गले और छाती में जमा कफ (बलगम) का इलाज 5 आसान उपाय

Home Remedies - घरेलू नुस्खेगले और छाती में जमा कफ (बलगम) का इलाज 5 आसान उपाय

गले और छाती में कफ का इलाज और उपाय इन हिंदी: सर्दी जुकाम, वायरल बुखार, इन्फेक्शन और ठंड लगने के कारण अक्सर गले में कफ का बनना की शिकायत होने लगती है। लगातार नाक बहना, छाती (सीने) और गले में कुछ जमा हुआ महसूस होना, सांस लेने में तकलीफ होना, गले में खराश खिचखिच होना, छाती जाम होना, ये सब कफ के लक्षण होते है।बदलते मौसम में खांसी, जुकाम, बुखार जैसी बीमारियां होती रहती है। इससे गले में बलगम भी जम सकता है।

इससे केवल सांस लेने में तकलीफ नहीं होती, बल्कि अपने साथ ये और भी परेशानियां साथ लाती है. लोग इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए कई तरह की दवाओं और सिरप का सेवन करते हैं लेकिन इसका बहुत ज्यादा असर नहीं होता | इस खबर में हम आपको इस परेशानी से निजात पाने की तरकीब बताएंगे|

इसे अंग्रेजी में चेस्ट कंजेशन कहा जाता है जिसका मतलब होता है सीने में बलगम या अन्य कोई तरल पदार्थ जमा हो जाना। सामान्य स्तिथि में भी बलगम शरीर में जमा होता है लेकिन जब आपको सर्दी झुकाम या फ्लू आदि हो जाता है तो ऐसी स्तिथि में अत्यधिक मात्रा में बलगम जमा होने लगता है।  फेफड़ों में अधिक कफ जमा होने से खांसी और छाती में दर्द होने लगता है। 

गले की बलगम से छुटकारा पाने और बलगम वाली खांसी को दूर करने के लिए कुछ लोग दवा और सिरप का सहारा लेते है पर देसी इलाज और आयुर्वेदिक उपचार अपना कर आसान तरीके से कफ निकालने के घरेलू उपाय किये जा सकते है। आज इस लेख में हम जानेंगे गले और छाती में जमा कफ कैसे निकाले, natural ayurvedic home remedies (gharelu nuskhe) for cough balgam treatment in hindi.

वैसे तो कफ की समस्या ज्यादा गंभीर नहीं होती पर जब ये लम्बे समय तक रहे तो सांस से जुड़े रोग हो सकते है। अगर बलगम में खून के कुछ अंश दिखे तो तुरंत डॉक्टर से मिले और जाँच कराये ताकि किसी भी तरह की गंभीर बीमारी से बचा जा सके।

बलगम जमने के कारण

  • ज्यादा धूम्रपान करना
  • वायरल इन्फेक्शन होना
  • साइनस का रोग
  • सर्दी जुकाम और फ्लू

छाती में कफ के लक्षण

  1. सांस लेने और खांसने पर घरघराहट की आवाज आना
  2. गले में खराश रहना
  3. बलगम वाली खांसी होना
  4. सीने में जकड़न और दर्द महसूस होना
  5. लगातार छींक आना और सांस लेने में तकलीफ होना

कफ का इलाज घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक उपचार

Cough Ka ilaj Ke Gharelu Nuskhe Upay in Hindi

बलगम से छुटकारा पाने का सबसे अच्छा तरीका है इससे शरीर से बाहर निकालना क्योंकि बलगम निगलने से ये वापस शरीर में चली जाती है और बहती नाक को अंदर रखना परेशानी बढ़ा सकता है। आइये जाने घरेलू नुस्खे से कफ निकालने के उपाय कैसे करे।

  1. गले की बलगम का देसी इलाज करने के लिए दो कप पानी में 30 काली मिर्च पीस कर उबालें, जब पानी एक चौथाई रह जाये तब इसे छान कर इसमें 1 चम्मच शहद मिलाएं और सुबह शाम इसका सेवन करें। इस होम रेमेडीज से कफ वाली खांसी और कफ दोनों से छुटकारा मिलता है।
  2. लहसुन खाने से गले में जमा कफ बाहर निकलता है, इस desi nuskhe से टी. बी. के रोग में भी राहत मिलती है।
  3. अदरक छील कर इसका छोटा टुकड़ा मुंह में रख कर चूसने से कफ आसानी से बाहर निकल जाती है।
  4. छोटे बच्चे की छाती में जमा कफ (baby cough) निकालने के लिए गाय के घी बच्चे की छाती पर मले। इस उपाय से जमा हुआ बलगम बाहर निकल जाता है।
  5. एक चम्मच शहद और 2 चम्मच निम्बू का रस गर्म पानी में मिला कर पिए। इस उपाय से गला साफ़ होगा क्यूंकि नींबू बलगम को काटने का काम करेगा और शहद से गले को आराम मिलेगा।
  6. कफ का आयुर्वेदिक रामबाण इलाज, गले में बलगम, खांसी, छाले, खराश, जलन, दर्द, टॉन्सिल और गले की कोई भी समस्या हो कच्ची हल्दी का रस मुंह खोल कर गले में डालें और कुछ समय चुप बैठे। जैसे ही ये रस गले से नीचे उतरेगा परेशानी कम होने लगेगी। छोटे बच्चों को जब टॉन्सिल्स का दर्द हो तो ये उपाय जरूर करें। गले के रोग का उपचार के लिए ये अचूक दवा है।
  7. छोटे बच्चों की कफ का उपचार करने के लिए थोड़ा सा प्याज का रस ले और इसमें थोड़ी शक्कर मिला कर बच्चे को दे।

