थायराइड का इलाज जड़ से करने के 10 आसान उपाय और घरेलू नुस्खे

Home Remedies - घरेलू नुस्खेथायराइड का इलाज जड़ से करने के 10 आसान उपाय और घरेलू...

Table of Contents

थायराइड का इलाज इन हिंदी: थायराइड गले की ग्रंथि है जिससे थय्रोक्सिन हार्मोन बनता है। इस हार्मोन का संतुलन जब बिगड़ने लगता है तब ये एक रोग बन जाता है। ये हार्मोंस जब कम हो जाते है तब शरीर का मेटाबॉलिज्म काफी तेज होने लगता है और शरीर की ऊर्जा भी जल्दी खत्म हो जाती है और जब ये हार्मोंस अधिक हो जाए तो मेटाबॉलिज्म रेट काफी धीरे होने लगता है, जिस वजह से शरीर में ऊर्जा कम बनती है और सुस्ती, थकान बढ़ने लगती है। ये रोग महिलाओं में अधिक होता है। इसके उपचार के लिए लोग कई प्रकार की दवा का सेवन भी करते है। 

अगर आप थायराइड जड़ से खत्म करने के उपाय करना चाहते है तो यहाँ लिखे घरेलू तरीके और देसी आयुर्वेदिक नुस्खे पढ़े, natural home remedies for thyroid treatment tips in hindi.

विटामिन डी की कमी से थायराइड की समस्या हो सकती है। शरीर इसे केवल सूरज के संपर्क में आने पर ही पा सकता है, इसलिए रोजाना 15 मिनट धूप लें। इससे रोगों से लड़ने की क्षमता भी बेहतर होगी। कुछ खाद्य पदार्थ जो विटामिन डी से भरपूर होते हैं, वे हैं डेयरी उत्पाद, तिल, संतरे का रस और अंडे की जर्दी। यदि शरीर में विटामिन डी का स्तर बहुत कम है, तो सप्लीमेंट्स आवश्यक होगा।

थायराइड ग्रंथि के बढ़ने पर कई प्रकार की समस्याएं आ सकती है। थायराइड कोलेस्ट्रॉल, दिल, हड्डियों और मांसपेशियों पर भी असर डालती है। बच्चों में ये रोग होने पर शरीर फैलना और लंबाई बढ़नी रुकना जैसी समस्याएं आने लगती है। थायराइड दो तरह का होता है – हाइपरथायराइड और हाइपोथायराइड। हाइपरथायराइड होने पर शरीर में थायराइड हार्मोंस कम होने लगते है और हाइपोथायराइड में हार्मोंस बढ़ने लगते है।

थायराइड ग्रंथि का क्या काम होता है

थायराइड हमारे शरीर के दूसरे अंगों को सही तरीके से काम करने में मदद करता है और जरूरत के मुताबिक हार्मोन बनाने के लिए थायराइड आयोडीन प्रयोग करता है और शरीर के दूसरे अंगों में पहुँचाता है। ज़रूरत से अधिक या कम हार्मोन बनने पर थायराइड के इलाज की ज़रूरत है।

  • शरीर का तापमान कंट्रोल करने में मदद करती है।
  • जहरीले पदार्थ शरीर से बाहर करने में मदद करती है।
  • बच्चों के मानसिक और शारीरिक विकास में थायराइड ग्रंथि का अहम योगदान है।

पुरुषों और महिलाओं में थायराइड लक्षण

  • थायराइड होने पर व्यक्ति का मन किसी काम में नहीं लगता और वह धीरे धीरे डिप्रेशन में आ जाता है। सोचने समझने की ताकत और याददाश्त कमजोर होने लगती है। सही समय पर अगर इस रोग को पहचान कर उपचार किया जाए तो इस बीमारी को बढ़ने से रोक सकते है।

हाइपर थायराइड के लक्षण

  • वजन कम होना
  • हार्ट बीट तेज होना
  • पसीना ज़्यादा आना
  • हाथ और पैरों में कपकपी होना

