कैंसर का इलाज के 10 घरेलू उपाय और देसी आयुर्वेदिक नुस्खे

Ayurvedic Nuskhe - आयुर्वेदिक नुस्खे कैंसर का इलाज के 10 घरेलू उपाय और देसी आयुर्वेदिक नुस्खे

कैंसर का नाम सुनते ही एक घबराहट सी होने लगती है। ये रोग बच्चों से बड़ों तक किसी को भी हो सकता है। इसकी शुरुआत एक गाँठ के रूप में होती है जो देखने में साधारण ही लगती है। अगर समय पर कैंसर को पहचान लिया जाए तो इसका उपचार करके इसे बढ़ने से रोका जा सकता है और इसे खत्म भी किया जा सकता है। पुरुषों में गला, फेफडों, मुँह, प्रोस्टेट, खाने की नली, जीभ, आवाज़ की नली और ओरल कैंसर होता है और महिलाओं में गर्भाशय, ब्रेस्ट, पित्ताशय, मस्तिष्क और थायराइड के कैंसर की संभावना अधिक होती है। इस लेख में हम कैंसर का इलाज और इसे रोकने के घरेलू तरीके और आयुर्वेदिक नुस्खे जानेंगे जिनके इस्तेमाल से कैंसर से बच सकते है और अगर कोई कैंसर से प्रभावित है तो इन उपायों से इसे कंट्रोल कर के इसे फैलने से रोका जा सकता है और इससे छुटकारा भी पा सकते है, ayurvedic home remedies for cancer treatment in hindi.

हमारे शरीर में सौ से हज़ार तक खराब सेल्स होते है। हमारी बॉडी में हर समय खराब सेल्स ख़तम होते है और नये सेल्स पैदा होते है, पर कैंसर का रोग होने पर सफ़ेद और लाल रक्त कोशिकाओं का संतुलन बिगड़ने लगता है जिससे सेल्स की बढ़ोतरी नियंत्रण से बाहर हो जाती है। कैंसर के सेल्स शरीर में अच्छे सेल्स के काम में रुकावट डालते है। कैंसर सेल्स बॉडी में नये बीमार सेल्स बनाते है और जिस अंग में ये सेल्स बनते है उस अंग का कामकाज प्रभावित होने लगता है।

कैंसर का इलाज के आयुर्वेदिक नुस्खे, Cancer ka ilaj in hindi

 

कैंसर के लक्षण : Symptoms of Cancer

  • मुँह सुकड़ना, मुँह में छाले होना और मुँह का पूरा ना खुलना।
  • लगातार कमर में दर्द होना।
  • ब्रेस्ट में या किसी और अंग में गाँठ का बनना।
  • शोच और मूत्र करने की आदतों में बदलाव होना।
  • खाँसी लगातार होना या फिर आवाज़ बैठ जाना।
  • खाना निगलने, चबाने और हज़म करने में कठिनाई आना।
  • सुनने देखने में दिक्कत आना, सिर दर्द होना, यादाशत कमज़ोर होना।

 

ये लक्षण दूसरी बीमारियों की वजह भी होते है पर अगर इनमे से कोई भी लक्षण 2 हफ्ते से अधिक समय तक दिखे तो तुरंत डॉक्टर से मिले और टेस्ट करवाये।

 

कैंसर के कारण : Cancer Causes

  • सुपारी, तम्बाकू, पान मसाला और खैनी जैसी चीजों के सेवन से कैंसर की आशंका काफी बढ़ जाती है।
  • शराब के सेवन से भी कैंसर होने की संभावना होती है। शराब पीने से गले का कैंसर, ओरल कैंसर और पेट के कैंसर का ख़तरा जादा होता है। शराब और सिगरेट का सेवन एक साथ करने पर ये ख़तरा सौ गुना बढ़ जाता है।
  • नमक जादा खाने से पेट का कैंसर होने की आशंका अधिक होती है।
  • हमारी सेहत के लिए रेफाइंड ऑइल का सेवन ठीक नहीं, भोजन पकाने के लिए ऑलिव आयल, मूँगफली के तेल या कोकोनट आयल का प्रयोग करे।
  • हैपेटाइटिस बी, मोटापा और एचाइवी के वाइरस से भी कैंसर की आशंका होती है।
  • जो महिलाएं अपने बच्चों को स्तनपान नहीं कराती है उन्हें ब्रेस्ट कैंसर होने का ख़तरा अधिक होता है।
  • गर्भ निरोधक दवाओं का प्रयोग लंबे समय तक करने से महिलाओं को ब्रेस्ट और लिवर कैंसर का ख़तरा बढ़ जाता है और साथ ही दिल की बिमारियों की संभावना भी बढ़ जाती है।

