घर के वैद के घरेलू नुस्खे : Home remedies in Hindi

Home Remedies - घरेलू नुस्खे घर के वैद के घरेलू नुस्खे : Home remedies in Hindi

Home remedies in Hindi : पुराने ज़माने में जब कोई एलोपैथी डॉक्टर और मेडिसिन्स (दवा) नहीं होती थी तब आयुर्वेद वैद घर में इस्तिमाल होने वाली चीजों और आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों को मिला कर दवा बनाते थे जो किसी भी बीमारी का इलाज करने के साथ उसे जड़ से खत्म करने में भी कारगर है| होम रेमेडीज को दादी माँ के नुस्खे भी कह सकते है| पर आज के समय में लोग किसी भी बीमारी के होने पर एलोपैथी ट्रीटमेंट पर ज्यादा ध्यान देते है| एलॉपथी मेडिसिन महंगी होने के साथ साथ इनके साइड इफेक्ट्स भी होते है| आइये जाने आयुर्वेदिक और घरेलू तरीके से इलाज कैसे करे|

Gharelu Nuskhe, Home Remedies in Hindi

 

घरेलू नुस्खे के फायदे : Benefits of Home Remedies in Hindi

  • घरेलू नुस्खों का प्रयोग सिर्फ बीमारियों के इलाज में ही नहीं बल्कि अच्छी सेहत पाने के लिए भी किया जाता है|
  • घरेलू उपायों के  इस्तेमाल करने का कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होता|
  • होम रेमेडीज से इलाज में इस्तेमाल होने वाली चीजे आपके आस पास किसी शॉप से आसानी से मिल जाती है|
  • एलॉपथी मेडिसिन के मुकाबले दादी माँ के  नुस्खे से इलाज करना काफी सस्ता होता है|
  • स्वस्थ और तंदरुस्त रहने के लिए, फेस से दाग धब्बे निकालने, चेहरे को साफ़ करने, रंग गोरा करने से ले कर बालो की देखभाल के लिए भी ये  नुस्खे असरदार होते है|

 

Gharelu Nuskhe in Hindi : Best Home Remedies

अगर किसी बीमारी के कारण और उसके लक्षण मालूम हो तो उससे बचाव और उपचार के उपाय करना आसान हो जाता है| आइये जानते है की घरेलू नुस्खे से इलाज करने में कौन कौन सी आयुर्वेदिक औषधि का इस्तेमाल कर सकते है और उनसे कौन कौन सी बीमारी का इलाज किया जा सकता है|

1. बॉडी की फिटनेस : स्वस्थ और तंदरुस्त रहने के लिए रोजाना सुबह खाली पेट 8 से 10 पत्ते तुलसी के खाये| बहुत से लोग बॉडी को फिट रखने के लिए हेल्थ क्लब और जिम का सहारा लेते है| अगर इसके साथ हम अपनी लाइफ स्टाइल में सुधार ला कर और कुछ घरलू नुस्खे अपना कर भी अपने आप को फिट और एक्टिव रख सकते है|

 

2. चेहरे की देखभाल : बेसन में थोड़ा नींबू का रस , शहद और पानी मिला कर एक पेस्ट बना लें| इस लेप को फेस पर लगाने से चेहरा सुन्दर दिखने लगता है और स्किन ग्लो करती है| अगर आप के चेहरे पर दाग धब्बे और पिम्पल्स है, या फिर आप के चेहरे पर फेयरनेस क्रीम और ब्यूटी प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करने की वजह से साइड इफेक्ट्स हो गए है तो आप घर पर ही आयुर्वेदिक फेस पैक की मदद से इनका उपचार कर सकते है| अगर आप गोरा रंग पाना चाहते है तब भी आप फेस साफ़ करने के ये  नुस्खे प्रयोग कर सकते है|

 

3. बालो की देखभाल : बालो की देखभाल ना करने की वजह से बाल झड़ने, बालो में डैंड्रफ और गंजापन जैसी समस्या हो जाती है| अगर आप भी हेयर्स की किसी भी प्रॉब्लम से परेशान है तो आप होम रेमेडीज आपनाये| कुछ ही दिनों में आप के बाल सुन्दर और मुलायम होने लगेंगे|

 

