हकलाने और तुतलाने का इलाज 5 आसान उपाय और घरेलू नुस्खे

Home Remedies - घरेलू नुस्खेहकलाने और तुतलाने का इलाज 5 आसान उपाय और घरेलू नुस्खे

हकलाने और तुतलाने का इलाज इन हिंदी: हकलाना मतलब अटक – अटक कर बोलना और तुतलाने का मतलब है आवाज़ साफ़ ना आना, जिस कारण बोले हुए शब्द साफ़ समझ नहीं आते। तोतले पन और हकलाहट की समस्या छोटे बच्चों में अधिक होती है और अगर छोटी उम्र में ही इसका उपचार न हो तो उम्र बढ़ने के साथ हकलाना तुतलाना भी बढ़ने लगता है। 

बच्चों को बचपन में कई आदतें लग जाती हैं, जिसे बड़े होने पर छुड़ाना मुश्किल हो जाता है। ऐसे ही एक आदत तुतलाने की है। यह किसी तरह की बीमारी नहीं है, लेकिन समय रहते बच्चों की इस आदत को छुड़ाना जरूरी होता है, ताकि बड़े होने पर वो तुतलाने के कारण हंसी के पात्र न बन जाएं। अब मुख्य मुद्दा यह है कि अगर कोई बच्चा तुतलाता है, तो उसकी इस आदत को कैसे छुड़ाया जाए |हकलाने की समस्या दूर करने के लिए सबसे जरुरी हैं व्यायाम। अगर आप सही तरीके से व्यायाम करते हैं तो किसी दवा की जरुरत नहीं पड़ेगी।

बच्चों का तुतलाकर बात करना एक स्पीच प्रॉब्लम यानी स्पष्ट रूप से बात नहीं कर पाने की समस्या है। जिन बच्चों को तुतलाने या तोतली भाषा में बात करने की समस्या होती है, वे शब्दों का सही तरह से उच्चारण नहीं कर पाते हैं, जिस कारण उनकी बातें स्पष्ट रूप से समझ नहीं आती हैं। वे बोलना कुछ और चाहते हैं, लेकिन शब्द कुछ और निकलता हैं। अक्सर तोतली भाषा में बात करने वाले बच्चे “स” के स्थान पर “थ” का उपयोग करते हैं, जैसे सिंपल को थिंपल बोलते हैं 

इसके ट्रीटमेंट के लिए डॉक्टरों के पास भी अभी तक कोई कारगर दवा नहीं है पर आप घरेलू उपाय, आयुर्वेदिक मेडिसिन और और देसी नुस्खे से हकलाने और तुतलाने का इलाज कर सकते है। आइए जाने तुतलाना और हकलाना कैसे दूर करे, हकलाने और तुतलाने का इलाज, natural remedies and ayurvedic treatment for stammering (haklana tutlana) problem solution at home in hindi.

तुतलाने और हकलाने होने पर बच्चों का आत्मविश्वास कम होने लगता है जिससे उन्हें निराशा आने लगती है और वे अपनी भावनाओं को बोल कर बताने में भी घबराने लगते है।

हकलाने का कारण : Causes of Stammering

  • बोलते समय काम आने वाली मांसपेशियां और जीभ पर नियंत्रण न होना तुतलाने और हकलाने का एक कारण है।
  • कुछ लोग नर्वस होने पर तो कुछ लोग ज्यादा उत्साहित होने पर हकलाने लगते है। इसके अलावा कुछ लोग टेंशन की वजह से भी हकलाते है।

तुतलने हकलाने के लक्षण : Symptoms

  • कुछ बोलते समय एक ही शब्द को बार बार बोलना या अटक-अटक कर बोलना हकलाने का सामान्य लक्षण है।
  • तेज बोलना या फिर बोलते वक्त आँख झपकना।
  • बोलते वक़्त जबड़े का हिलना, होंठों में कंपन होना।