 

कैंसर का इलाज के घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे

Ayurvedic Home Remedies for Cancer Treatment in Hindi

 

1. देसी गाय का मूत्र कैंसर का इलाज में बहुत फायदेमंद उपाय है। रोजाना 2 से 3 बार गो मूत्र पीने से कैंसर के रोगी को चमत्कारी ढंग से फायदा मिलता है।

2. हल्दी कैंसर से बचने और छुटकारा पाने में बहुत उपयोगी औषधी है। अपने खाने में हल्दी का सेवन हर रोज करे, ये बीमार सेल्स को बढ़ने से रोकती है। तुलसी और हल्दी के प्रयोग से मुँह के कैंसर का उपचार करने में मदद मिलती है।

3. गोमूत्र और हल्दी में कुरकेमिन नाम का एक केमिकल पाया जाता है जो कैंसर सेल्स को ख़तम करता है। आधा चम्मच हल्दी और आधा कप देसी गाय का मूत्र मिला कर गरम कर ले और मरीज को चाय की तरह पिलाये। लगातार तीन महीने तक दिन में 2 बार इस उपाय को करने से कैंसर में आश्चर्यजनक लाभ मिलता है।

4. पानी अधिक पिए। रात को तांबे के बर्तन में पानी भर कर रखे और सुबह खाली पेट पिए। इस उपाय से कैंसर के साथ और भी कई रोगों के इलाज में फायदा मिलता है।

5. आर्गेनिक फ़ूड का इस्तेमाल अधिक करे क्योंकि इनको उगाने में किसी प्रकार के केमिकल्स और पेस्टिसाइड का उपयोग नहीं किया जाता। सब्जियों में फूलगोभी, ब्रोकली और पत्तागोभी में कैंसर के सेल्स को नष्ट करने के गुण होते है।

6. कैंसर के रोगी को 2 किलो गेंहू के आटे में 1 किलो जों का आटा मिलाकर इसकी रोटियां 40 दिनों तक खाना चाहिए। इसके इलावा आलू, अरबी और बैंगन के सेवन से परहेज करे।

7. ग्रीन टी पीने से लिवर, स्किन, गले, मुंह, सर्विकल, पेट और ब्रेस्ट कैंसर को रोकने में मदद मिलती है।

8. सोयाबीन या फिर उससे बनी हुई चीज़े खाए इससे प्रॉस्टेट और स्तन कैंसर की संभावना कम होती है।

9. गेंहू के जवारे का रस पिने से काफी लाभ मिलता है। अनार का सेवन ब्रेस्ट कैंसर के इलाज में असरदार है।

10. हर रोज कुछ देर सूरज की हल्की रोशनी में जरूर बैठे।

 

कैंसर का उपचार के राजीव दिक्षित आयुर्वेदिक तरीके 

आजकल महिलाओं में ब्रेस्ट और गर्भाशय के कैंसर का ख़तरा काफ़ी बढ़ गया है। पहले ये एक गाँठ होती है जो कुछ समय बाद कैंसर का रूप ले लेती है। अगर समय रहते ही इसका ध्यान दे तो इस गाँठ को गला भी सकते है। जैसे ही आपको कोई गाँठ या किसी रसोली के बारे में पता चले आप पान में खाने वाला  चुना प्रयोग करे। चुने को गेंहू के दाने के आकार में ले और लस्सी, दही पानी, सब्ज़ी या दाल में मिला कर इसका सेवन करे। जैसी भी गाँठ हो इस नुस्खे को करने से गल जाएगी। पथरी के मरीज इस उपाय का प्रयोग ना करे।