4. मोटापा काम करने के उपाय : ज्यादा मोटापा होने से शरीर को और भी कई बीमारिया होने का डर रहता है| आज कल के गलत खान-पान और बिजी लाइफ स्टाइल की वजह से ज्यादातर लोगो को पेट की चर्बी बढ़ने की शिकायत होती है जिससे वजन बढ़ता है| वैसे तो मोटापा कम करने के लिए रोजाना योग और एक्सरसाइज़ करना बेहद जरुरी है पर हम कुछ घरेलू नुस्खे अपना कर भी तेजी से मोटापा कम कर सकते है|

 

5. हाइट बढ़ाने के उपाय : कई बार वजन ज्यादा होने के कारण भी हाइट नहीं बढ़ती, अगर आप की बॉडी का मोटापा जरुरत से ज्यादा है तो हाइट बढ़ाने के लिए पहले आपको मोटापा कम करना होगा| और कई बार हार्मोन्स और जेनेटिक डिसऑर्डर की वजह से भी कद लम्बा नहीं हो पाता| जानिये लम्बाई बढ़ने के घरेलू नुस्खे कौन से है|

 

6. मोटा होने के उपाय : अगर आप अपने दुबले पतले शरीर से परेशान है और अक्सर यही सोचते है की मैं खता पीटा तो बहुत हु फिर भी मोटा नहीं हो रहा तो आप वेट बढ़ाने के इन घरेलू नुस्खे को अपनाये| कुछ ही दिनों के प्रयोग से आपको फरक दिखने लगेगा|

 

7. बवासीर का इलाज : बवासीर को पाइल्स भी कहते है जिसका सबसे बड़ा कारण कब्ज़ होता है| खुनी बवासीर होने पर टॉयलेट में बहुत ज्यादा ब्लड आता है जिसे देख कर रोगी घबरा जाता है| ब्लड को रोकने के लिए 10 से 12 गरम काले तिल को मक्खन के साथ ले| जाने पाइल्स का ट्रीटमेंट आयुर्वेद और होमियोपैथी से कैसे करे|

 

8. प्रेगनेंसी केयर टिप्स : किसी भी औरत के लिए माँ बनना जीवन का सबसे बड़ा सुख होता है| इसलिए गर्भावस्था में प्रेग्नेंट वूमेन को किन किन बातो का ध्यान रखना चाहिए और कौन कौन से उपाय करके नार्मल डिलीवरी हो सकती है ये जानना बहुत जरुरी है| और साथ ही ये भी जाने की प्रेगनेंसी के पहले 3 महीने में बच्चे की ग्रोथ कैसे होती है|

  • Best Pregnancy Care Tips in Hindi

 

9. शुगर का इलाज कैसे करे : ब्लड शुगर को इंग्लिश में डायबिटीज कहते है और इसे कंट्रोल करने के लिए और जड़ से खत्म करने के लिए व्हीटग्रास (gehu ke javare), गिलोय , करेला , एलोवेरा , तुलसी , अमला और जामुन के पत्ते मिला कर जूस बना कर पिए| शुगर का उपाय करने में दालचीनी और मेथी के दाने का प्रयोग भी काफी फायदा करता है| नीम के पत्ते खाली पेट खाने से भी शुगर दूर होती है |

 

10. गर्मी और लू से बचने के उपाय : गर्मी (summer) में लू से बचने के लिए घर के बाहर जाते समय सिर को किसी कपडे से अच्छे से ढक ले और कभी खाली पेट घर के बाहर ना जाये| जलजीरा , धनिया , प्याज , इमली का पानी खीरा और गाय का दूध का प्रयोग गर्मी से बचाये रखता है| गर्मी में पित्त और घमोरिया होने पर आंवले के रस में घृतकुमारी मिला कर पिए|

 

11. पथरी का इलाज : पथरी के दर्द से राहत पाने और पथरी (stone) का उपचार  करने के लिए हल्दी का उपयोग सब से उत्तम है| 2 ग्राम गुड़ गाजर की कांजी और 1 ग्राम हल्दी मिला कर खाने से पथरी गल कर निकल जाएगी| जाने और कौन कौन से घरेलू उपाय कर के गुर्दे , किडनी , गाल ब्लैडर की पथरी निकाल  सकता है|

 

