बार बार पेशाब आने का इलाज के 10 आसान उपाय और नुस्खे

Home Remedies - घरेलू नुस्खेबार बार पेशाब आने का इलाज के 10 आसान उपाय और नुस्खे

बार बार पेशाब आने का इलाज इन हिंदी: हम जो कुछ खाते पिते है हमारा शरीर उसमें से पोषक तत्व अलग करके के विषैले पदार्थों को मूत्र और मल द्वारा शरीर से बहार निकाल देता है। इसलिए ये जरुरी हो जाता है की पेशाब की वेदना महसूस होते ही उसी वक़्त करना चाहिए। आपको अगर नॉर्मल से ज़्यादा यूरिन आये तो ये किसी रोग के लक्षण भी हो सकते है। 

ओवरएक्टिव मूत्राशय वाले लोग बार-बार पेशाब करने की इच्छा महसूस करते हैं।  बार-बार पेशाब आना एक जीवन शैली की समस्या बन सकती है, शर्मिंदगी का कारण बन सकती है, काम के कार्यक्रम को बाधित कर सकती है और सामाजिक रिश्तों को प्रभावित कर सकती है।

जीवनशैली में बदलाव के कारण लोगों में यह समस्या तेजी से बढ़ रही है। अत्यधिक काम का बोझ तनाव की स्थिति भी बनाता है। इस तनाव से मूत्र संबंधी समस्याएं होने लगती हैं। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए, पहले मानसिक तनाव को कम करने का प्रयास करना चाहिए। इसके लिए सबसे अच्छा तरीका यह है कि व्यक्ति अपने जीवन शैली को अनुशासित बनाए। यानी सुबह उठने से लेकर रात को सोने तक, एक शेड्यूल होना चाहिए, इसके साथ ही खानपान का भी ध्यान रखना होगा।

बार-बार पेशाब आने का सबसे बड़ा कारण हो सकता है मूत्राशय की अत्यधिक सक्रियता। ऐसी स्थिति में सामान्य रूप से व्यक्ति बार-बार पेशाब करने के लिए प्रेरित होता है। मधुमेह भी बार-बार पेशाब आने का एक प्रमुख कारण है। रक्त व शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ने पर यह समस्या बढ़ जाती है।किडनी में संक्रमण होने पर भी बार-बार पेशाब आना बेहद आम बात है, इसलिए अगर आपको यह परेशानी है, तो इसकी जांच जरूर कराएं।

रात को पेशाब बार बार आये तो नींद खराब हो जाती है। पेशाब अधिक आना सिर्फ शारीरिक नहीं मानसिक कारणों से भी हो सकता है जैसे की ज़्यादा तनाव लेना या फिर किसी चीज़ से भय होना। इस लेख में हम जानेंगे बार बार पेशाब क्यों आता है और कैसे घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे अपनाकर इस समस्या का उपचार करे, bar bar peshab ka treatment in hindi.

बार बार पेशाब आने के कारण

  • ब्लैडर में इंफेक्शन होने से।
  • सर्दियों में यूरिन ज़्यादा बनता है।
  • ये समस्या प्रेगनेंसी के दौरान भी होती है।
  • शुगर के मरीज को पेशाब ज़्यादा आता है।
  • प्रोस्टेट ग्रंथि बढ़ने पर भी यूरिन अधिक आता है।
  • ज़्यादा कॉफ़ी, चाय, या शराब के सेवन से भी पेशाब अधिक आता है।
  • पेट में कीड़े की समस्या हो तो पेशाब ज़्यादा आता है, छोटे बच्चों के साथ ये परेशानी होती है।
  • मूत्राशय अधिक सक्रिय होने या फिर मूत्राशय में पेशाब जमा करने की क्षमता कम हो जाये तब पेशाब बार बार आता है।
  • कई बार किसी रोग के उपचार में ली हुई दवाओं के कारण भी पेशाब ज़्यादा आता है, ऐसे में अपने चिकित्सक की राय जरूर ले।

बार बार पेशाब का इलाज के घरेलू उपाय और नुस्खे

  1. सुबह शाम तिल के लड्डू खाने से बार बार पेशाब लगने की बीमारी में आराम मिलता है।
  2. खाने में दही शामिल करे। दही में बैक्टीरिया होता है जो मूत्राशय में मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकता है।
  3. रात को बार बार पेशाब आना की परेशानी हो तो सेब खाने से भी फायदा मिलता है। इसके अतिरिक्त दिन में दो बार गाजर जूस का सेवन भी कर सकते है।
  4. इस समस्या से छुटकारा पाने में मसूर की दाल भी फायदा करती है। मेथी का साग एक कटोरी हर रोज खाएं, इस देसी नुस्खे से भी पेशाब जादा आने की समस्या कम होती है।
  5. वृद्धावस्था में पेशाब का बार बार होना जैसी समस्या होती है, इसके उपचार के लिए छुहारे खाने से फायदा मिलता है। रात को सोने से कुछ देर पहले छुहारे खा कर दूध पिए।
  6. पालक की सब्जी शाम को बना कर खाने से भी थोड़ी थोड़ी देर में पेशाब आने की समस्या कम होती है।
  7. हर रोज सुबह नाश्ता करने के बाद दो पके केले खाए।
  8. अंगूर खाने से जादा पेशाब की हाजत कम होती है।
  9. पेशाब बार बार आना इलाज के लिए थोड़ी सी हल्दी ले और इसकी फांक मार कर पानी पिए।
  10. तीन पिस्ता, पांच काली मिर्च और तीन मुनक्का पीस ले और दिन में दो बार इसका सेवन करें। इस घरेलू दवा से भी फायदा मिलता है।

