरी करके इस परेशानी से निजात दिला देते है। चलिए आज हम आपको दृष्टिवैषम्य की परेशानी के इलाज के बारे में बताते है, जिन्हे जानने के बाद आपको काफी मदद मिल सकती है –

दृष्टिवैषम्य का उपचार (drishtivaishmay ka upchar)

1 – अगर आपकी आँखों में दृष्टिवैषम्य की परेशानी हो जाती है, तो सबसे पहले नेत्र चिकित्सक चश्मे का इस्तेमाल करने की सलाह देते है, चश्मा दृष्टिवैषम्य की परेशानी को जल्दी और प्रभावी ढंग से दूर करने का सबसे सरल और आसान तरीका होता है। आँखों की जाँच के बाद चश्मा लगाकर आसानी से रात में भी ड्राइविंग कर सकते है।

2 – आँखों में पढ़ने वाले प्रकाश को बेहतर और स्पष्ट छवि बनाने के लिए कई बार नेत्र चिकित्सक संपर्क लेंस का भी इस्तेमाल करते है। लेकिन इसका इलाज महंगा और बहुत ज्यादा देखभाल, सावधानी वाला होता है, इसीलिए इस उपचार को कम लोग ही पसंद करते है।

3 – कई बार नेत्र चिकित्सक आपकी आँख के कॉर्निया को केराटोम नामक एक उपकरण का इस्तेमाल करके उसे पतला, गोलाकार बना देते है, जिससे आपको परेशानी से निजात मिल जाती है। इस प्रकार की सर्जरी को लेसिक सर्जरी के नाम से भी जानते है।

4 – आँखों के कॉर्निया की गोलाई को सही करने के लिए नेत्र चिकित्सक फोटोरफ्रेक्टिव केराटेक्टोमी विधि का भी इस्तेमाल करते है। इस सर्जरी में डॉक्टर एक्सीमर लेजर का इस्तेमाल करके गोलाई को सामान्य कर देते है।

5 – अगर आपकी आँख का कॉर्निया पतला होता है, तो डॉक्टर सर्जरी करके कॉर्निया की बहुत पतली परत मोड़ देते है, उस मुड़ी हुई परत से आप आँख में होने वाली हानि से आसानी से बचा सकते है। इस सर्जरी को हम लसेक सर्जरी के नाम से भी जानते है। जो लोग बारीकी वाला काम करते है, उनके लिए ये सर्जरी काफी फायदेमंद होती है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 + three =