 

कैंसर से बचने के टिप्स

  1. सबूत आनाज, सब्जियां और फल का सेवन करे।
  2. धूम्रपान, तम्बाकू और शराब के सेवन से दूर रहे। मीट, तला हुआ खाना और जादा चर्बी वाले खाने से परहेज करे।
  3. मिनरल्स और विटामिन की मेडिसिन खाने की बजाये नेचुरल तरीके अपनाये।
  4. जादा कैलोरी वाला खाना कम खाए और रोजाना हल्का फुल्का व्यायाम करे। अच्छी सेहत और रोगों से बचने के लिए योगा करना भी अच्छा उपाय है। योगा सिखने के लिए Baba Ramdev की योग विडियो भी देख सकते है।
  5. खाने में अधिक नमक का इस्तेमाल ना करे और पक्के हुए खाने पर उपर से नमक कभी ना डाले।
  6. दर्द निवारक दवाओं के सेवन की आदत छोड़े।
  7. समय समय कैंसर की जांच करवाते रहे।
  8. लाल, जमुनी, नीले और पीले रंग की सब्जियों और फलों जैसे टमाटर, जामुन, काले अंगूर, पपीता, तरबूज, अमरूद खाने से कैंसर होने का ख़तरा कम होता है। संतरा, मौसमी या निम्बू किसी एक का जूस हर रोज पीने से गले, पेट और मुँह के कैंसर की आशंका काफी कम हो जाती है।
  9. कैंसर से बचाव और इलाज में लहसुन का प्रयोग काफी फायदेमंद है। लहसुन रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ाता है। किशमिश और बादाम जैसे ड्राइ फ्रूट्स खाने से कैंसर नही बढ़ता।
  10. अधिक लोगों से योन संबंध बनाने से गर्भाशय का कैंसर का ख़तरा होता है।

 

दोस्तों कैंसर का इलाज के घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे, Cancer Treatment Tips in Hindi का ये लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट कर के बताये और अगर आप के पास कैंसर का उपचार के देसी नुस्खे है तो हमारे साथ शेयर करे।

हम आशा करते है की sehatdoctor के द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और जिस भी परेशानी के नुस्खे आपने पढ़ें है उस परेशानी में भी आपको आराम प्राप्त हुआ होगा| किसी भी अन्य बीमारी या परेशानी के लिए हेल्थ टिप्स इन हिंदी (health tips in hindi) और घरेलु नुस्खे इन हिंदी (gharelu nuskhe in hindi) जरूर पढ़ें और लाभ प्राप्त करें| आपका अनुभव कैसा रहा इसकी जानकारी कमेंट करके जरूर बताए |

Recent Articles

63 टिप्पणी

  1. मुझे ब्रेन टूमओर कैंसर के विकास रोकने के उपाय बताइये जिनका आपरेशन और रेडिएशन 1 साल पहल 3/12/2015 को हुआ था लेकिन टूमओर फिर से ग्रोथ कर चूका है

    • प्रकाश जी आप कैंसर के उपचार के लिए घरेलू नुस्खे कर सकते है, परेशानी जादा होने पर किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक की भी सलाह ले। हम आपके जल्द ठीक होने की प्रार्थना करते है।

  2. Sir, मेरे गाल में एक छोटी सी काले रंग की गांठ बन गयी है जिसकी बजह से मुझे डर लग रहा है। कि कही मुझे मुंह के कैंसर के लक्षण तो नहीं है।

  3. मेरी माँ को कैंसर है, सिर में अंदर गाँठ है उन्हें बहुत पीडा होती है सर में भारी दर्द होता है कृप्या कुछ उपाय बताये। आपके लेख में सिर के कैंसर का कोई इलाज ही नहीं बताया गया, डाक्टर ने ऑपरेशन के लिये कहा है पर हम लोग डर रहे है कि पता नहीं ऑपरेशन सही से हो पाये या न हो पाये। कृप्या कुछ उपाय बताये.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine − 2 =

Recent Articles