आपको अगर बार बार पेशाब आता है तो कॉफ़ी और चाय के सेवन से बचे, इसके इलावा कोल्ड ड्रिंक्स, शराब पीने से भी परहेज करे और ऐसी चीजों का सेवन अधिक करे जिनमें विटामिन सी अधिक हो।

बार बार पेशाब आने का इलाज में आयुर्वेदिक उपचार

  1. थोड़ा सा नमक एक चम्मच अजवाइन में मिलाये और पानी के साथ सेवन करे। दिन में दो बार इस उपाय को करने पर कुछ दिनों में ही पेशाब की समस्या से निजात मिलती है।
  2. पेट में कीड़े पड़ने के कारण बच्चों को बार बार पेशाब आता है। अगर बच्चा बिस्तर पर पेशाब करता है या फिर नॉर्मल से अधिक पेशाब करता है तो इसके इलाज के लिए थोड़ा जायफल घिस ले और एक चौथाई चम्मच की मात्रा में बच्चे को चटा दे फिर ऊपर से दूध पिलाये। दो से तीन दिन इस उपाय को करने पर पेशाब का बार बार आना ठीक हो जाएगा।
  3. बार बार पेशाब आने का इलाज की दवा के लिए एक चम्मच शहद दो से ठीक पत्ते तुलसी के साथ खाली पेट हर रोज लेने से इस समस्या में आराम मिलता है।
  4. अनार के छिलके पीसकर इसका पांच ग्राम चूर्ण पानी के साथ दो बार दिन में लेने से यूरिन बार बार आना बंद होता है।
  5. एक गिलास पानी के साथ आधा आधा चम्मच बेकिंग सोडा लेने से यूरिन का पीएच बैलेंस कंट्रोल में रहेगा।
  6. भुने हुए चने गुड़ के साथ खाने से भी आराम मिलता है। दस से बारह दिन इस उपाय को निरंतर करने पर ज़्यादा  पेशाब आने की परेशानी दूर होती है।
  7. गुड के साथ आंवले का चूर्ण खाने से पेशाब खुल कर आता है। तीन से चार दिन तक दो से तीन आंवलों के रस का सेवन करने से भी फायदा मिलता है।

पेशाब के रंग से कैसे पहचाने बीमारी

पेशाब का रंग देख कर शरीर को होने वाली बीमारी का पता लगा सकते है।

  • पेशाब का रंग अगर हल्का सा पीलापन है तो ये नॉर्मल है, पर रंग अगर गहरा पीला है तो ये शरीर में पानी की कमी के संकेत है। इसके इलाज के लिए पानी ज्यादा पिए।
  • अगर रंग लाल है तो पेशाब में खून आना के संकेत है, ऐसे में डॉक्टर से मिले और जांच कराएं। टेस्ट से ये पता चलेगा की ये खून किस वजह से आया।
  • पेशाब का रंग काला या फिर गहरा लाल कई रोगों में हो सकता है जैसे हेपेटाइटिस, लिवर में इन्फेक्शन, सिरोसिस या फिर कोई और रोग।

दोस्तों बार बार पेशाब आने का इलाज, bar bar peshab aane ka treatment in hindi का ये लेख आपको कैसा लगा हमें बताये और अगर आप के पास पेशाब के रोग के देसी घरेलू नुस्खे है तो हमारे साथ शेयर करे|

हम आशा करते है की sehatdoctor के द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और जिस भी परेशानी के नुस्खे आपने पढ़ें है उस परेशानी में भी आपको आराम प्राप्त हुआ होगा| किसी भी अन्य बीमारी या परेशानी के लिए हेल्थ टिप्स इन हिंदी (health tips in hindi) और घरेलु नुस्खे इन हिंदी (gharelu nuskhe in hindi) जरूर पढ़ें और लाभ प्राप्त करें| आपका अनुभव कैसा रहा इसकी जानकारी कमेंट करके जरूर बताए |

Recent Articles

46 टिप्पणी

  1. मेरी उम्र 32 वर्ष है मुझे बार बार पेशाब आता है जिससे मैं परेशांन हु कृपया उपाय बताये

  2. मेरे बच्चे की उम्र 7 वर्ष है वो सोते समय बिस्तर पर पेसाब कर देता है क्या करू इलाज बताये

  3. मुझे पेशाब करने में बहुत देर लगता है. कितना भी जोर से लग रहा हो लेकिन धीरे धीरे करके निकलता है और लगभग तीन चार मिनट लग जाता है पूरा होने में. कृपया इलाज बताएं.

  4. सर मुझे रात को नींद लगने के पहले १०-१५ मिनट को बारबार पेशाब आता है।

  5. मुझे 2 दिन से बहुत ज्यादा पेशाब जाना पड़ रहा है. पेशाब वाइट ही है, रात में 5-6 बार और दिन में 10-15 बार. कौन से टेस्ट करवा सकते है.

  6. मेरी उम्र 52 वर्ष है. रात को उठने पर पेशाब रोकने में समस्या होती है, बाथरूम तक जाते समय निकल जाता है। उपाय बताए।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recent Articles