हाइपो थायराइड के लक्षण

  • वजन बढ़ना
  • कब्ज रहना
  • भूख कम लगना
  • स्किन रूखी होना
  • ठंड ज्यादा लगना
  • आवाज़ में भारीपन आना
  • आँख और चेहरे पर सूजन
  • सिर, गर्दन और जोड़ों में दर्द होना

थायराइड होने का कारण 

  • अधिक तनाव लेने से भी थायराइड ग्रंथि पर बुरा प्रभाव पड़ता है।
  • कई बार दवाओं (मेडिसिन) के साइड इफेक्ट से भी ये बीमारी हो जाती है।
  • भोजन में आयोडीन कम या जादा प्रयोग करने से भी थायराइड की समस्या हो जाती है।
  • परिवार में अगर किसी को थाइरोइड हो तो दूसरे सदस्यों को भी थाइरोइड होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • प्रेगनेंसी के समय शरीर में हार्मोन में बदलाव आते है, गर्भवती महिला को थायराइड होने की संभावना अधिक होती है।
  • प्रोटीन पाउडर, सप्लीमेंट्स या कैप्सूल के रूप में सोया के प्रोडक्ट्स के अधिक सेवन से थायराइड होने की संभावना बढ़ती है।
  • प्रदूषण का बुरा असर हमारी हेल्थ पर पड़ता है जिस वजह से सांस के रोग हो जाते है। प्रदूषण से हवा में मौजूद जहरीले कण थायराइड ग्रंथि को भी नुकसान करते है।

थायराइड टेस्ट कैसे करते है

  • आपको अगर थायराइड के लक्षण दिख रहे है तो पहले इसका टेस्ट करवाए। टी3, टी4, टीएसएच टेस्ट कराने से शरीर में थायराइड लेवल चेक किया जाता है।

थायराइड का इलाज के घरेलू उपाय और देसी नुस्खे

Thyroid Treatment Home Remedies in Hindi

  1. हल्दी दूध: थायराइड का इलाज के लिए आप रोजाना दूध में हल्दी को पका कर पिए। अगर हल्दी वाला दूध न पिया जाए तो हल्दी को भूनकर इसका सेवन करें।
  2. लौकी का जूस: रोजाना सुबह खाली पेट लौकी का जूस पीने से भी थायराइड खत्म करने में मदद मिलती है। जूस पीने के आधे घंटे तक कुछ खाए पिए नहीं।
  3. तुलसी और एलोवेरा: दो चम्मच तुलसी के रस में आधा चम्मच एलोवेरा जूस मिला कर सेवन करना भी इस बीमारी से छुटकारा पाने का उत्तम उपाय है।
  4. लाल प्याज: प्याज को बीच से काट कर दो टुकड़े कर ले और रात को सोने से पहले थायराइड ग्रंथि के आस पास मसाज करे। इसके बाद गर्दन से प्याज का रस को धोये नहीं।
  5. हरा धनिया: थायराइड का इलाज करने के लिए हरा धनिया पीस कर चटनी बनाये और एक गिलास पानी में एक 1 चम्मच चटनी घोल कर पिए। इस उपाय को जब भी करे ताजी चटनी बना कर ही सेवन करें। ऐसा धनिया ले जिसकी सुगंध अच्छी हो। इस देसी नुस्खे को नियमित रूप और सही तरीके से करने पर थायराइड कंट्रोल में रहेगा।
  6. काली मिर्च: काली मिर्च थायराइड का उपचार में काफी फायदेमंद है। किसी भी तरीके से ले आप काली मिर्च का सेवन करे आप को फायदा करेगी।
  7. बादाम और अखरोट: बादाम और अखरोट में सेलेनियम तत्व मौजूद होता है जो थायराइड का इलाज में फायदा करता है। इसके सेवन से गले की सूजन से भी आराम मिलता है। हाइपो थायराइड में ये उपाय ज्यादा फायदा करता है।
  8. अश्वगंधा: रात को सोते वक़्त एक चम्मच अश्वगंधा चूर्ण गाय के गुनगुने दूध के साथ सेवन करे।
  9. एक्सरसाइज: थायराइड का इलाज में रोजाना आधा घंटा एक्सरसाइज करें, इससे थायराइड बढ़ता नहीं है और कंट्रोल में रहता है।  .
  10. बाबा रामदेव मेडिसिन: थायराइड से छुटकारा पाने के लिए अगर आप बाबा रामदेव की बताई आयुर्वेदिक दवा लेना चाहते है तो दिव्या कांचनार गुग्गुलु ले। ये दवा आपको किसी भी पतंजलि स्टोर से मिल जाएगी।

