गिलोय के 10 अचूक फायदे

Home Remedies - घरेलू नुस्खे गिलोय के 10 अचूक फायदे

गिलोय के फायदे (giloy benefits in hindi ): आजकल लोगों का रुझान घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक तरीके से उपचार करने में बढ़ रहा है और ऐसे में गिलोय एक ऐसी औषधि कई प्रकार के बिमारियों के इलाज में उपयोग होती है। गिलोय एक बेल होती है जो अक्सर पेड़ों पर लिपटी नजर आती है। इसकी बेल के पत्ते पान के पत्ते जेसे होते है। ये बेल आप अपने घर पर भी उगा सकते है, इसे गमले में लगा कर रस्सी से बाँध दे। आज हम इस लेख में जानेंगे गिलोय कैसे लाभ करती है.

गिलोय के फायदे, Giloy ke fayde in hindi

 

गिलोय से रोगों का रामबाण इलाज

  1. ये आयुर्वेद की उत्तम औषधि है इसका रस अनेक प्रकार की बीमारियां ठीक करता है।
  2. बेल का रस, इसके पत्ते और इसकी जड़ हर चीज उपयोगी होती है। इसके ताने में स्टार्च व पत्तों में प्रोटीन, कैल्शियम और फास्फोरस पाया जाता है।
  3. गिलोय में एंटीबायोटिक गुण होते है जो शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ाता है।
  4. इस बेल का एक छोटा सा टुकड़ा जमीन में डाल दे तो ये पौधा बन जाता है, ये गमले में भी आसानी से उगाई जा सकती है।

 

गिलोय के फायदे और उपयोग का तरीका

Giloy benifits in hindi

 

1. खून साफ करे

  • गिलोय की बेल का रस पानी के साथ सुबह खाली पेट पीने से शरीर में खून साफ रहेगा और कभी खून ब्लड से जुड़ी कोई बीमारी नहीं होगी।

 

2. कैंसर

  • गिलोय की जड़ों में काफी असरदार एंटीबायोटिक तत्व मौजूद होते है जो कैंसर से बचाव और उसके उपचार में उपयोगी है। गिलोय, तुलसी, 4-5 नीम के पत्ते और गेंहू के ज्वारे, ये सब मिला कर इनका रास पीने से कैंसर जैसे गंभीर रोग में भी फायदा मिलता है।

 

3. गठिया

  • शहद के साथ गिलोय का चूर्ण कफ, सोंठ के साथ गिलोय के सेवन से गठिया जैसे रोग में काफी आराम मिलता है।

 

4. दिल सम्बंधित समस्याएं

  • हाई कोलेस्ट्रॉल कम करने और खून में शर्करा का स्तर नियंत्रित रखने में गिलोय उपयोगी होती है व दिल से जुड़े रोगों से बचने में भी ये उपयोगी है।

 

5. कमजोरी दूर करे

अगर आप अपने शरीर में कमजोरी महसूस करते है तो हफ्ते में 3 दिन गिलोय का प्रयोग करे और साथ में थोड़ा शहद भी खाए। इस उपाय से कुछ ही दिनों में शरीर चुस्त और फिट दिखने लगेगा।

 

6. खून की कमी

  • गिलोय शरीर की रोगों से लड़ने की शक्ति को बढ़ाता है व खून की कमी को भी दूर करता है। शरीर में ब्लड की कमी होने पर शहद में गिलोय का रस मिला कर सेवन करे।

 

7. डेंगू में रामबाण इलाज

  • गिलोय बेल का 6 इंच का टुकड़ा, तुलसी के 4-5 पत्ते, पपीते के 3 पत्ते, थोड़ा एलोवेरा और गेंहू के ज्वारे। इन सब को पीस कर रस निकाल कर पीने से शरीर में प्लटलेट तेजी से बढ़ने लगते है। डेंगू और चिकनगुनिया के रोग में ये उपाय रामबाण काम करते है।

 

8. बुखार

  1. बुखार दूर करने में गिलोय एक अच्छी आयुर्वेदिक औषधि है। शहद के साथ गिलोय के रस का सेवन करने से बुखार जल्दी उतरने लगता है। तेज बुखार के साथ अगर खाँसी भी है तो इसमें पीपल का चूर्ण भी मिलाए।
  2. मलेरिया और टाइफाइड के उपचार में भी गिलोय फायदेमंद है।
  3. थोड़ी खांड गिलोय के रस में मिला कर सेवन करने से पित के बुखार में आराम मिलता है। गिलोय का रस और शहद मिला कर पीने से पित का बढ़ना रुकता है और साथ ही कब्ज भी दूर होती है।

