छाती और गले में जमा बलगम (कफ) का इलाज 7 आसान उपाय

Home Remedies - घरेलू नुस्खेछाती और गले में जमा बलगम (कफ) का इलाज 7 आसान उपाय

छाती और गले में जमा बलगम का इलाज और उपाय: वायरल बुखार, ठंड लगना, सर्दी जुकाम और इन्फेक्शन की वजह से अक्सर गले और छाती में बलगम जमने की समस्या होती रहती है। नाक का लगातार बहना, सांस लेने में दिक्कत आना, गले और छाती में कुछ जमा हुआ महसूस होना, गले में खिचखिच होना, खराश रहना ये सब बलगम के लक्षण में एक है।

कुछ लोग बलगम का इलाज और बलगम की समस्या के समाधान के लिए दवा का सेवन करते है पर घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक इलाज से आसान तरीके से बलगम निकालने के उपाय कर सकते है। इस लेख में आज हम छाती और गले में जमा बलगम कैसे निकाले इस बारे में जानेंगे, बलगम का इलाज ,gharelu nuskhe for cough in hindi.

आप जब भी सांस लेते हैं तो धूल, मिट्टी और बैक्टीरिया बलगम में फ्लाईपेपर की तरह फंस जाते हैं, और बलगम इस तरह इन बैक्टीरिया को बॉडी से बाहर निकाल देता है। कफ भी एक प्रकार का बलगम है जो फेफड़ों और निचले श्वसन तंत्र में उत्पन्न होता है। बलगम बीमार की गंभीरता और स्वास्थ्य की स्थिति पर निर्भर करता है। हालांकि एक स्वस्थ शरीर के लिए कुछ बलगम जरूरी है, लेकिन बहुत अधिक बलगम आपको परेशान कर सकता है। 

आमतौर पर खांसी वायरस के कारण होती है। डॉक्टर बलगम वाली खांसी के लक्षणों को ठीक करने के लिए कुछ ज्यादा नहीं बताते हैं लेकिन आप घर पर ही प्राकृतिक चीजों एवं नुस्खों से इसे ठीक कर सकते हैं।

बलगम की समस्या वैसे तो ज्यादा गंभीर नहीं है पर जब काफी दिनों तक ये परेशानी रहे तो सांस लेने में तकलीफ महसूस होने लगती है। बलगम में अगर खून के दिखे तो बिना लापरवाही किये डॉक्टर से मिले ताकि किसी भी प्रकार के गंभीर रोग से बच सकें।

 बलगम जमने का कारण

  • धूम्रपान ज्यादा करना
  • वायरल इन्फेक्शन
  • साइनस की बीमारी
  • फ्लू और सर्दी जुकाम

छाती में बलगम के लक्षण

  1. खांसने पर घरघराहट और सांस लेने में तकलीफ होना
  2. गले में खराश और खांसी रहना
  3. कफ वाली खांसी होना
  4. छाती में दर्द और जकड़न महसूस होना
  5. लगातार छींक आना

बलगम का इलाज और घरेलू उपाय

Gharelu Nuskhe for Cough in Hindi

बलगम से निजात पाने का सबसे बढ़िया तरीका है इसे बाहर निकालना क्योंकि इसे वापिस निगलने से फिर से छाती में चली जाती है और साथ ही बहती हुई नाक अंदर रखना भी आपकी परेशानी को बढ़ा सकता है। आइये जाने घरेलू नुस्खे से बलगम निकालने के उपाय।