थाइरोइड में क्या खाएं

  • थायराइड से प्रभावित रोगी को अपनी डाइट में विटामिन ए अधिक मात्रा में लेना चाहिए। हरी सब्जियां और गाजर में विटामिन ए जादा होता है जो थायराइड को कंट्रोल करने में मदद करता है।
  • थायराइड से प्रभावित व्यक्ति को प्रतिदिन तीन से चार लीटर पानी पीना चाहिए, ये शरीर से विषैले पदार्थ निकालने में काफी मदद करता है। इसके अलावा एक से दो गिलास फलों का जूस भी पिए। हफ्ते में एक दिन आप नारियल पानी पिए तो अच्छा है।
  • आयोडीन थायराइड कंट्रोल करने में काफी असरदार है पर जितना हो सके नेचुरल आयोडीन का सेवन करें, जैसे की टमाटर, प्याज और लहसुन।

थायराइड में क्या नहीं खाना चाहिए

  • सिगरेट, तम्बाकू और किसी नशीले पदार्थों के सेवन से बचे।
  • बाजार में उपलब्ध सफेद नमक का थायराइड में परहेज करें, खाने में सिर्फ सेंधा या काला नमक ही प्रयोग करें।

थायराइड ट्रीटमेंट टिप्स इन हिन्दी

  • महिलाओं में पुरुषों की तुलना में थायराइड अधिक होता है। थायराइड होने पर किसी प्रकार की लापरवाही न करते हुए तुरंत इलाज शुरू करें।
  • थायराइड के रोगी को हर तीन महीने में इसकी जांच करवानी चाहिए और टेस्ट करवाने से पहले इस बात का विशेष ध्यान रहे की थायराइड टेस्ट के 12 घंटे पहले तक कुछ खाए पिए नहीं।
  • शादीशुदा महिला अगर थायराइड से प्रभावित है और वो गर्भ धारण करने की सोच रहे है तो पहले डॉक्टर से सलाह ज़रूर ले और थायराइड कंट्रोल होने के बाद ही प्रेगनेंसी का सोचें।

योग और प्राणायाम से थायराइड का इलाज

नियमित रूप से योग और प्राणायाम कर के काफी हद तक थायराइड को ठीक कर सकते है। योग के अलावा आप मेडिटेशन भी कर सकते है।  थायराइड ट्रीटमेंट योग से करने के लिए baba ramdev के बताए उज्जायी प्राणायाम योगासन कर सकते है।

  • मत्स्यासन
  • विपरितकरनी
  • उज्जायी प्राणायाम

थायराइड जड़ से खत्म करने के उपाय होम्योपैथिक ट्रीटमेंट से

  • थायराइड का ट्रीटमेंट होम्योपैथिक दवाओं से भी कर सकते है इसके लिए आप किसी होम्योपैथिक डॉक्टर से मिले वो आप की दिनचर्या और बीमारी को विस्तार से जान कर आप को दवा देंगे। कोई भी दवा लेने से पहले उसे लेने का सही तरीका, सही मात्रा और परहेज की जानकारी जरूर ले।
  • जाने तनाव दूर करने के तरीके