 

9. खुजली

  • खून साफ ना होना खुजली होने का कारण है। अगर खून में जमा विषैले पदार्थ निकल जाए तो खुजली की समस्या भी दूर हो जाएगी।
  • शहद के साथ गिलोय का जूस पिए और हल्दी के साथ गिलोय के पत्ते पीस कर खुजली वाली जगह पर लगाए।

 

10. उल्टी

  • गर्मी के मौसम में अक्सर उल्टी आने की शिकायत होती है। अगर उल्टी हो तो शहद या मिश्री गिलोय के रस में मिला कर दिन में दो बार पिए।

 

11. पीलिया

  • पीलिया ठीक करने के लिए 1 चम्मच त्रिफला चूर्ण, 1 चम्मच गिलोय चूर्ण और काली मिर्च शहद में मिला कर चाट ले। 1 गिलास मठे में 1 चम्मच गिलोय के पत्तों का रस मिला कर सुबह सुबह पीने से पीलिया ठीक होता है।

 

12. टीबी का रोग

टीबी के मरीज को शहद और इलायची के साथ गिलोय के रस का सेवन करना चाहिए।

 

चेहरा सुंदर बनाने के लिए गिलोय

  • चेहरे पर झुर्रियां और पिंपल्स है तो गिलोय पीस कर इसका लेप चेहरे पर लगाए और 15 मिनट बाद चेहरा ठंडे पानी से धो ले। इस उपाय से चेहरे के दाग धब्बे और झाइयां दूर होती है। गिलोय का पानी भी पिए इससे खून साफ होगा और पिंपल्स नहीं निकलेंगे।
  • फटी त्वचा ठीक करने के लिए दूध में गिलोय का तेल मिला कर गरम कर ले फिर इसे ठंडा होने पर अपनी त्वचा पर लगाए। इससे त्वचा साफ और मुलायम होती है।
  • बरसात के मौसम में 1 चम्मच गिलोय का रस प्रतिदिन पीने से किसी भी रोग की सम्भावना 50% तक कम हो जाती है।

 

हम आशा करते है की sehatdoctor के द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और जिस भी परेशानी के नुस्खे आपने पढ़ें है उस परेशानी में भी आपको आराम प्राप्त हुआ होगा| किसी भी अन्य बीमारी या परेशानी के लिए हेल्थ टिप्स इन हिंदी ( health tips in hindi ) और घरेलु नुस्खे इन हिंदी ( gharelu nuskhe in hindi ) जरूर पढ़ें और लाभ प्राप्त करें| आपका अनुभव कैसा रहा इसकी जानकारी कमेंट करके जरूर बताए |

Recent Articles

सौंफ के फायदे,उपयोग और रेसिपी (Fennel seeds in hindi)

सौंफ (Fennel seeds in hindi) शायद ही कोई इंसान हो जिसने सौंफ का इस्तेमाल ना किया हो| सौंफ में सोडियम, डाइटरी फाइबर, प्रोटीन, विटामिन-ए, विटामिन-सी,...

बाजरे के रामबाण फायदे,उपयोग और रेसिपी (millet in hindi)

बाजरा (millet in hindi ) बाजरे में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, डाइटरी फाइबर, फास्फोरस, मैग्नीशियम, फोलेट, आयरन इत्यादि पोषक तत्व और विटामिन्स प्रचुर मात्रा में पाए जाते...

ओरेगेनो के अचूक फायदे,उपयोग और रेसिपी (Oregano in Hindi)

ओरेगेनो (Oregano in Hindi) ओरेगेनो का उपयोग हम व्यंजनों के साथ साथ घरेलू उपायों में भी करते है| ओरेगेनो को हम हिंदी में आजवाइन की...

तिल के अचूक फायदे,उपयोग और रेसिपी (sesame seeds in hindi)

तिल (sesame seeds in hindi) भारत वर्ष में तिल का बहुत अधिक महत्व होते है, कुछ प्रमुख त्योहारो पर तिल से बानी सामग्री का पूजन...

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

six − two =