कैसे दृष्टिवैषम्य होने से रोका जा सकता है

Eye Health - आँखों की सेहत Astigmatism - दृष्टिवैषम्य कैसे दृष्टिवैषम्य होने से रोका जा सकता है

दृष्टिवैषम्य को हम एस्टिग्मेटिज़्म के नाम से भी जानते है, दृष्टिवैषम्य की परेशानी आम है, लेकिन अगर आप लापरवाही करते है तो कई बार आपको इसके गंभीर परिणाम भुगतने पढ़ सकते है। दृष्टिवैषम्य की परेशानी ज्यादातर बच्चो में पाई जाती है, लेकिन धीरे धीरे ये परेशानी घातक रूप भी ले लेती है। आँखे हमारे शरीर का नाजुक अंग होता है, इसीलिए उसमे हल्की सी भी परेशानी महसूस होने पर तुरंत नेत्र चिकित्सक को दिखाना चाहिए। अगर आप अपने दैनिक जीवन में थोड़ी सी सावधानी बरते तो आसानी से दृष्टिवैषम्य की परेशानी से बच सकते है, चलिए आज हम आपको इस परेशानी से बचने के लिए कुछ बाते बताते है, जिनके इस्तेमाल से आप दृष्टिवैषम्य को अपनी आँख में आने से रोक सकते है –

1 – अगर आप पढाई, मोबाइल, कंप्यूटर या कोई बारीकी वाला काम कर रहे हो तो कभी भी लगातार उस पर नजर जमा कर काम नहीं करना चाहिए। आपको अपनी आँखों को काम के बीच बीच में आराम जरूर देना चाहिए। थोड़ी थोड़ी देर बाद नजर को काम से हटा कर कही और दूर देखने लगे या आँखों को बंद कर लें। ऐसा करने से आप आँखों में होने वाली परेशानी से बच सकते है।

2 – चाहे आप कोई सा भी नजर का काम कर रहे हो तब आपको अपनी आँखों की पलकों को झपकाते रहना चाहिए। ऐसा करने से आपकी आँख में सूखापन नहीं आएगा और आपकी आँख और दिमाग को भी थोड़ी सी राहत मिल जाती है। ऐसा करने से आपकी आँखों में होने वाले तनाव से भी राहत मिलेगी।

3 – आप जिस जगह पर काम करते हैं, वहाँ पर रोशनी आपकी आँखों के अनुकूल होनी चाहिए। अगर प्रकाश कम होगा तो आपको अपनी आँखों पर बहुत ज्यादा जोर देना पड़ेगा और लाइट बहुत तेज होगी तो आपको अपनी आँखों मीचकर काम करना पड़ेगा। दोनों ही स्थितियों में आपकी आँखों पर बहुत ज्यादा जोर पड़ता है।

4 – अधिक ठण्ड होने पर हम हीटर का इस्तेमाल करते है, जिसकी वजह से हवा में नमी की कमी होने लगती है, जिसकी वजह से हमारी आँखों में परेशानी हो सकती है। इसीलिए हीटर का इस्तेमाल कम से कम करना चाहिए। गर्मियों में एयर कंडीशनर के इस्तेमाल से भी आँखों में परेशानी हो सकती है, इसलिए हमे घरो और जहाँ पर काम करते है वहाँ पर हवा में नमी होना जरुरी होता है, जिससे हमारी आँखों में परेशानी होने की सम्भावना काफी कम हो जाती है।

Recent Articles

शतावरी के फायदे,उपयोग और रेसिपी (asparagus in hindi)

शतावरी  (asparagus in Hindi) प्राचीन समय से शतावरी का इस्तेमाल औषधि के रूप में होता हुआ आया है| शतावरी को अंग्रेजी में एस्पेरेगस के नाम...

मेथी के अचूक फायदे,उपयोग और रेसिपी (fenugreek in hindi)

मेथी (fenugreek in hindi) मेथी का नाम लगभग सभी ने सुना ही होगा, मेथी का इस्तेमाल सब्जी के साथ साथ परांठे बनाने में भी इस्तेमाल...

ऐश गॉर्ड के फायदे,उपयोग और रेसिपी (ash gourd in hindi)

पेठा या ऐश गॉर्ड (ash gourd in hindi) शायद ही कोई इंसान हो जिसने पेठे का नाम ना सुना हो, हम सभी पेठे को मिठाई...

पालक के अचूक फायदे,उपयोग और रेसिपी (spinach in hindi)

पालक (spinach in hindi) शायद ही कोई इंसान हो जिसने पालक का नाम सुना ना हो| पालक का अंग्रेजी में स्पिनच कहते है| पालक में...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × 1 =