हकलाने और तुतलाने का इलाज के उपाय और घरेलू नुस्खे

Stammering Treatment at Home in Hindi

  1. आंवला
  • आंवले को आयुर्वेद में एक उत्तम मेडिसिन माना गया है। हर रोज 1 आंवला खाने से कई प्रकार के रोगों से बचे रहते है। तुतलाने और हकलाने का उपाय करने में भी आंवला काफी उपयोगी है। इसके लिए 2 महीने लगातार प्रतिदिन 1 आंवला खाए।
  • एक चम्मच आंवला पाउडर एक चम्मच गाय के घी के साथ ले, इस घरेलू नुस्खे से भी हकलाना ठीक होता है।
  1. छुहारे से तुतलाने का इलाज
  • आवाज़ में तोतले पन की समस्या हो या फिर हकलाहट हो तो इसके घरेलू इलाज में छुहारा खाने से भी फायदा मिलता है। छुहारे के सेवन से आवाज़ साफ़ होती है। रात को सोने से पूर्व 2 छुहारे खाए और 2 घंटे पानी ना पिए।
  1. मक्खन और बादाम
  • हकलाने और तुतलाने का इलाज करने के लिए रात को सोने से पूर्व पांच से छह बादाम पानी में भिगो कर रख दे और सुबह इन बादामों को छील कर पीस ले। अब तीस ग्राम मक्खन के साथ इसका सेवन करें। इस उपाय को हर रोज निरंतर करने पर हकलाना ठीक होने लगेगा।
  • हकलाना बंद करने के लिए बादाम के अलावा मक्खन के साथ काली मिर्च का सेवन करने से भी फायदा मिलता है। इसके लिए एक चम्मच मक्खन के साथ एक चुटकी काली मिर्च सुबह सुबह खाए।
  1. मिश्री
  • हकलाना दूर करने के उपाय के लिए थोड़ी सी मिश्री, 8 से 10 बादाम और इतनी ही मात्रा में काली मिर्च ले और सबको मिलाकर पीस ले और हर रोज इसका सेवन करे। दो हफ्ते लगातार इस उपाय को करने से अटक-अटक कर बोलने की समस्या दूर होने लगती है और आवाज साफ होने लगती है।
  1. ब्राह्मी तेल से हकलाना दूर करे
  • हफ्ते में दो बार ब्राह्मी तेल से सिर की मालिश करने पर हकलाहट धीरे धीरे कम होने लगती है। ब्राह्मी का तेल इस्तेमाल करने से पहले गुनगुना कर ले फिर आधे घंटे तक इससे सिर की मसाज करे। इस उपाय से दिमाग तेज करने और याददाश्त बढ़ाने में भी मदद मिलती है।
  • जाने याददाश्त बढ़ाने के उपाय

स्पीच थेरेपी से हकलाना कैसे ठीक होगा

  1. स्पीच थेरेपी के द्वारा हकलाने और तुतलाने की समस्या को काफी हद तक दूर कर सकते है। इसे आप एक तरह से घर पर किया जाने वाला हकलाने का योग भी कह सकते है। स्पीच थेरेपी से ट्रीटमेंट के लिए आप एक्सपर्ट की राय भी ले सकते है।
  2. हकलाना और तुतलाना का ट्रीटमेंट के लिए उपचार के साथ साथ अपने बोलने की गति को भी कंट्रोल करने पर ध्यान दे। कुछ लोग बहुत तेज बोलते है जिस वजह से उनकी आवाज समझ नहीं आती, अगर आप भी ऐसा करते है तो धीरे धीरे बोलने का प्रयास करें।
  3. किसी किताब या अख़बार को बोल बोल कर पढ़े और इस दौरान आप जो बोल रहे है उन शब्दों पर ध्यान दे।
  4. शीशे के सामने खड़े हो कर आप बोलने का अभ्यास करें।
  5. बच्चा हकलाता है तो पहले आप उसे एक शब्द बोलने को कहे और जब वो एक शब्द को ठीक से बोलने लग जाये तब दो शब्द बुलवाए और इसी तरह धीरे धीरे शब्द बढ़ाते जाए।