12. पेट में गैस : काला नमक , जीरा , अजवाइन और छोटी हरड़ को बराबर मात्रा में ले और पीस कर खाना खाने के बाद हलके गुनगुने पानी के साथ 2 से 5 ग्राम तक की मात्रा में ले| दालचीनी का पाउडर पानी के साथ लेने पर दस्त और गैस से निजात मिलती है|

 

13. पीलिया के इलाज के नुस्खे : लिवर की कमजोरी के कारण पीलिया (jaundice) की शिकायत हो जाती है और जब ये समस्या बढ़ जाये तो काला पीलिया होने का खतरा होता है जिसे हम हेपेटाइटिस बी भी कहते है| घर पर मूली के पत्तो को रस निकाल कर पीने से जिगर को ताकत मिलती है, पेट की गर्मी खत्म होती है और पीलिया से राहत मिलती है| जाने पीलिया का उपचार करने के कुछ और नुस्खे|

 

14. मुँह के छाले का उपाय : मुँह  में गालो पर और होंठो पर छाले होने पर मुलेठी के चूरन को शहद में मिला कर छालो वाली जगह पर लगाए और इससे निकालने वाली लार को बाहर निकालने दे|

 

15. लकवा का देसी इलाज इन हिंदी

लकवा (Paralysis) का अटैक आने पर 50-100 ग्राम तिलो का तेल ले और इसे हल्का ग्राम करके रोगी को पिलाये और लहसुन छील कर चबाने को दे, साथ ही शरीर के जिस हिस्से पर लकवा हुआ हो उसपर सेंक करे|

 

16. कब्ज़ के घरेलू नुस्खे : कब्ज़ (constipation) होने पर ज्यादा पानी पिए . फ्रूट्स में अमरुद और पपीता खाये और एक गिलास हलके गरम पानी में 1 नींबू निचोड़ कर पीने से पुरानी कब्ज़ भी खुल जाती है|

 

17. स्वाइन फ्लू का इलाज : स्वाइन फ्लू के ट्रीटमेंट के लिए सब से पहले जरुरी है की अपने घर के आस पास साफ़ सफाई रखे| तुलसी के पत्ते , गिलोय की बेल , कपूर और मेंथोल का इस्तिमाल स्वाइन फ्लू से बचाव और उपचार के लिए कर सकते है| जाने अपनी फैमिली को कैसे स्वाइन फ्लू से दूर रखे|

 

18. दिल का दौरा का उपाय : जिन लोगो का दिल कमजोर है या कोई दिल की बीमारी और ब्लॉकेज से पीड़ित है उन्हें हार्ट अटैक का आने का खतरा ज्यादा होता है| ऐसे रोगियों को लौकी का जूस, लौकी की सब्जी या कच्ची लौकी खाने से दिल को ताकत मिलती है| लौकी के जूस में तुलसी और पुदीना मिला कर पीने से ज्यादा फायदा होता है|

 

19. कैंसर का इलाज : कैंसर में माउथ कैंसर,लिवर कैंसर,ओरल कैंसर,ब्रैस्ट कैंसर,थ्रोट कैंसर,सर्वाइकल कैंसर कुछ ऐसी बीमारिया है जिनसे काफी लोग पीड़ित होते है| कैंसर के ट्रीटमेंट के लिए देसी गाय का मूत्र (गाय का पेशाब) बहुत फायदा करता है| कैंसर के मरीज को दिन में 2 से 3 बार गौ मूत्र पीना चाहिए|

 

20. गठिया का उपाय : गठिया के बीमारी में जोड़ो में और घुटनो में बहुत तेज दर्द होता है और कई बार चलना फिरना भी नहीं हो पाता| गठिया के दर्द में लहसुन,अश्वगंधा,अखरोट , अमरुद का प्रयोग बहुत कारगर है| बाबा रामदेव के बताये हुए योग करने से भी जोड़ो का दर्द ठीक होता है|

 

21. डेंगू बुखार के नुस्खे : डेंगू का बुखार मच्छर के काटने से होता है, जिसकी वजह से ब्लड में प्लेटलेट्स की कमी हो जाती है| गिलोय, व्हीटग्रास, अनार, पपीते के पत्ते और तुलसी मिलकर जूस पीने से डेंगू का इलाज करने में रामबाण का काम होता है|

 

