टाइफाइड के उपचार के 5 आसान घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे

Home Remedies - घरेलू नुस्खे टाइफाइड के उपचार के 5 आसान घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे

टाइफाइड के उपचार इन हिंदी: टाइफाइड को मोतीझरा और मियादी बुखार भी कहते है जो सॉफ सफाई की कमी और दूषित चीज़े खाने से होता है। सही समय पर अगर टाइफाइड बुखार का उपचार ना हो तो आँतो में से खून के रिसाव का ख़तरा बढ़ जाता है और इसके इलावा निमोनिया और दिमागी बुखार की आशंका भी अधिक हो जाती है। इस रोग में तेज बुखार आता है जो दवा लेने से एक बार तो कम हो जाता है पर दवा का असर कम होने पर दुबारा हो जाता है। टाइफाइड की आशंका बारिश के मौसम में अधिक होती है क्योंकि बारिशों में पानी दूषित अधिक होता है। इस लेख में हम जानेंगे घरेलू उपाय और देसी आयुर्वेदिक नुस्खे अपनाकर टाइफाइड ठीक कैसे करे, home remedies tips for typhoid treatment in hindi.

टाइफाइड का इलाज के घरेलू उपाय आयुर्वेदिक नुस्खे

 

टाइफाइड के लक्षण

कुछ लोगों में टाइफाइड के लक्षण 4 – 5 दिन में दिख जाते है और कुछ को 1 – 2 हफ्ते में दिखते है।

  • ठंड लगना, तेज बुखार आना
  • पसीना आना
  • भूख कम लगना
  • गले में खराश, सिर दर्द होना।
  • उल्टी, दस्त और पेट में दर्द होना।

 

टाइफाइड ट्रीटमेंट इन हिंदी

टाइफाइड का इलाज अगर आप एलोपैथी तरीके से करना चाहते है तो कोई भी मेडिसिन बिना डॉक्टर की सलाह के ना ले। टाइफाइड का लक्षण दिखने पर पहले डॉक्टर से चेकअप करवाये और टेस्ट के बाद ही ट्रीटमेंट शुरू करे। अगर बुखार की वजह से परेशानी बढ़ हो रही हो तो पेरासिटामोल की टेबलेट ले।

अक्सर एक दो दिन में आराम आने के बाद लोग मेडिसिन बंद कर देते है पर ऐसा करना ग़लत है। टायफाइड बैक्टीरिया को पूरी तरह खत्म करने के लिए पूरा कोर्स करना ज़रूरी है।

 

टाइफाइड के उपचार के घरेलू उपाय और नुस्खे

Typhoid Treatment in Hindi

 

1. तुलसी से टाइफाइड के उपाय

  • तुलसी और सूरजमुखी के पत्तों का रस पीने से भी टाइफाइड बुखार से राहत मिलती है।
  • अदरक और तुलसी की चाय टायफाइड कम करने में फायदेमंद है। थोड़ी अदरक, तुलसी के पत्ते, दालचीनी और काली मिर्च को अच्छे से पानी में उबाल ले और इसमें मिश्री डाल कर सेवन करे।
  • तुलसी की चाय सर्दी और जुकाम के इलाज में भी असरदार है।

 

2. टाइफाइड फीवर के लिए लहसुन

लहसुन एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक है। तिलों के तेल या घी में 5 से 7 लहसुन की कलियाँ पीस कर तले और इसमें सेंधा नमक मिलाकर खाए। कैसा भी बुखार हो इस उपाय को करने से आराम मिलता है।

 

3. पुदीना और अदरक

  • अदरक का छोटा सा टुकड़ा और कुछ पत्ते पुदीने के पीस कर एक कप पानी में मिला कर एक घोल बना ले और  दिन में दो बार इस घोल को पिए इससे बुखार कम होने लगेगा।
  • थोड़ा अदरक का पेस्ट एक कप सेब के जूस में मिलाकर इसे पीने से भी बुखार में आराम मिलता है।

 

4. प्याज का रस

प्याज का रस थोड़ी थोड़ी देर में पीने से भी बुखार उतरने लगता है। इस नुस्खे से क़ब्ज़ से भी छुटकारा मिलता है।

 

5. शहद और केला

  • एक पक्का हुआ केला पीस कर इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो बार खाए।
  • पाचन क्रिया दरुस्त करने के लिए शहद 1 गिलास हल्के गर्म पानी में मिलाकर पिए।

 

टाइफाइड का आयुर्वेदिक उपचार राजीव दिक्षित

तुलसी के पत्ते 15 से 20, नीम वाली गिलोय का रस 5 ग्राम, छोटी पीपर के 10 टुकड़े, 10 ग्राम सौंठ ले और सब को अच्छे से मिलाकर पीस कर एक गिलास पानी में इस मिश्रण को डाल कर उबाले और काढ़ा बना ले, इस काढ़े को ठंडा होने पर पिए। इस दवा के सेवन के आधा घंटा बाद और आधा घंटा पहले कुछ ना खाए पिए। इस आयुर्वेदिक नुस्खे को दिन में दो से तीन बार करने से डेंगू, टायफाइड बुखार, चिकनगुनिया और मलेरिया जैसे रोगों से आराम मिलता है।

 