हकलाना और तुतलाना ट्रीटमेंट टिप्स इन हिंदी

  • इस समस्या के इलाज के लिए सबसे पहले खुद को ये समझाए कि ये कोई बड़ी प्रॉब्लम नहीं है और सही तरीके से उपचार कर के उससे छुटकारा भी पाया जा सकता है।
  • बोलते समय हकलाहट ना हो इसके लिए आप बोलने से पहले अपनी बॉडी और दिमाग को रिलैक्स करें और अपनी हकलाहट के बारे में बिल्कुल ना सोचे। मन शांत करने और तनाव दूर के लिए योग और मेडिटेशन करे। इसके अलावा गहरी और लंबी सांस लेने से भी शरीर और मन को आराम मिलता है।
  • कुछ लोग ऐसे भी है जिन्हें सिर्फ कोई कोई शब्द बोलने अटकते है, इस समस्या के समाधान के लिए आप उन सभी शब्दों की एक सूची बनाइए और उनके सामने आप वो शब्द लिखे जिनका मतलब वही हो और आप उन्हें आसानी से बोल भी सके।
  • बोलने के मुकाबले में गाते वक़्त कम हकलाहट होती है इसलिए हकलाना रोकने के लिए आप स्पीच थेरेपी के अलावा म्यूज़िक थेरेपी का भी सहारा ले सकते है।
  •  अगर 5 साल से अधिक उम्र में भी बच्चा हकलाता है या आवाज में तोतलापन है तो किसी एक्सपर्ट से मिले और स्टैमरिंग दूर करने के उपाय जाने।
  • दादी माँ के घरेलु नुस्खे
  • बाबा रामदेव आयुर्वेदिक उपचार

इस लेख में आपने जाना हकलाना और तुतलाना कैसे दूर करे। दोस्तों हकलाने और तुतलाने का इलाज के उपाय, stammering treatment at home in hindi का ये लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट कर के बताये और अगर आपके पास घरेलू नुस्खे से हकलाना कैसे ठीक होगा और आवाज साफ करने के उपाय से जुड़े अनुभव है तो हमारे साथ साँझा करे|

हम आशा करते है की sehatdoctor के द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और जिस भी परेशानी के नुस्खे आपने पढ़ें है उस परेशानी में भी आपको आराम प्राप्त हुआ होगा| किसी भी अन्य बीमारी या परेशानी के लिए हेल्थ टिप्स इन हिंदी (health tips in hindi) और घरेलु नुस्खे इन हिंदी (gharelu nuskhe in hindi) जरूर पढ़ें और लाभ प्राप्त करें| आपका अनुभव कैसा रहा इसकी जानकारी कमेंट करके जरूर बताए |

Recent Articles

51 टिप्पणी

    • दोस्त अक्सर हम अपनी नकारात्मक सोच से अपनी समस्या को बढ़ा देते है, सबसे पहले तो अपना आत्मविश्वास बढ़ाये. हकलाने की समस्या दूर करने के उपाय आप ऊपर पढ़े और निरंतर इनका अभ्यास करे.

    • घरेलू उपाय और नुस्खे आयुर्वेदा से प्रेरित होते है जिनके नुकसान ना के बराबर होते है, उपाय करने से पहले आयुर्वेदिक चिकित्सक से मिल कर इन्हे करने का तरीका विस्तार में अवश्य जाने.

  1. नमस्ते सर्, दोस्त बोलते है कि तू ऐसे बोलता है जैसे दांत बंद करके बोल रहा हो। आवाज दबी हुई सी आती है , जैसे मुँह में गुटखा कहा कर बोल रहा हूँ।
    सर् में बहुत परेशान हु इस को लेकर। Sir iksa koi treatment hai kya????

    • हकलाना बंद करने के उपाय और घरेलू तरीके ऊपर लेख में बताये गए है और अगर आप फ़ास्ट बोलते है तो सही तरीके से बोलने के लिए भी आप को निरंतर अभ्यास करना चाहिए इसके उपाय भी आप ऊपर लेख में पढ़ सकते है.

  2. सर मैं हकलाता हूँ और कभी कभी ज्यादा हो जाता है खास करके सर्दीयों में मेरी उम्र 35 साल है कोई इलाज बताये।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recent Articles