22. सर्दी जुकाम के घरेलू नुस्खे इन हिंदी : शहद के साथ अदरक का छोटा सा टुकड़ा खाने से सर्दी और जुकाम में आराम मिलता है| 1 ग्राम हल्दी और 20 से 25 ग्राम आँवला मिला कर लेने से सर्दी जुकाम और कफ में तुरंत आराम मिलता है|

 

23. पेट की बीमारियों की होम रेमेडीज : पेट में दर्द, पेट में गैस, दस्त (loose motion) पेट की कुछ बीमारिया है| पाचन क्रिया ठीक से काम ना करने पर ये बीमारिया अक्सर हमें परेशान करती है| घर में इस्तेमाल होने वाली कुछ चीजों के प्रयोग से हम पेट की गैस, दस्त और दर्द से छुटकारा पा सकते है| एलोवेरा का जूस, लेमन टी, ग्रीन टी, अजवाइन, सेंधा नमक, जीरा, पीसी हुई काली मिर्च और नींबू के सही इस्टीमॉल से हम पेट की बीमारियों से बच सकते है| एलोवेरा और आँवला का जूस मिला कर पीने से ब्लड साफ़ होता है और पेट की सभी बीमारिया दूर होती है|

 

24. मुँह की बदबू : बहुत से लोग जानना चाहते है की बेड ब्रेथ (मुँह की बदबू) का उपाय करने के लिए क्या करे| रोजाना ग्रीन टी पीना, ज्यादा पानी पीना , जामुन के पत्ते और तुलसी के इस्तेमाल से हम बदबू की शिकायत से निजात पा सकते है| मुँह की बदबू तुरंत दूर करने के लिए दालचीनी का टुकड़ा मुँह में रखे|

 

25. लिवर के उपाय : लिवर (जिगर) की गर्मी दूर करने के लिए गाजर और पालक के जूस को दिन में 2 बार पिए| इस उपाय से लिवर की कमजोरी दूर होती है, लिवर की सूजन कम होती है और फैटी लिवर का इलाज होता है|

 

26. माइग्रेन का इलाज : माइग्रेन की बीमारी में आधे सिर में दर्द होता है|  आधे सिर दर्द के ट्रीटमेंट के लिए सिर के जिस हिस्से में दर्द हो उस तरफ की नाक में गाय का घी डाले| माइग्रेन में मालिश (massaj) करने से भी सिर का दर्द कम होता है|

 

27. नैक पैन की होम रेमेडीज इन हिंदी : गर्दन में दर्द होने पर जैतून के तेल को गुनगुना करके गर्दन की मालिश करे| नैक का दर्द ठीक करने के लिए एक्सरसाइज और योग गुरु बाबा रामदेव के योग टिप्स भी तरय कर सकते है|

 

28. दांत दर्द के उपाय : दांत (teeth) में दर्द , मसूढ़ों से खून निकलना , दांत पीले (yellow teeth) होना, पायरिया और दांतो की कोई भी बीमारी में गेहू के जवारे (wheatgrass) का प्रयोग उत्तम है| इसके इलावा नीम का दातुन से दांत साफ़ करने पर भी मुँह की बीमारियों से छुटकारा मिलता है|

 

29. एसिडिटी कैसे दूर करे : अश्वगंधा और गिलोय ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जो एसिडिटी और पेट में जलन का इलाज करने में रामबाण का काम करती है| जाने इनका इस्तेमाल  कैसे करे| गुड़ में थोड़ी अजवाइन मिला कर लेने से एसिडिटी से छुटकारा मिलता है|

 

30. ब्लड प्रेशर के घरेलू नुस्खे : हाई BP कंट्रोल करने की होम रेमेडीज में गिलोय , आमला, लीची, तरबूज, गेहू के जवारे और गाजर का मुरब्बा कारगर है| होम्योपैथीक मेडिसिन के  इस्टीमॉल से भी BP की समस्या दूर कर सकते है|

 

31. भूख बढ़ाने के लिए क्या करे : भूख कम लगना मतलब कम खाना खाना, जिससे शरीर को जरुरी पोषक तत्व नहीं मिल पाते और कमजोरी आने लगती है| कब्ज़, एसिडिटी, पेट में गैस और जलन के कारण भी भूख कम लगती है| 1 गिलास पानी में जीरा पाउडर , काला नमक और सफ़ेद नमक मिला कर पीने से भूख बढ़ने लगती है|

 