एक्यूप्रेशर से थायराइड कंट्रोल कैसे करे

  • हमारे दोनों पैरों और हाथों पर शरीर के सभी अंगो के कुछ पॉइंट्स होते है। एक्यूप्रेशर ट्रीटमेंट में इन पॉइंट्स पर दबाव डाल कर इलाज किया जाता है, उसके लिए कौन से अंग का बिंदु कहाँ है और उस पर कैसे दबाव डालना है इसकी जानकारी होना जरूरी है। थायराइड के इलाज के लिए आप को दोनों पैरों और हाथों के अंगूठे के नीचे उठे हुए भाग पर दबाव देना है। अगर आप एक्यूप्रेशर से उपचार करना चाहते है तो पहले किसी एक्सपर्ट की देखरेख में इसे करना सीखे तो खुद करें।
  • थायराइड एक हफ्ते या महीने में ठीक होने वाला रोग नहीं है, इसलिए जरुरी है की इसके उपचार के लिए आप पूरा परहेज और उपाय करें।

दोस्तों थायराइड का इलाज के घरेलू उपाय, Home Remedies for Thyroid Treatment in Hindi का ये लेख आप को कैसा लगा हमें बताये और अगर आप के पास इस रोग को कंट्रोल करने या थायराइड जड़ से खत्म करने के देसी नुस्खे, आयुर्वेदिक तरीके है तो हमारे साथ शेयर करे।

हम आशा करते है की sehatdoctor के द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और जिस भी परेशानी के नुस्खे आपने पढ़ें है उस परेशानी में भी आपको आराम प्राप्त हुआ होगा| किसी भी अन्य बीमारी या परेशानी के लिए हेल्थ टिप्स इन हिंदी (health tips in hindi) और घरेलु नुस्खे इन हिंदी (gharelu nuskhe in hindi) जरूर पढ़ें और लाभ प्राप्त करें| आपका अनुभव कैसा रहा इसकी जानकारी कमेंट करके जरूर बताए |

Recent Articles

85 टिप्पणी

  1. Meri umr 60 vrsh hain. Kafi samay se khana gitakne me dikkat hoti hain. Family history main diabetes hone ke karan maine sugar bilkul chod di. Achanak ek din ji ghabrane laga pasine pasine ho gya. Raat ka samay tha turant emergency main dikhaya. Mujhe lga ki ho sakta hain ki sugar kam ho gyi ho. Sugar turant khai hospital jane se pahle. Ecg sub normal aaya. Doctor ne kha khuch bhi nahi hain. Sugar random 195 mg aayi.

    Kisi ne bhi thyriod test nahi karvaya. Mujhe lagta hain kahi ye thyroid ke karan nahi ho. Sab ne ghabrat ki dawai, acidity ki medicine de di. Krpiya mujhe marg darshan de.

    • जैसा की आप कह रहे है डॉक्टर कह रहे है कुछ नहीं है तो आप को घबराने की जरुरत नहीं है, फिर भी मन की शंका दूर करने के लिए आप हेल्थ चेकउप करवा सकते है और अगर ये परेशानी फिर से होती है तो किसी दूसरे डॉक्टर से मिले और चेकउप करवाये।

  2. नमस्कार जी,
    मेरी उम्र 30 साल है। मेरा वजन 60 kg है। मेरा वजन नहीं बढ़ रहा और अब कमजोरी भी महसूस होती है। प्लीज़ उपाय बताएं

    • थाइरोइड के इलावा आप को कोलेस्ट्रॉल यूरिक एसिड और शुगर भी है, इन सब रोगों के इलाज में कई बातों का ध्यान रखना जरुरी होता है। दोस्त आप से यही सलाह है की आप आयुर्वेदिक चिकित्सक से मिले ताकि सही तरीके से सही दिशा में उपचार हो सके।

    • वेट लॉस के लिए वैसे तो बहुत से उपाय किये जा सकते है पर थायराइड में वजन कम करने के लिए किन बातों का ख्याल रखना चाहिए इसकी जानकारी के लिए हम जल्दी ही एक लेख साँझा करेंगे।

    • घरेलू नुस्खे और उपाय से थायराइड का इलाज कर सकते है, थायराइड में प्रेगनेंसी प्लान करने से पहले डॉक्टर से मिल कर सलाह जरूर ले.