सफेद पानी लिकोरिया का इलाज 10 आसान घरेलू उपाय और नुस्खे

Home Remedies - घरेलू नुस्खेसफेद पानी लिकोरिया का इलाज 10 आसान घरेलू उपाय और नुस्खे

लिकोरिया (safed pani ka ilaj) सफेद पानी का इलाज के घरेलू उपाय और नुस्खे: लिकोरिया को white discharge श्वेत प्रदर और सफेद पानी के नाम से भी जानते है जो की महिलाओं में होने वाली एक बीमारी है। इस बीमारी में लड़की के गुप्त अंग से सफ़ेद रंग का चिपचिपा और बदबूदार पानी आता है जिस कारण बॉडी में इंफेक्शन होने का खतरा अधिक होता है। इस रोग के उपचार के लिए आप पतंजलि से आयुर्वेदिक दवा ले सकते है या डॉक्टर की सलाह से अंग्रेजी मेडिसिन भी ले सकते है। 

दवा के इलावा कुछ आसान देसी तरीके अपना कर भी इस समस्या से छुटकारा पाने में मदद मिलती है। आज हम इस लेख में सफ़ेद पानी की समस्या के समाधान के लिए घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक उपचार जानेंगे,सफेद पानी का इलाज gharelu nuskhe for likoria in hindi.

ल्यूकोरिया सामान्य रूप से पांच प्रकार का होता है| इसका पहला प्रकार सामान्य होता है जो पीरियड के बाद आता है और चला जाता है| दूसरा प्रकार यौन संबंध से होने वाला इन्फेक्शन के कारण होता है| तीसरा प्रकार बच्चेदानी के अन्दर दाना होने के कारण होता है |चौथा प्रकार बच्चेदानी के कैंसर के कारण होता है| इसका आखिरी प्रकार बच्चेदानी के मुंह में होने वाली लाली की वजह से होती है|वैसे तो अपने शरीर के सभी अंग को साफ, स्वच्छ रखने से इस समस्या से बचा सकता है। लेकिन फिर भी अगर सफेद पानी जाने व ल्यूकोरिया की समस्या हो गई है, तो इन घरेलू उपाय को अपनाकर इससे निजात पा सकते हैं|

ल्यूकोरिया का सबसे बड़ा कारण ठीक से सफाई न होना है। अत: योनि की सफाई और उसे सूखा रखना बेहद जरूरी है, अन्यथा संक्रमण फैलने से यह समस्या हो सकती है।लिकोरिया का रोग किसी भी शादीशुदा महिला और लड़की को हो सकती है पर ज्यादातर ये समस्या शादीशुदा महिलाओं में ही होती है। प्रेगनेंसी के दौरान भी कई बार गर्भवती महिलाओं को लिकोरिया की समस्या से जूझना पड़ता है।

लिकोरिया होने का कारण

  1. महिला पुरुष में आपसी मेल अधिक होना
  2. यूरिन में इंफेक्शन की समस्या होना
  3. गर्भपात बार बार करवाना
  4. पेशाब करने वाली जगह की सफाई ना करना

लिकोरिया के लक्षण

  1. गुप्तांग पर खुजली होना
  2. कमर दर्द करना
  3. चक्कर आना
  4. हाथों और पैरों में दर्द करना
  5. ज्यादा कमजोरी आना
  6. आँखो के नीचे काले घेरे आना

सफेद पानी का इलाज (safed pani ka ilaj) के घरेलू उपाय और नुस्खे

Gharelu nuskhe for likoria in hindi

  1. शहद 1 चम्मच ले और इसमें 1 चम्मच प्याज का रस मिलाकर इसका सेवन करें। नियमित रूप से ये उपाय करने पर लिकोरिया की समस्या दूर होने लगेगी।
  2. मक्खन या फिर घी के साथ 1 पक्का हुआ केला खाएं। इस उपाय को दिन में 2 बार कर सकते है। इससे सफ़ेद पानी के रोग से राहत मिलती है।
  3. पक्का हुआ केला बीच से काट कर इसमें कच्ची फिटकरी 1 ग्राम की मात्रा में डाल कर खाए। इस उपाय को 1 हफ्ता रोजाना करने से likoria problem दूर होने लगेगी।
  4. शहद 2 चम्मच ले और इसमें 1 चम्मच आंवला पाउडर मिलाकर इसका सेवन करने से सफ़ेद पानी को रोकने में मदद मिलती है।
  5. पेशाब वाली जगह पर खुजली और बदबू की समस्या हो तो फिटकरी वाले पानी से दिन में दो बार इस जगह की सफाई करें।
  6. सफेद पानी का इलाज के लिए 1 लीटर पानी में 100 ग्राम भिंडी 15 मिनट तक उबाल ले। अब इस पानी को ठंडा हो जाने पर छान लें फिर शहद मिलाकर सेवन करें। कुछ दिन नियमित रूप से इस घरेलू नुस्खे को करने पर लिकोरिया से राहत मिलती है।
  7. गुलाब के पत्ते पीस कर 2 बार दिन में इसका आधा चम्मच दूध के साथ उपयोग करें। इस नुस्खे से भी सफेद पानी के रोग में राहत मिलती है।
  8. श्वेत प्रदर की समस्या में हर रोज भुने चने खाना चाहिए। इसके साथ साथ डाइट में भी ऐसे फूड खाये जिससे शरीर को जरूरी पोषण मिल सके।
  9. इस रोग में खुजली से राहत के लिए अमरूद के पत्ते आधा घंटा पानी में उबाल ले और ठंडा होने पर छान ले। अब इस पानी से 2 बार दिन में अपने गुप्त जगह की सफाई करें।
  10. तुलसी का रस 1 चम्मच ले और 1 चम्मच शहद में मिलाकर सेवन करने से भी राहत मिलती है।

लिकोरिया का आयुर्वेदिक उपचार

  1. नीम की छाल सुखाकर पीस लें और पाउडर बना ले। अब शहद में इस पाउडर को मिलाकर दिन में 2 बार इसका उपयोग करें। इससे खून आना रुकेगा।
  2. सफेद पानी का इलाज के लिए अशोक छाल, इलायची के बीज, दालचीनी और सफेद जीरा पानी में उबालकर उसका काढ़ा बना लें और ठंडा हो जाने के बाद छान ले। इस काढ़े को दिन में 2-3 बार पीने से खूनी लिकोरिया में भी राहत मिलती है।
  3. लिकोरिया का बाबा रामदेव इलाज में शीशम के पत्तों का औषधि बताया गया है। शीशम के 8-10 पीस ले और पानी में मिलाकर इसका सेवन करें। इस उपाय के लिए हर बार ताजा पत्ते ही प्रयोग में लाये। अगर किसी वजह से ताजे पत्ते ना मिले तो पत्तों को सुखाकर उसका पाउडर बना ले फिर दवा के जैसे सेवन करे।
  4. पतंजलि से भी इस रोग की आयुर्वेदिक दवा ले सकते है। दवा लेने से पहले उसे लेने का सही तरीका और मात्रा के बारे में विस्तार से जान ले।

सफेद पानी रोकने के उपाय

Recent Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recent Articles