32. व्हीटग्रास जूस के फायदे : व्हीटग्रास (gehu ke javare) को धरती की संजीवनी बूटी भी कह सकते है| किसी भी प्रकार की बीमारी और व्हीटग्रास जूस को बिना दवा बंद किये पी सकते है| जाने गेहू के जवारे का रस कैसे बनाते है और कौन कौन सी बीमारियों में व्हीटग्रास जूस या पाउडर का सेवन कैसे करे|

 

33. चेहरे से पिंपल्स हटाने के घरेलू उपाय : चेहरे से झुरिया, दाग धब्बे और पिंपल्स  हटाने के लिए  हम ब्यूटी प्रोडक्ट्स प्रयोग करने लगते है , क्योंकि इन कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में केमिकल्स होते है जो  कई बार फेस  को सूट नहीं करते और इससे  साइड इफ़ेक्ट  हो जाते है| पर आप घर बैठे कुछ आयुर्वेद तरीको को  इस्तेमाल कर के फेस पैक बना सकते है जिनके ना कोई साइड इफ़ेक्ट होते है और  ना ही महंगे होते है|

 

34. पेट दर्द का इलाज : पेट दर्द से जल्दी आराम  पाने के लिए बहुत से  लोग पैन किलर खाते है जिससे  दर्द में तो  आराम मिल जाता है पर पेट की प्रॉब्लम का सोल्युशन  नहीं होता| पेट की समस्या और दर्द से छुटकारा पाने के लिए हम कुछ घरेलू नुस्खे भी अपना सकते है|

 

35. सिर दर्द के घरेलू उपाय –

सिर दर्द के लिए पैन किलर की बजाय घरेलू उपाय करे तो माइग्रेन की समस्या का इलाज भी संभव है|

 

36. कान दर्द का उपाय : बड़ो को  या  छोटे बच्चो को  कान दर्द की शिकायत होने पर  सब से पहले दर्द का कारण मालूम करना  जरुरी है  क्यों की कई बार  हम कान दर्द का कारण नहीं समझ पाते और गलत ट्रीटमेंट करते रहते है| आइये जाने कान दर्द के उपचार के घरेलू नुस्खे|

 

37. आँखों के रोगो का सफल इलाज : अक्सर छोटी उम्र में ही बच्चो की आँखों पर चश्मा लग जाता है और कई बार हमारी आँखों में इन्फेक्शन या फिर खुजली होने लगती है| आँखों की रौशनी तेज करने और चश्मा हटाने के लिए हम कुछ उपाय अपना सकते है|

 

38. लेमन टी के बेनिफिट्स : रोजाना जो चाय हम पीते है अगर उसकी जगह हम नींबू की चाय पिए तो हमारे शरीर को कई तरह से फायदा हो सकता है| आइये जाने लेमन टी कैसे बनाये और कब पिए|

 

39. प्रेगनेंसी टिप्स फॉर नार्मल डिलीवरी : प्रेग्नेंट वूमेन को नार्मल और सेफ डिलीवरी के लिए चलते फिरते रहना चाहिए और बाबा रामदेव के कुछ योग आसान करने चाहिए , जिससे शरीर एक्टिव रहे और मासपेशियो को मजबूती मिले|

  • Pregnancy Tips For Normal Delivery in Hindi

 

40. होम रेमेडीज फॉर बैक पैन : कमर दर्द और स्लिप डिस्क से बचने और उपचार के लिए हम दादी माँ के नुस्खे अपना सकते है| 

 

41. गर्मी से बचने के उपाय : गर्मी और लू से बचने के लिए हम कोल्ड ड्रिंक पीने की बजाय घर पर बनाये कुछ एनर्जी ड्रिंक भी पी सकते है जो गर्मी और लू से बचाने के साथ साथ कई बीमारियों से भी दूर रखते है|

 

42. ग्रीन कॉफ़ी के फायदे : मोटापा कम करने के लिए आपने ग्रीन टी के बारे में तो सुना ही होगा पर अगर आप किसी कारणवश एक्सरसाइज और योग नहीं कर पा रहे है और अपने बढ़ते मोटापे से परेशान है तो आप ग्रीन कॉफ़ी का सेवन कर सकते है|

 