बाबा रामदेव टाइफाइड की दवा के टिप्स

मियादी बुखार का उपचार आप आयुर्वेदिक मेडिसिन से भी कर सकते है। टाइफाइड बुखार के इलाज में ली जाने वाली कुछ दवाओं के नाम यहाँ बताये गए है जो आप baba ramdev पतंजलि स्टोर से ले सकते है। कौन सी दवा कितनी मात्रा में ले इसकी जानकारी आयुर्वेद चिकित्सक से ले कर ही इलाज शुरू करे।

  • ब्राहमी वती
  • गिलोय सत्व
  • संजीवनी वटी
  • ज्वरनाशक क्वाथ
  • सुदर्शन घन वटी

 

टाइफाइड में क्या खाएं और क्या नहीं खाना चाहिए

  • हल्का भोजन करे जिसे पचाना आसान हो।
  • सेब, चीकू, पपीता, फल, मूँग दाल खिचड़ी, दूध खाए।
  • कोल्ड ड्रिंक्स, कॉफी, चाय, मसालेदार जंक फुड और धूम्रपान करने से बचे।

 

टाइफाइड बुखार का इलाज के घरेलू उपाय

  • खाने पीने का ध्यान रखे।
  • सॉफ सफाई का विशेष ध्यान रखे।
  • रोगी को फीवर होने पर आराम अधिक करना चाहिए।
  • तेज बुखार हो तो एक कपडा ठंडे पानी में भीगा कर माथे पर रखे, इससे दिमागी बुखार की संभावना कम हो जाती है।
  • चाहे किसी भी कारण बुखार हुआ हो इस के प्रभाव को कम करने के लिए कुछ अहम् बातों का ध्यान रखना ज़रूरी है।
  • पानी जादा पिए और पानी उबाल कर रखे और ठंडा होने पर पिए। शरीर में मौजूद विषैले पदार्थ पानी पीने से बाहर निकल जाते है।

 

टाइफाइड से बचने के उपाय

  • भोजन करने से पहले और बाद हाथ साबुन से धोए।
  • सड़क के किनारे ठेलों पर राखी खुली और कटी हुई चीजें खाने से परहेज करे।
  • टाइफाइड से बचने के लिए दो साल में एक बार टाइफाइड का टीका लगवाए। इसके लिए डॉक्टर की राय ले।

 

ऊपर लिखे हुए घरेलू तरीके और देसी नुस्खे से राहत ना मिले तो तुरंत डॉक्टर से मिले।

 

दोस्तों टाइफाइड के उपचार, Typhoid Treatment Home Remedies in Hindi का ये लेख आप को कैसा लगा हमें कमेंट के जरिये बताये और अगर आपके पास टाइफाइड बुखार का उपचार के देसी आयुर्वेदिक नुस्खे है तो हमारे साथ भी शेयर करे।

हम आशा करते है की sehatdoctor के द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और जिस भी परेशानी के नुस्खे आपने पढ़ें है उस परेशानी में भी आपको आराम प्राप्त हुआ होगा| किसी भी अन्य बीमारी या परेशानी के लिए हेल्थ टिप्स इन हिंदी (health tips in hindi) और घरेलु नुस्खे इन हिंदी (gharelu nuskhe in hindi) जरूर पढ़ें और लाभ प्राप्त करें| आपका अनुभव कैसा रहा इसकी जानकारी कमेंट करके जरूर बताए |

Recent Articles

42 टिप्पणी

  1. Sir mera 2 year ka beta h usko jb fever aata h to uska sir bahut garam hota h…abhi usko dawai se aaram hota h aur fir fever aa jata h aur sar bahut garam hota h ..dr. ne mausam ki vajah se fever btaya h …starting mein dast the jo theek ho gye bas ab fever hai jo bar bar aata hai aaj 5 ho gye fever ko… kya kru?:

    • अगर टाइफाइड की वजह से बार बार बुखार आ रहा है तो आप इसका इलाज घरेलू नुस्खे से भी कर सकते है। टाइफाइड के उपाय आप ऊपर लेख में पढ़े। अगर उपाय करने के बाद भी आराम न मिले तो डॉक्टर से मिल कर सलाह ले।

  2. सिर मुझे भूख लगती है लेकिन कुछ खाने का मन नही करता है। सिर में दर्द भी रहता है और कभी फीवर आता है हाथ पैर में दर्द भी होटा है। मुझे टाइफाइड है लगता है लेकिन निश्चित नही है। क्या करूँ।

    • टाइफाइड में बार बार बुखार आने की समस्या होती है, अगर आपको दवा लेने के बाद भी आराम नहीं मिल रहा तो अपने चिकित्सक से दुबारा मिले, इसके इलावा आप घरेलू नुस्खे भी कर सकते है.

  3. बिना बुखार के अचानक तेजी से पसीना आया खाने की बुख तेजी से लगी जाँच करवाने पर टाइफाइड निकला मुझे खाने मे कौन सी परेहज करनी है.

  4. मेरी पत्नी को बार बार बुखार आ रहा था तो मेने टाइफाइड की जांच करवाई तो जांच में टाइफाइड आया।
    आपने जो ऊपर आयुर्वेदिक दवा (ब्राह्मी वटी, संजीवनी वटी, सुदर्शन घन वटी, गिलोय सत्व, ज्वर नासक क्वाथ) बताई है। इनमें से किसी भी एक दवा को लेना है या पांचों को एक साथ लेना है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 + fifteen =

Recent Articles