बलगम वाली खांसी का इलाज और घरेलू उपाय

  • बलगम वाली खांसी होने पर बार बार खांसने पर भी कफ बाहर नहीं निकल पाता और जब तक chest और गले की बलगम बाहर नहीं निकलती तब तो खांसी होती रहती है।
  • दो कप पानी में मुलहठी चूर्ण 5 ग्राम की मात्रा में डाल कर उबालें और जब पानी आधा कप रह जाये तब इसे छान ले। इस काढ़े को आधा सुबह और आधा शाम को पिए। 2 से 3 दिन ये उपाय करने पर कफ पतला हो कर आसानी से बाहर निकल जायेगा और खांसी भी ठीक होने लगेगी।
  • अनार का रस गर्म करके पीने से खांसी तुरंत ठीक हो जाती है।
  • कफ वाली खांसी का घरेलू उपचार में काली मिर्च दवा का काम करती है। काली मिर्च चूसने से खांसी में आराम मिलता है।

कफ को दूर करने के आसान उपाय

  • पानी ज्यादा पिए, शरीर से बलगम बाहर निकालने के लिए दिन भर में हर घंटे पानी पिए।
  • सीने, गले और नाक से बलगम तोड़ने के लिए भाप ले। ये बलगम खत्म करने का तरीका काफी आसान और फायदेमंद है।
  • Gale mein balgam ka ilaj, एक गिलास गर्म पानी में 1 चम्मच नमक मिला कर उससे गरारे करे। दिन में 2 से 3 बार ये उपाय करने पर नाक और गले में जमा बलगम बाहर निकलने लगती है।
  • बलगम बनने से रोकने के लिए डेयरी प्रोडक्टस का सेवन ना करे जैसे की चीज़, दूध, दही और आइसक्रीम। इसके इलावा ज्यादा तला हुआ खाना भी ना खाएं।
  • धूम्रपान ना करे, धुँआ शरीर में बलगम को बढ़ाता है और शरीर का जल्दी ठीक होने की क्षमता को कम करता है।
  • मसालेदार खाना नाक की बलगम तोड़ता है और इसे आसानी से बहने देता है।
  • गला खराब होने पर उपाय
  • दादी माँ के घरेलु नुस्खे
  • बाबा रामदेव आयुर्वेदिक पतंजलि की दवा

दोस्तों कफ का इलाज और आयुर्वेदिक उपचार, Cough Balgam Ka ilaj Upay in hindi का ये लेख कैसा लगा हमें बताये और अगर आपके पास गले और छाती में जमा बलगम निकालने के उपाय और कफ वाली खांसी दूर करने के घरेलू नुस्खे से जुड़े सुझाव है तो हमारे साथ साँझा करे|

हम आशा करते है की sehatdoctor के द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और जिस भी परेशानी के नुस्खे आपने पढ़ें है उस परेशानी में भी आपको आराम प्राप्त हुआ होगा| किसी भी अन्य बीमारी या परेशानी के लिए हेल्थ टिप्स इन हिंदी (health tips in hindi) और घरेलु नुस्खे इन हिंदी (gharelu nuskhe in hindi) जरूर पढ़ें और लाभ प्राप्त करें| आपका अनुभव कैसा रहा इसकी जानकारी कमेंट करके जरूर बताए |

Recent Articles

48 टिप्पणी

  1. मेरे साथ ये समस्या है कि मैं बलगम को खास के निकाल नहीं पाता बस नाक छिड़क के ही निकाल पाता हूँ और जिसके वजह से बलगम गले में ही जमा रहता है.

  2. एक दिन मेरे बहुत तेज़ पसीना आ रहा था और मुझे प्यास लगी तो मैं उसी वक़्त बहुत ठंडा पानी पी गया अब मेरा गला जाम हो गया और अचानक बहुत तेज़ खांसी भी चलती है क्या करू.

  3. Jukham hote hai to cough ki problem bahut ho jati hai aur jukham thik ho jane ke bad bhi gale me cough halka halka banta rahta hai usko nikalne ka pryas karte hai to nikalta nahi hai aur kabhi kabhi nikalta hai to larva ka jaisa nikalta hai ye samasya karib 2 years se hai kripya kar ke koi achhi dawa bataye sir bahut preshan hai.

  4. मुझे दिवाली से एक महिने पहले से कफ और सांस लेने में बहुत तकलीफ होती है और ट्रेवल के दौरान तो बहुत ही, इसकी वजह से मैं कहीं घर के बाहर भी नहीं निकल पाता हूँ कृपया इसका इलाज बताये.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recent Articles