43. बॉडी कैसे बनाये : पुराने ज़माने में लोग अखाड़ों में जा कर कसरत करके और अपने खाने पीने का ध्यान रख कर बॉडी बनाते थे| अगर आप भी अछि और फिट बॉडी बनाना चाहते है और घर पर या किसी जिम में बॉडी बिल्डिंग वर्कआउट करते है तो जाने बाइसेप्स , चेस्ट का साइज बढ़ाने के लिए क्या करे और 6 पैक्स एब्स कैसे बनाये|

 

44. स्पाइनल कोर्ड इंजरी : लकवा और पोलियो के बारे में तो आप जानते होंगे , ये वो बीमारियाँ है जो बॉडी के अंगो को पैरालायसिस कर देता है| स्पाइनल कोर्ड इंजरी भी ऐसी ही समस्या है, इसमें जब रीढ़ की हड्डी पर चोट लगती है तब चोट के निचे वाला पूरा हिस्सा काम करना बंद कर देता है| स्पाइनल कोर्ड इंजरी (SCI) के कारण, ट्रीटमेंट , फिसिओथेरपी, रेहबलिटेशन और कॉम्प्लिकेशन जाने के लिए ये लेख पढ़े|

 

45. गुस्सा कम करने के उपाय : इंसान गुस्सा तभी करता है जब कोई काम उसके हिसाब से नहीं होता या फिर जब वो अपने दिमाग पर कंट्रोल खो दे| गुस्सा काम करना है तो पहले मन को काबू में रखना आना चाहिए|

 

46. बुखार का घरेलू इलाज : बुखार का इलाज उसके लक्षणों के आधार पर किया जाता है| अगर फीवर किसी इन्फेक्शन या वायरस से हुआ हो तो पहले ये जानना जरुरी है की ये वाइरल फीवर है या कुछ और|

 

47. होम रेमेडीज फॉर मलेरिया  : मलेरिया बुखार मच्छर के काटने से होता है| अगर मलेरिया से बचने के उपाय करने है तो घर और घर के आस पास मच्छर भागने के उपाय करे| मलेरिया का बुखार डेंगू, वायरल और स्वाइन फ्लू से किस तरह अलग है ये इसके लक्षण से पता कर सकते है|

 

48. स्वपनदोष का इलाज और उपाय : स्वपनदोष (Nightfall) एक मानसिक डिजीज है  और इसे रोकने के लिए हम मेडिसिन भी ले सकते है| पर अगर आप कुछ उपाय करे तो बिना किसी मेडिसिन के भी नाईटफॉल रोक सकते है|

 

49. भूख कम करने के उपाय : ज्यादा खाना खाना मोटापे का कारण बनता है| अगर आप  भी इस परेशानी से जूझ रहे है तो इसके उपाय करना शुरू कर दे और ये भी पता करे की आपको ज्यादा भूख लगने का क्या कारण है क्योंकि जब तक किसी समस्या के कारण नहीं मालूम हो तब तक उसका इलाज करना मुश्किल होता है|

 

50. नपुंसकता के उपाय : नपुंसकता (impotence) एक प्रकार की मर्दाना कमजोरी है और ये बीमारी बचपन में की हुई कुछ गलतियों की वजह से हो जाती है| अगर आपको इम्पोटेंस के लक्षण दिख रहे है तो घबराने की जरुरत नहीं कुछ होम रेमेडीज के प्रयोग से इसका इलाज किया जा सकता है|

 

51. बॉडी को डेटॉक्स कैसे करे : शरीर से फ्री रेडिकल्स बाहर निकालने की प्रकिया को ही बॉडी को डेटॉक्स करना कहते है| आज के समय में पोल्युशन और खाने की गलत आदतों की वजह से हमारे शरीर में बहुत सारे हानिकारक विषैले पदार्थ जमा हो जाते है जो बीमारियों का कारण बनते है|

 

52. पेट के कीड़े मारने के नुस्खे : पेट में कीड़े आंतो से चिपके हुए होते है, ये समस्या छोटे बच्चो में अधिक होती है जिनका उपचार सही समय पर करना बहुत जरुरी है नहीं तो ये बच्चे के शारीरिक विकास पर बुरा असर डाल सकते है|

 