  1. बलगम का इलाज के लिए पानी 2 कप ले और इसमें 30 दाने काली मिर्च के पीस कर उबाल ले। जब पानी का हिस्सा एक चौथाई बच जाये तो इस को छान कर एक चम्मच शहद मिला ले फिर सुबह शाम दिन में 2 बार इसका सेवन करें। इस उपाय से बलगम और बलगम वाली खांसी दोनों से राहत मिलती है।
  2. लहसुन के सेवन से भी गले में जमा हुआ बलगम बाहर निकालने में मदद मिलती है। इस नुस्खे से टी. बी. की बीमारी से भी निजात मिलती है।
  3. एक छोटा टुकड़ा अदरक का छील कर मुंह में रख ले फिर इसे चूसे। इससे से कफ आसानी से निकल जाती है।
  4. अगर छोटे बच्चे की छाती में जमा बलगम दूर करनी है तो गाय के घी से बच्चे की छाती पर हल्की मालिश करें। इससे जमा हुआ कफ बाहर निकलने लगता है।
  5. निम्बू का रस 2 चम्मच और शहद 1 चम्मच हल्के गर्म पानी में मिला कर सेवन करें। इस नुस्खे से गला साफ होने लगेगा क्योंकि नींबू कफ को हटाने का काम करता है और शहद गले को आराम देता है।
  6. बलगम का इलाज, गले में खांसी, खराश, छाले, बलगम, दर्द, जलन, और टॉन्सिल की समस्या हो तो कच्ची हल्दी का आधा चम्मच रस मुंह को खोल कर सीधे गले में डाले और थोड़ी देर चुप बैठे। जैसे जैसे रस गले से निचे जायेगा गले से जुड़े रोग में राहत मिलने लगेगी। बच्चों को जब भी टॉन्सिल्स की वजह से गले में दर्द हो तो ये नुस्खा जरूर करे। गले के हर तरह की बीमारी के इलाज में ये दवा अचूक है।
  7. छोटे बच्चों की बलगम का इलाज के लिए प्याज का थोडा सा रस ले और उसमें शक्कर मिला कर छोटे बच्चे को दे।
  8. कफ का आयुर्वेदिक रामबाण इलाज, गले में बलगम, खांसी, छाले, खराश, जलन, दर्द, टॉन्सिल और गले की कोई भी समस्या हो कच्ची हल्दी का रस मुंह खोल कर गले में डालें और कुछ समय चुप बैठे। जैसे ही ये रस गले से नीचे उतरेगा परेशानी कम होने लगेगी। छोटे बच्चों को जब टॉन्सिल्स का दर्द हो तो ये उपाय जरूर करें। गले के रोग का उपचार के लिए ये अचूक दवा है।
  9. स्टीम बाथ लेने से नाक और गले में जमा हुआ बलगम लूज हो कर बाहर निकलने लगता है। जिससे सिर दर्द और साइनस से होने वाली परेशानी से मुक्ति मिलती है।
  10. विटामिन सी की बड़ी खुराक से इम्‍यून सिस्‍टम को बढ़ाया जाता है जिससे कि शरीर खुद ही वायरस से तेजी से लड़ सके। जब तक कि लक्षणों में सुधार नहीं आता है, तब तक दिन में दो बार संतरा खाएं या संतरे का जूस पिएं। जूस ठंडा नहीं होना चाहिए।

बलगम वाली खांसी के घरेलू उपाय

  • बलगम वाली खांसी में सबसे बड़ी परेशानी ये आती है की खांसने पर भी बलगम बाहर नहीं निकलती और जब तक गले और छाती में जम बलगम बाहर नहीं निकलेगी तब तो खांसी रूकती नहीं है।
  • 5 ग्राम मुलहठी का चूर्ण 2 कप पानी में डाल कर उबाल ले और पानी जब आधा कप बच जाये तब इस को छान ले। अब इस काढ़े को दिन में 2 बार आधा आधा कर के सुबह शाम पिए। ये उपाय दो तीन दिन लगातार करने पर बलगम पतला हो कर बाहर निकलने लगेगा और साथ ही खांसी भी ठीक हो जाएगी।
  • अनार के रस को गर्म करके हल्का गुनगुने होने पर पिए। इस उपाय से रोगी की खांसी तुरंत दूर हो जाती है।
  • काली मिर्च कफ वाली खांसी के उपचार में घरेलू दवा की तरह काम करती है। इसे चूसने से खांसी में जल्दी राहत मिलती है।

कफ दूर करने के उपाय

  • ज्यादा से ज्यादा पानी पीने से कफ शरीर से बाहर निकलने लगती है। इसलिए हर घंटे पानी पिए।
  • छाती, नाक और गले में जमा बलगम को तोड़ने का सबसे अच्छा तरीका है भाप लेना। बलगम को खत्म करने में ये उपाय काफी फायदेमंद और आसान है।
  • बलगम का इलाज में 1 चम्मच नमक 1 गिलास गर्म पानी में मिलाएं और गरारे करे। 2-3 बार दिन में इस उपाय को करने पर गले और नाक में जमा हुआ बलगम साफ होने लगती है।
  • कफ को बनने से रोकने है तो डेयरी वाले प्रोडक्ट का सेवन करने से बचें जैसे दूध, चीज, आइसक्रीम और दही। इसके साथ साथ तले हुए खाने से भी दूर रहे।
  • धूम्रपान से दूर रहे। शरीर में धुँआ बलगम बढ़ाता है और शरीर की जल्दी ठीक करने की ताकत को भी कम करता है।
  • मसालेदार चीजे नाक की बलगम को बाहर निकलने में मदद करती है।

दोस्तों बलगम का इलाजऔर घरेलू उपाय, Gharelu nuskhe for cough in hindi का ये लेख कैसा लगा हमें बताएं और आपके पास अगर छाती और गले में जमा कफ बाहर निकालने के उपाय और घरेलू नुस्खे है तो हमारे साथ साझा करे।

Recent Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recent Articles