Home Eye Health - आँखों की सेहत Retinis pigmentosa - रेटिनिस पिगमेंटोसा रेटिनिस पिगमेंटोसा से जुड़े जोखिम और जटिलताएं क्या हैं

रेटिनिस पिगमेंटोसा से जुड़े जोखिम और जटिलताएं क्या हैं

0
193

आजकल की जिंदगी में किसी की भी आँख में रेटिनिस पिगमेंटोसा की परेशानी हो सकती है। अक्सर छोटे बच्चो और जन्म वाले बच्चो की आँख में अगर रेटिनिस पिगमेंटोसा की परेशानी हो जाती है तो उनकी आँखों में मोतियाबिंद की परेशानी हो सकती है, वो भी बहुत ही कम उम्र में। अगर कम उम्र में रेटिनिस पिगमेंटोसा की वजह से मोतियाबिंद की परेशानी हो जाए तो मोतियाबिंद का इलाज हो सकता है। अगर आपकी आँख में रेटिनिस पिगमेंटोसा की परेशानी की वजह से कई बार रेटिना में सूजन की सम्भावना भी हो सकती है। चलिए आज हम आपको रेटिनिस पिगमेंटोसा से जुड़े जोखिम और जटिलताओं के बारे में बताते है, जिनसे आपको काफी मदद मिल सकती है –

1 – कम उम्र में मोतियाबिंद होने का कारण रेटिनिस पिगमेंटोसा की वजह से भी हो सकता है, इसीलिए कभी भी लापरवाही ना करे।

2 – कई बार रेटिनिस पिगमेंटोसा में लापरवाही करने की वजह से रेटिना में सूजन भी आ सकती है। देरी करने से सूजन बढ़ सकती है और आपको घातक परिणाम भुगतने पढ़ सकते है।

3 – रेटिनिस पिगमेंटोसा की परेशानी होने पर आपको बाएं और दाएं देखने में परेशानी होती है, लेकिन इलाज में देरी करते है तो कई बार आपकी आँखे सामने की चीजों को भी सही से नहीं देख पाती है।

4 – जब भी आपकी आँख में रेटिनिस पिगमेंटोसा की परेशानी हो जाने पर आपको रात में और मंद रौशनी में दाएं और बाएं देखने में परेशानी होती है, इसीलिए कभी भी रात में गाड़ी नहीं चलनी चाहिए। अगर आप फिर भी गाड़ी चलाते है तो आपको काफी नुक्सान झेलना पढ़ सकता है।

5 – कई बार आपकी आँखे रंगो की पहचान करने में असमर्थ होती है, जिसका कारण आँखों में रेटिनिस पिगमेंटोसा की बीमारी भी हो सकती है। अगर आप इस परेशानी का इलाज नहीं करवाते है तो धीरे धीरे आँखों की रौशनी तक प्रभावित हो सकती है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seven + 20 =