53. गले में इन्फेक्शन और टॉन्सिल्स का इलाज : गले में कोई इफेक्शन हो गया हो जैसे खांसी, खराश, सूजन या फिर टॉन्सिल्स की समस्या हो, गले की सभी प्रकार की बीमारियों का उपाय कच्ची हल्दी के रस से किया जा सकता है| कुछ डॉक्टर्स टॉन्सिल्स के ट्रीटमेंट के लिए ऑपरेशन की सलाह देते है पर इस घरेलु नुस्खे के प्रयोग से बिना ऑपरेशन ही इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है|

 

54. पीरियड्स के घरेलू उपाय इन हिंदी : पीरियड्स जिसे हम मासिक धर्म और माहवारी भी कहते है गर्ल्स को होने वाली एक प्रॉब्लम है जो महीने में एक बार होती है| पीरियड्स के समय शरीर से गन्दगी बाहर निकलती है और इसमें बहुत पैन होता है, इसके इलावा भी बहुत परेशानियाँ होती है, जैसे पीरियड्स देर से आना या जल्दी आना| पीरियड्स को जल्दी लाने और रोकने के उपाय भी किये जा सकते है और दर्द को कम करने के लिए भी कुछ नुस्खे अपना सकते है|

 

55. पेट साफ़ करने के उपाय : पेट ठीक से साफ़ ना होना मतलब पेट में कब्ज़ होना जिससे मल त्यागने में परेशानी होती है और कई बार जोर लगाने पर भी पेट साफ़ नहीं हो पाता| कब्ज़ होने पर शरीर को दूसरी बीमारियाँ होने का भी खतरा रहता है| कुछ घरेलू उपाय करके हम पुरानी से पुरानी क़ब्ज़ को दूर कर सकते है |

 

56. लिकोरिया का इलाज इन हिंदी : लिकोरिया को श्वेत प्रदर , सफ़ेद पानी की समस्या  और व्हाइट डिस्चार्ज प्रॉब्लम के नाम से भी जानते है जो महिलाओ में होती है| ये समस्या गर्ल्स से लेकर मैरिड वूमेन तक किसी की भी हो सकती है, अगर सही समय पर इसका उपचार ना किया जाये तो इन्फेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है| कुछ घरेलू टिप्स फॉलो कर के इस बीमारी से जल्दी छुटकारा पा सकते है|

 

इस लेख में बताये हुए दादी माँ के नुस्खे से बहुत लोगो को बेनिफिट हुआ है| दोस्तों वैसे घरेलू नुस्खों  के  कोई नुक्सान नहीं होते फिर भी हम आपको यही सलाह देते है की आप इन होम रेमेडीज से ट्रीटमेंट  करने से पहले किसी डॉक्टर या आयुर्वेद वैद की सलाह जरूर ले|

 

 

हम आशा करते है की sehatdoctor के द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और जिस भी परेशानी के नुस्खे आपने पढ़ें है उस परेशानी में भी आपको आराम प्राप्त हुआ होगा| किसी भी अन्य बीमारी या परेशानी के लिए हेल्थ टिप्स इन हिंदी ( health tips in hindi ) और घरेलु नुस्खे इन हिंदी ( gharelu nuskhe in hindi ) जरूर पढ़ें और लाभ प्राप्त करें| आपका अनुभव कैसा रहा इसकी जानकारी कमेंट करके जरूर बताए |

Recent Articles

काले होठों को गुलाबी करने के 10 आसान उपाय व तरीके

होंठ गुलाबी करने के उपाय इन हिंदी: काले होंठ चेहरे की सुन्दरता को फीका कर देते है। लड़कियां अपने होंठों के कालेपन को दूर...

दांत में दर्द सड़न खून और कीड़े का इलाज 5 आसान उपाय इन हिंदी

Dant mein dard sadan aur kide ka ilaj: Danto ki sahi tarike se dekhbhal na karne se dant sadna, danto se khoon nikalna aur...

Gar Par Pregnancy Test Kab Aur Kaise Kare 5 Desi Nuskhe

Ghar par pregnancy test kaise kare in hindi: Vese to periods late hone ke aur bhi kai karan ho sakte hai par periods na...

18, 21 और 25 के बाद हाइट बढ़ाने का घरेलू उपाय

जल्दी लम्बाई कैसे बढ़ाये और हाइट बढ़ाने का घरेलू उपाय इन हिंदी: हाइट बढ़ाने के तरीके में अब तक हम ने एक्सरसाइज, योग और पतंजलि आयुर्वेदिक...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 5 =